तीन सौ साल पहले इन आविष्कार ने दे दी दुनियाभर के विज्ञान को चुनौती!

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लगभग तीन सौ साल पहले जब दुनिया के किसी देश के लिए समय की गन्ना और ग्रहों की चाल का पता करना लगभग असंभव था, उसी समय एक राजा ने कराया एक ऐसी ऐतिहासिक वेधशाला का निर्माण जो तब से लेकर आज तक ग्रहों की चाल और समय की सटीक गणना करता आ रहा है।
नोट: आगामी 18 अप्रैल को पूरी दुनिया वर्ल्ड हैरिटेज डे के रूप में सेलिब्रेट करती है, इस खास मौके को ध्यान में रखते हुए dainikbhaskar.com राजस्थान के ऐसी ऐतिहासिक विरासतों से रूबरू करवा रहा है जिन्हें विश्व विरासत की सूची में शामिल किया गया है।इस श्रृंखला की पहली कड़ी में आज हम आपको जयपुर स्थित जंतर-मंतर से जुड़े कुछ ऐसे रोचक तथ्य बता रहे हैं जिन्हें जानने के बाद आपको पता चलेगा कि क्यों पूरी दुनिया करती है इस विश्व विरासत को सलाम।
आगे की स्लाइड्स में जानिए क्यों जंतर-मंतर है पूरी दुनिया के लिए खास..