पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Disputed Roadways Recruitment Firm Will Only Test

विवादित फर्म ही कराएगी रोडवेज भर्ती परीक्षा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर.भर्ती परीक्षाओं में निजी फर्म की अनियमितताओं के बावजूद एक बार फिर रोडवेज प्रशासन उस पर मेहरबान है। पेपर आउट होने के बाद रद्द हुई चालक-परिचालक व आर्टिजन भर्ती परीक्षा फिर विवादित फर्म से ही कराने की तैयारी की जा रही है। रोडवेज ने परीक्षा की तिथि 9 दिसंबर घोषित की है। रोडवेज भर्ती परीक्षाएं दिल्ली की पीएचएस कंसल्टेंट द्वारा कराई जा रही है। पेपर आउट होने जैसी बड़ी गलती करने के बावजूद रोडवेज प्रशासन ने इस फर्म से अभी तक कोई पूछताछ करना भी उचित नहीं समझा। बल्कि 58 हजार अभ्यर्थियों का भविष्य फिर उसी फर्म के हवाले किया जा रहा है। इस फर्म की अनियमितताओं के कारण रोडवेज परीक्षाएं लगातार विवादों में रही है। दो साल पहले हुई चालक परिचालक भर्ती परीक्षा और इसके बाद रोडवेज अधिकारी भर्ती परीक्षा में कई प्रकार की खामियां सामने आ गई थी। यही नहीं वर्तमान में चल रही चालक परिचालक भर्ती परीक्षा में तो इस फर्म ने आवेदन फॉर्म का फॉर्मेट ही गलत जारी कर दिया था। इस कारण अविवाहित अभ्यर्थियों के फॉर्म बच्चों की संख्या नहीं बताए जाने के कारण रद्द कर दिए थे। कई अभ्यर्थियों के फॉर्म जमा ही नहीं किए तो कुछ के आवश्यक दस्तावेज होने के बावजूद फॉर्म रिजेक्ट कर दिए गए। ऐसे अभ्यर्थियों ने परीक्षा से पहले रोडवेज कार्यालय पर प्रदर्शन भी किया था। इसके अलावा परीक्षा केंद्र भी केटेगरी के अनुसार बनाकर नया विवाद खड़ा कर दिया था। रोडवेज सीएमडी डॉ. मनजीत सिंह का कहना है कि अगर दूसरी फर्म को जिम्मेदारी देते हैं तो परीक्षा में छह माह से अधिक देरी हो सकती है। फर्म का काम ठीक पाया गया। इस कारण 9 दिसंबर को होने वाली परीक्षा इसी फर्म से कराई जाएगी।