• Hindi News
  • The Door Is Now In The Hands Of The Department Of

बीएड कॉलेजों की डोर अब उच्च शिक्षा विभाग के हाथ में

10 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर.राज्य सरकार ने बीएड और एमएड शिक्षण विषय को कॉलेज शिक्षा के अधीन कर दिया है। फिलहाल यह स्कूली शिक्षा विभाग के क्षेत्राधिकार में था। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को इसकी मंजूरी दे दी। प्रदेश में करीब एक हजार बीएड-एमएड कॉलेज हैं। अब इन कॉलेजों की एनओसी सहित अन्य गतिविधियों पर उच्च शिक्षा विभाग का सीधा नियंत्रण होगा। अनुदानित बीएड और एमएड विषय के सभी व्याख्याता भी अब कॉलेज शिक्षा निदेशालय में उपस्थिति देंगे। बीएड-एमएड कॉलेजों को उच्च शिक्षा विभाग को सौंपे जाने को लेकर लंबे समय से विचार चल रहा था। पूर्व शिक्षामंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल के कार्यकाल में भी इस पर बहस हुई थी, लेकिन कई पेचिदगियों के चलते इसे स्थगित कर दिया गया था। उच्च शिक्षा मंत्री दयाराम परमार ने बताया कि बीएड-एमएड को कॉलेज शिक्षा के क्षेत्राधिकार में करने से विभाग की जिम्मेदारी बढ़ गई है। सरकार की ओर से विस्तृत दिशा-निर्देश मिलने के साथ ही इन्हें लागू कर दिया जाएगा।