पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Trick In Patwari And Teacher Recruitment

पटवारी व शिक्षक भर्तीः सचिवालय कर्मचारी निकला 'नटवरलाल'

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जयपुर.सचिवालय कर्मचारी द्वारा सैकंड ग्रेड टीचर तथा पटवारी भर्ती परीक्षा में पास कराने का झांसा देकर 16.50 लाख रु. हड़पने का मामला सामने आया है। आरोपी सचिवालय में शिक्षा लीगल सैल में कनिष्ठ लिपिक है। पीड़ितों ने गुरुवार को अशोक नगर थाने में उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस ने बताया कि गांव नंगला परसा (भरतपुर) निवासी भागीरथ प्रसाद ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि वह जून 2011 में सचिवालय के डीपीआर विभाग में किसी काम से गया था। कैंटीन में उसकी मुलाकात अभिषेक कुमार से हुई। उसने खुद को शिक्षा लीगल सैल में कनिष्ठ लिपिक बताया और भागीरथ से प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के बारे में पूछा।अभिषेक ने झांसा दिया कि उसके आरपीएससी में उच्च अधिकारियों से अच्छे संबंध हैं। वह उसे पटवारी भर्ती परीक्षा में पास करा देगा। भागीरथ के भरतपुर लौटने पर भी उसकी अभिषेक से बातचीत होती रही। जून माह में भागीरथ ने उसे 8 लाख रुपए दे दिए।





न पास कराया, न पैसे लौटाए





पुलिस ने बताया कि भागीरथ ने अपने परिचित नरेश कुमार की अभिषेक से मुलाकात कराई। तब उसने सैकंड ग्रेड टीचर परीक्षा में पास कराने की एवज में साढ़े 8 लाख रुपए मांगे। इस पर नरेश ने अपनी पत्नी व भाई की पत्नी को सैकंड ग्रेड परीक्षा में पास कराने की एवज में दिसंबर माह में साढ़े 8 लाख रुपए दे दिए। इसके बाद परीक्षा परिणाम आने पर पीड़ित व उनके परिजन परीक्षा में पास नहीं हुए। उन्होंने अभिषेक से रुपए लौटाने को कहा। तब वह टरकाने लगा। काफी दिनों तक रुपए नहीं मिलने पर भागीरथ ने अशोक नगर थाने पहुंचकर लिखित शिकायत दी। पुलिस का कहना है कि प्रारंभिक जांच में शिक्षा लीगल सैल में अभिषेक के छुट्टियों पर होने की बात सामने आई है। उससे व पीड़ितों से पूछताछ के बाद ही मामले की हकीकत सामने आ सकेगी।