पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Years In The Department Of Education Teacher Of Th

शिक्षा विभाग में वर्षो से जमे शिक्षक अब हिलेंगे!

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जयपुर.शिक्षा विभाग में इस बार जारी होने वाली तबादला सूचियां स्कूलों में अंगद बने शिक्षकों के लिए परेशानी खड़ी कर सकती हैं। बड़ी संख्या में ऐसे शिक्षक हैं जो 10 अथवा इससे ज्यादा सालों से एक स्कूल में जमे हैं। इनमें कई ऐसे हैं जो किसी भी स्तर पर जुगाड़ कर ऐसा करने में कामयाब रहे हैं। इसका खमियाजा उन शिक्षकों को उठाना पड़ रहा है जो दूर-दराज के क्षेत्रों में होने के बावजूद अपने पसंद के स्थान पर तबादला कराने में नाकाम रहते हैं। विभागीय स्तर पर फिलहाल पूर्व में तैयार ऐसे शिक्षकों की सूचियों को नए सिरे से अपडेट किया जा रहा है।

सरकार के तबादलों पर प्रतिबंध हटाने के साथ अन्य विभागों की तरह शिक्षा विभाग में तबादलों की तैयारी शुरू हो चुकी है। हालांकि स्पष्ट गाइड लाइन या नीति अभी जारी नहीं हो सकी है। अधिकारियों का कहना है कि उच्च स्तर पर मंजूरी के बाद जल्द ही इस संबंध में निर्देश जारी होंगे। विभाग सेवानिवृत्ति समय सीमा को ध्यान में रखते हुए अब ऐसे शिक्षकों को अन्य स्थानों पर भेज सकता है। शिक्षक संगठनों ने इस नीति का समर्थन किया है। 'तबादलों के संबंध में शिक्षा विभाग अगले सप्ताह दिशा-निर्देश जारी करेगा। तबादले मैरिट के आधार पर होंगे। गाइड लाइन को जल्द ही अंतिम रूप दिया जाएगा।'

-बृजकिशोर शर्मा, शिक्षामंत्री शुरू हुआ जनप्रतिनिधियों की मनुहार का दौर

अब मंत्रियों से लेकर प्रधान, जिलाप्रमुख, विधायक और अन्य जनप्रतिनिधियों की मनुहार का दौर शुरू हो गया है। जिन शिक्षकों को तबादलों की चिंता सता रही है वे भी जनप्रतिनिधियों के नजदीक आने लगे हैं। पंचायतीराज के करीब दो लाख शिक्षकों के तबादला अधिकार अब पंचायतीराज विभाग के पास आने से पंचायत समिति, जिला परिषदों में गहमागहमी बढ़ गई है।

गांवों में जाना चाहते हैं पुलिसकर्मी

पुलिस महकमे में उल्टी बयार चल रही है। अन्य विभागों में जहां कर्मचारी शहरों में जाने के लिए जोर लगा देते हैं वहीं पुलिस में गांवों में जाने में खासी दिलचस्पी है। इसके पीछे अहम वजह शहरी क्षेत्रों में पुलिसकर्मियों पर काम का बढ़ता बोझ बताया जा रहा है। चिकित्सा विभाग में भी तबादलों के लिए अब मंत्री के घरों पर भीड़ बढ़ने लगी है।

गर्म मौसम में अब तबादला टूरिज्म

गर्म मौसम के साथ ही अब अगले एक माह तक तबादला टूरिज्म का दौर चलेगा। राज्यभर से लोगों का जयपुर आना शुरू हो चुका है। यह मई के दूसरे पखवाड़े तक काफी तेज हो जाएगा।

डीईओ कार्यालय में तैयारी शुरू

जयपुर जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय (प्रारंभिक) ने तबादला प्रक्रिया के मद्देनजर तैयारी शुरू कर दी है। शुक्रवार को शहर के 500 शिक्षकों की वरीयता सूची शिक्षा संकुल में चस्पा की गई। सूची पर आपत्तियां मांगी गई हैं। किसी भी प्रकार की गलती होने पर शिक्षक 30 अप्रैल तक आपत्ति डीईओ कार्यालय में दे सकते हैं। डीईओ कार्यालय के अनुसार 31 दिसंबर, 11 के आधार पर वरीयता सूची बनाई है। शिक्षकों से आपत्ति नहीं मिलने पर मान लिया जाएगा कि सूची में कोई गलती नहीं है।

नीति से तबादले नहीं तो होगा भ्रष्टाचार

अखिल राजस्थान विद्यालय शिक्षक संघ ने शिक्षामंत्री को ज्ञापन देकर तबादला नीति से ही तबादले करने की मांग की। सरकार तीन सालों से इसकी घोषणा कर रही है, लेकिन अब तक कुछ नहीं किया गया। संघ के प्रदेशाध्यक्ष रामकृष्ण अग्रवाल ने कहा कि नीति के बिना तबादले होने से भ्रष्टाचार पनपेगा। राजस्थान शिक्षक संघ (सियाराम) ने भी नीति के बिना स्थानांतरण का विरोध किया।