• Hindi News
  • Teachers' Interest Is Attached To This News, So Pl

शिक्षकों के हित से जुड़ी है यह खबर, इसलिए पढ़ें ज़रा ध्यान से

10 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जैसलमेर/जोधपुर.माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की कक्षा 10 व 12 की परीक्षाओं में कम रिजल्ट देने वाले शिक्षकों व व्याख्याताओं के खिलाफ शिक्षा विभाग अब कड़ी कार्रवाई करने के मूड में है। अपने विषय में 30 प्रतिशत से कम रिजल्ट देने वाले अध्यापकों को 17सीसीए के तहत नोटिस थमाए जाएंगे। फिर भी अगर संबंधित अध्यापक अपने उच्चाधिकारी को कम रिजल्ट रहने के कारण से संतुष्ट नहीं कर पाते हैं तो उनका इंक्रीमेंट रोका जाएगा। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाओं में कक्षा 12वीं व 10वीं के परीक्षा परिणाम घोषित होने के बाद शिक्षा विभाग संबंधित स्कूलों के संस्था प्रधानों से परीक्षा परिणामों की जानकारी एकत्रित करने में जुटा है। जुलाई के प्रथम सप्ताह तक परीक्षा परिणाम की रिपोर्ट आने के बाद अलग-अलग स्तर पर शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की जानी प्रस्तावित है। जानकारी के अनुसार सेकंड ग्रेड के ऐसे शिक्षकों को डिप्टी डायरेक्टर जोधपुर, प्रथम श्रेणी के शिक्षकों को डायरेक्टर बीकानेर व तृतीय श्रेणी के शिक्षकों को जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक से नोटिस जारी होंगे। रिजल्ट बेहतर तो सम्मान भी मिलेगा माध्यमिक शिक्षा बोर्ड परीक्षा में अच्छा रिजल्ट देने वाले शिक्षकों को शिक्षा विभाग सम्मानित भी करेगा। बोर्ड परीक्षा परिणाम 80 फीसदी से अधिक रहने पर संबंधित स्कूलों के शिक्षकों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा। 'बोर्ड परीक्षाओं का संतोषजनक रिजल्ट नहीं देने वाले शिक्षकों के खिलाफ अलग-अलग स्तर पर कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए स्कूलों से परिणाम संबंधित जानकारी मांगी गई है।' के.पी.सिंह, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक