• Hindi News
  • बारिश ने किया परेशान, तेज अंधड़ ने उड़ाए होर्डिंग्स, बैनर, झोंपड़े

बारिश ने किया परेशान, तेज अंधड़ ने उड़ाए होर्डिंग्स, बैनर, झोंपड़े

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नागौर . गुरुवार को शुरू हुआ अंधड़ और बारिश का दौर लगभग पूरी रात चला। शुक्रवार को भी दोपहर तक तो बादलों ने सूर्य भगवान को ढके रखा। कहीं रिमझिम तो कहीं तेज बारिश ने वैशाख महीने में दो दिन से सावन जैसा रंग दिखा दिया। नागौर शहर में तो रात करीब साढ़े ग्यारह बजे से शुरू हुआ बारिश का दौर आधी रात के बाद करीब तीन बजे तक चला।

इससे कई जगह पानी भर गया। चुनाव के बाद इवीएम लेकर नागौर पहुंचे मतदान दलों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। गल्र्स कॉलेज में अनेक जगह पानी भर गया। उधर कुचामन, डीडवाना, मकराना, नावां, मेड़ता, नावां, लाडनूं, मींडा, दयालपुरा, शेरानी आबाद सहित अनेक गांवों, कस्बों में कहीं हल्की तो कहीं तेज बारिश हुई।

जीलिया में मकान में आई दरारें, बिजली फिटिंंग जली

कुचामन सिटी. शहर के समीपवर्ती जिलिया में शुक्रवार को आकाशीय बिजली के प्रभाव से एक मकान में दरारें पड़ गई व बिजली फिटिंग जल गई। मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को क्षेत्र में तेज अंधड़ के साथ हुई बरसात के दौरान जोरदार कड़की बिजली से नवल किशोर जगदीश प्रसाद पारीक के मकान के प्रथम तल पर बने कमरे में दरारें पड़ गई। बिजली फिटिंग के साथ उपकरण जल गए। कमरे के फर्श के साथ दीवारों में आई लंबी दरारों से उसके गिरने का खतरा उत्पन्न हो गया। शहर में बदले मौसम का प्रभाव चारों ओर दिखाई दिया। आसमान कभी काले बादलों से आच्छादित नजर आया तो कभी चिलचिलाती धूप।

तेज धूलभरी आंधियां भी असर दिखा रही हैं। शहर में गुरुवार की देर रात आंधी से लोगों के काफी नुकसान हुआ। आंधी के दौरान हवा के वेग से सड़कों पर लगे होर्डिंग, बैनर तिनके की तरह उडऩे लगे। खेतों में रखा चारा, फसल के बचाव के लिए लगाए तिरपाल, कच्चे झोपड़ों को भी नुकसान हुआ। रात में लगभग तीन घंटे तक रहे आंधी के प्रभाव ने जनजीवन को प्रभावित किया हैं। आंधी के साथ हुई बरसात से मौसम में तरावट घुल गई। शुक्रवार को दिन में आसमान में बादलों व सूरज के बीच आंख मिचौनी चलती रही। दोपहर तक बादलों ने सूरज को पूरी तरह ढके रखा। बाद में नजर आए सूरज ने वातावरण को गर्म करने में कसर नहीं छोड़ी।