प्रदेश के 61 श्रेष्ठ स्कूल होंगे पुरस्कृत

10 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अजमेर. राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा प्रदेश के श्रेष्ठ 61 राजकीय विद्यालयों को पुरस्कृत किया जाएगा। बोर्ड द्वारा इन विद्यालयों को 17 लाख 70 हजार रुपए नकद राशि और श्रेष्ठता प्रमाण पत्र प्रदान किए जाएंगे।
बोर्ड परिसर स्थित राजीव गांधी सभागार में 8 फरवरी को यह समारोह आयोजित होगा। समारोह के मुख्य अतिथि शिक्षा मंत्री बृज किशोर शर्मा होंगे और अध्यक्षता शिक्षा राज्यमंत्री नसीम अख्तर इंसाफ करेंगी।
बोर्ड अध्यक्ष डॉ सुभाष गर्ग के मुताबिक शुक्रवार को 2 बजे से यह समारोह शुरू होगा। पुरस्कारों के लिए राज्य स्तर पर एक सेकंडरी एवं एक सीनियर सेकंडरी विद्यालय का चयन किया गया है। इन प्रत्येक विद्यालय को 50 हजार रुपए की पुरस्कार राशि दी जाएगी। राज्य स्तर पर सेकंडरी में राजकीय माध्यमिक विद्यालय ईग्यासनी, जिला नागौर और सीनियर सेकंडरी में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय 40 जी बी जिला गंगानगर का चयन किया गया है।
मंडल स्तर पर चयनित विद्यालय
मंडल स्तर पर सेकंडरी के छह और सीनियर सेकंडरी के सात विद्यालयों का चयन किया गया है। जिन्हें प्रत्येक को 40 हजार रुपए की पुरस्कार राशि दी जाएगी।
सेकंडरी स्तर पर ये विद्यालय हैं
जयपुर मंडल में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय (नव क्रमोन्नत) सबलपुरा जिला सीकर, चूरू मंडल में राजकीय माध्यमिक विद्यालय डूमरा जिला झुंझुनूं, जोधपुर मंडल में राजकीय माध्यमिक विद्यालय हमीरा, जिला जैसलमेर, कोटा मंडल में राजकीय माध्यमिक विद्यालय ठीकरदा, जिला बूंदी, अजमेर मंडल में राजकीय माध्यमिक विद्यालय लेबर कॉलोनी, भीलवाड़ा तथा उदयपुर मंडल में राजकीय माध्यमिक विद्यालय बदराणा (उदयपुर)।
सीनियर सेकंडरी स्कूल
जयपुर मंडल में राजकीय बालिका उच्च मा. विद्यालय, मालवीय नगर जयपुर, चूरू मंडल में राजकीय बालिका उच्च मा. विद्यालय हेतमसर जिला झुंझुनूं, जोधपुर मंडल में राजकीय बालिया बालिका उच्च मा. विद्यालय पाली, कोटा मंडल में राजकीय बालिका उच्च मा. विद्यालय, तलवंडी, कोटा, अजमेर मंडल में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय जारोड़ा जिला नागौर, उदयपुर मंडल में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय जेठाणा जिला डूंगरपुर, भरतपुर मंडल में राजकीय उच्च मा. विद्यालय मनिया जिला धौलपुर।
पुरस्कार का ध्येय
बोर्ड का ध्येय है कि विद्यालय वर्तमान में केवल शिक्षा देने तक ही सीमित न रहे बल्कि विद्यार्थी के सर्वागीण विकास में महत्ती भूमिका निभाएं। इस पुरस्कार के लिए विद्यालयों के चयन का मुख्य आधार विद्यालयों का बोर्ड परीक्षा परिणाम, गुणात्मक परीक्षा परिणाम, विभिन्न योजनाओं हेतु आवंटित बजट एवं छात्र निधि का समुचित उपयोग, खेलकूद गतिविधियों में विद्यार्थियों का राष्ट्रीय, राज्य एवं जिला स्तर पर सम्भागित्व, साहित्यक और सांस्कृतिक गतिविधियों में विद्यालय का प्रतिनिधित्व शाला स्तर पर, विद्यालय स्तर पर कम्प्यूटर का शिक्षण कार्यो में उपयोग, जन-सहयोग से विद्यालय के अन्तर्गत विकास कार्य तथा अन्य नवाचारों का अंगीकार किया जाना प्रमुख है। इन पुरस्कारों के लिये केवल राजकीय सीनियर सेकंडरी और सेकंडरी विद्यालयों को ही आधार माना गया है।
इन कार्यो में हो सकेगा उपयोग: चयनित विद्यालय पुरस्कृत राशि का उपयोग विद्यालय विकास तथा अध्यापक प्रोत्साहन के रूप में विभाजित करते हुए करेंगे। पुरस्कार राशि का 60 प्रतिशत राशि का उपयोग विद्यालय के शैक्षणिक स्तर का समुन्नत करने यथा पुस्तकें, प्रयोगशाला उपकरण, सहायक शैक्षिक सामग्री आदि के क्रय के लिये किया जायेगा। शेष 40 प्रतिशत में से 20 प्रतिशत संस्था प्रधान को तथा 70 प्रतिशत राशि अध्यापकगण एवं शेष 10 प्रतिशत राशि मंत्रालयिक कर्मचारी एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी को देय होगा।
जिला स्तर पर सेकंडरी स्कूल
जिला स्तर पर प्रत्येक सीनियर सैंकडरी व सैंडकरी स्कूलों को 25-25 हजार रुपए दिए जाएंगे।
सेकंडरी विद्यालय: जिला स्तर पर सेकंडरी के जयपुर में राजकीय माध्यमिक विद्यालय मेंदवास, अलवर में राजकीय मा. विद्यालय मोहम्मदपुर, चूरू में राजकीय माध्यमिक विद्यालय मूंदीताल, झुंझुनूं में राजकीय माध्यमिक विद्यालय बीबासर, जोधपुर में श्रीमती गोमा देवी गहलोत राजकीय बालिका माध्यमिक विद्यालय कालीबेरी, जालौर में राजकीय मा. विद्यालय पादरली, सिरोही में राजकीय मा. विद्यालय पाड़ीव, कोटा में राजकीय बालिका मा. विद्यालय कोटड़ी गोरधनपुरा, बूंदी में राजकीय मा. विद्यालय सहणा, बारां में राजकीय मा. विद्यालय पाठेड़ा, झालावाड़ में महारानी बृजकंवर राजकीय बालिका मा. विद्यालय, अजमेर में राजकीय बालिका मा. विद्यालय लोहाखान, नागौर में राजकीय मा. विद्यालय नोखा चांदावतां, भीलवाड़ा में राजकीय मा. विद्यालय आटूण, टोंक में राजकीय मा. विद्यालय अविकानगर, उदयपुर में राजकीय बालिका मा. विद्यालय गरीबनगर, चित्तौडगढ़ मे राजकीय मा. विद्यालय ऐराल, बांसवाड़ा में राजकीय बालिका मावि., नई आबादी, राजसमंद में राजकीय बालिका मा. विद्यालय कुरज, डूंगरपुर में राजकीय मा. विद्यालय राणौली और सवाई माधोपुर में राजकीय मा. विद्यालय करमोदा का चयन किया गया है।
जिला स्तर के सीनियर सेकंडरी स्कूल
जिला स्तर पर सीनियर सेकंडरी के जयपुर में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बीलवाड़ी, अलवर में राजकीय उच्च मा. विद्यालय मुंडावरा, सीकर में राजकीय उच्च मा. विद्यालय सिंहासन, दौसा में राजकीय उच्च मा. विद्यालय भांडारेज, चूरू में राजकीय उच्च मा. विद्यालय लोहा, झुंझुनूं में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सोटवारा, हनुमानगढ़ में राजकीय बालिका उच्च मा. विद्यालय गोलूवाला, श्रीगंगानगर में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय ख्यालीवाला, बीकानेर में राजकीय उच्च मा. विद्यालय बरसिंगसर, जालौर में राजकीय उच्च मा. विद्यालय सांकरना, सिरोही में राजकीय बालिका उच्च मा. विद्यालय सरूपगंज, पाली में राजकीय उच्च मा. विद्यालय बाबरा, कोटा में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय दादाबाड़ी, बूंदी में राजकीय उच्च मा. विद्यालय देहित, बारां में बृजमोहन विजय राजकीय बालिका उच्च मा. विद्यालय मांगरोल, झालावाड़ में राजकीय उच्च मा. विद्यालय, डूंगरगांव, अजमेर में राजकीय बालिका उच्च मा. विद्यालय, आदर्श नगर, नागौर में राजकीय उच्च मा. विद्यालय परबतसर, भीलवाड़ा में राजकीय उच्च मा. विद्यालय हुरड़ा, टोंक में राजकीय उच्च मा. विद्यालय देवली, उदयपुर में राजकीय बालिका उच्च मा. विद्यालय भूपालपुरा, चित्तौड़गढ़ में राजकीय बालिका उच्च मा. विद्यालय बूढ़, राजसमंद में राजकीय महाराजा प्रताप उच्च मा. विद्यालय खमनोर, धौलपुर में राजकीय उच्च मा. विद्यालय मांगरोल, और सवाई माधोपुर में राजकीय बालिका उच्च मा. विद्यालय मानटाउन का चयन किया गया है।