पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Form RTET Case Considered By The Board Before The

RTET पर्चा मामला: बोर्ड ने माना परीक्षा से पहले बाजार में आया पर्चा!

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अजमेर. माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (आरटेट) के पर्चा प्रकरण की गोपनीय रिपोर्ट राज्य सरकार को भेज दी है। अब सरकार इस मामले में अंतिम निर्णय करेगा। बोर्ड की ओर से गठित जांच कमेटी के अध्यक्ष व बोर्ड के विशेषाधिकारी (परीक्षा) पीसी जैन और उपनिदेशक (गोपनीय) जीके माथुर ने लगभग 10 दिन में जांच पूरी कर बोर्ड प्रबंधन को सौंप दी है। सूत्रों का कहना है कि बोर्ड ने यह तो मान लिया कि आरटेट द्वितीय सत्र की परीक्षा का पेपर परीक्षा शुरू होने से पहले ही बाजार में आ गया था लेकिन इसका फैलाव अधिक नहीं हो पाया है। बोर्ड के सूत्र रिपोर्ट को सार्वजनिक करने से कतरा रहे हैं। प्रबंधन अब भी सार्वजनिक नहीं कर रहा है कि बाजार में आए पेपर में और बोर्ड की ओर से अभ्यर्थियों को दिए गए प्रश्न पुस्तिका में से कितने प्रश्न समान हैं। सभी खंडों के प्रश्न मिल रहे हैं या नहीं। गौरतलब है कि 9 सितंबर को आयोजित आरटेट-12 के द्वितीय सत्र का पेपर मेड़ता सिटी और अन्य स्थानों पर परीक्षा शुरू होने से पूर्व ही बाजार में आ गया था। इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई कर 11 लोगों को पकड़ा था। इस मामले में पुलिस अलग से जांच कर रही है। पुलिस की रिपोर्ट को भी इस मामले में अहम माना जा रहा है। मेड़ता भी होकर आई थी टीम : सूत्रों के मुताबिक आरटेट पर्चा प्रकरण की जांच करने वाली टीम मेड़ता भी गई थी। अफसरों से जानकारी जुटाई थी। साथ ही बाजार में आए पेपर के अंश भी साक्ष्य के रूप में साथ लेकर आई थी। प्रबंधन को दी रिपोर्ट 'जांच कमेटी ने रिपोर्ट तैयार कर बोर्ड प्रबंधन को सौंप दी है। अब इस मामले में प्रबंधन व राज्य सरकार को ही कोई निर्णय लेना है।' पीसी जैन विशेषाधिकारी(परीक्षा) व जांच कमेटी अध्यक्ष सरकार करेगी फैसला 'जांच कमेटी से मिली गोपनीय रिपोर्ट राज्य सरकार को भिजवाई गई है। सरकार के मार्गदर्शन के बाद आगे की कार्रवाई होगी।' मिरजूराम शर्मा समन्वयक आरटेट व सचिव, राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड