• Hindi News
  • Patwari Exam Was The Correct Answer Key Public

पटवारी परीक्षा की सही उत्तर कुंजी हुई सार्वजनिक

10 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अजमेर.पटवारी परीक्षा परिणाम में हुई गड़बड़ियों को लेकर हाईकोर्ट के निर्देश और अभ्यर्थियों की शिकायत के बाद राजस्व मंडल प्रशासन ने सोमवार को संशोधित उत्तर कुंजी (आंसर की) सार्वजनिक कर दी है। यह उत्तर कुंजी राजस्व मंडल और सभी जिला कलेक्टर्स की वेबसाइट पर सोमवार को उपलब्ध करा दी गई है। मंडल प्रशासन का कहना है कि जरूरी हुआ तो पूरा संशोधित परिणाम जारी किया जाएगा। इसके साथ ही राजस्व मंडल की ओर से जारी सूचना में कहा गया है कि अगर किसी अभ्यर्थी को उत्तर कुंजी के उत्तर पर आपत्ति हो तो सप्रमाण अपना अभ्यावेदन या अर्जी, 16 मार्च सांय छह बजे तक संबंधित जिला कलेक्ट्रेट या राजस्व मंडल में प्रस्तुत कर सकते हैं। यानी हरेक अभ्यर्थी को पहले तो यह मालूम करना होगा कि उसके कौनसे ऐसे उत्तर है जो सही होने के बावजूद गलत करार दिए गए हैं और इसके बाद उसे इसमें सुधार के लिए अर्जी देनी पड़ेगी। मंडल सचिव की ओर से जारी प्रेस नोट में कहा गया है कि अभ्यर्थी को उत्तर भिन्न होने के कारण व प्रमाण प्रस्तुत करने होंगे। जारी सूचना के अनुसार पटवार प्रतियोगी परीक्षा 2011 के परीक्षा परिणाम के संबंध में हाईकोर्ट से प्राप्त आदेश और याचिकाकर्ताओं के अभ्यावेदन व परीक्षार्थियों से प्राप्त प्रार्थना पत्रों को दृष्टिगत रखते हुए उक्त प्रतियोगिता परीक्षा के राज्य के समस्त प्रश्नों के उत्तरों की एक उच्च स्तरीय विशेषज्ञ समिति से पुनर्जाच करवाई गई थी। इस उच्च स्तरीय समिति ने राज्य के समस्त जिलों के समस्त प्रश्नों के उत्तरों की गहन जांच कर सही उत्तर की संशोधित कुंजी बनाई है। इस संशोधित उत्तर कुंजी को मंडल व कलेक्टर्स की वेबसाइट पर प्रदर्शित किया गया है। गौरतलब है कि 2363 पद के लिए 25 सितंबर 2011 को हुई इस सीधी भर्ती पटवार प्रतियोगिता में करीब पौने सात लाख अभ्यर्थी शामिल हुए थे। नवंबर में परिणाम जारी हुआ था उसके बाद प्रश्नों व परिणाम में गड़बड़ियों की शिकायतें आना शुरू हो गया था। हाईकोर्ट में भी कई याचिकाएं दायर हुई और इसके बाद मंडल प्रशासन ने विशेषज्ञ समिति गठित कर विवादित प्रश्नों व उत्तरों की जांच कराई थी। राजस्व मंडल ने टाली बला! भारी गड़बड़िया सामने आने के बावजूद राजस्व मंडल प्रशासन ने स्वयं के स्तर पर परीक्षा परिणाम को संशोधित कर जारी करने की बजाए अभ्यर्थियों पर ही जिम्मेदारी डाल दी है। यानी जिन अभ्यर्थियों के साथ अन्याय हुआ है, अब उनको ही यह बताना होगा कि उनकी उत्तर पुस्तिका में कौनसा प्रश्न था और उसका उन्होंने जो उत्तर दिया वह सही था व उत्तर कुंजी गलत है। यहां यह महत्वपूर्ण है कि इस परीक्षा की प्रश्न पुस्तिका अभ्यर्थियों को परीक्षा के बाद नहीं दी गई थी। प्रश्न पुस्तिकाएं परीक्षा केंद्र में ही रखी गई थी। अब अभ्यर्थी को अपने प्रश्न जांचने के लिए सूचना के अधिकार के तहत पहले प्रश्न पुस्तिका की नकल लेनी होगी क्योंकि सभी जिलों में अलग-अलग प्रश्न पुस्तिकाएं थी। जो अभ्यर्थी सूचना के अधिकार के तहत अपनी प्रश्न और उत्तर पुस्तिका लेते हैं वहीं आवेदन कर पाने की स्थिति में होंगे। इस संबंध में राजस्व मंडल प्रशासन का कहना है कि गलत प्रश्नों को लेकर लगातार अभ्यावेदन मिल रहे हैं, इसलिए उत्तर कुंजी सार्वजनिक कर अभ्यावेदन की अंतिम तिथि 16 मार्च तक की गई है। लेकिन इसका यह अर्थ नहीं है कि जो अभ्यर्थी आवेदन करेंगे उनका ही परिणाम संशोधित होगा। संशोधित उत्तर कुंजी के अनुसार परिणाम संशोधित किया जाएगा। ‘संशोधित उत्तर कुंजी जारी कर दी है। अभ्यर्थियों से आवेदन देने को कहा गया है, इनकी जांच कर संशोधित परिणाम आवश्यकतानुसार जारी किया जाएगा।’ मीनाक्षी हूजा, अध्यक्ष राजस्व मंडल राजस्थान