• Hindi News
  • Principal Test Answer Key Controversies!

प्रधानाध्यापक परीक्षा उत्तर कुंजी भी विवादों में!

10 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

अजमेर.राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा जारी की गई प्रधानाध्यापक (माध्यमिक शिक्षा) भर्ती परीक्षा की मॉडल उत्तर कुंजी विवादों में घिरती नजर आ रही है। अब अभ्यर्थी आयोग द्वारा डिलीट किए गए प्रश्नों पर सवाल खड़े करते हुए स्वतंत्र रूप से जांच कराकर संशोधित उत्तर कुंजी की डिमांड कर रहे हैं।

आयोग ने 9 अक्टूबर को आंसर-की जारी कर 15 अक्टूबर तक आपत्तियां मांगी थीं। अभ्यर्थियों ने इस आंसर-की में कुछ सही सवालों को डिलीट करने और गलत प्रश्नों को सही मानने पर नाराजगी व्यक्त की है। अभ्यर्थी हनुमान चौधरी का कहना है कि दोनों पेपरों में 300 प्रश्न पूछे गए। इनमें से 60 से अधिक प्रश्न अब भी विवादित हैं। आयोग द्वारा जारी उत्तर कुंजी में अनेक विसंगतियां हैं।


कल होगी बैठक, रणनीति होगी तय :

चौधरी ने अजमेर समेत प्रदेशभर में प्रधानाध्यापक भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थियों को एसएमएस कर 24 अक्टूबर को जोधपुर में बुलाई जा रही बैठक की जानकारी दी है। इस बैठक में ही अभ्यर्थी अगली रणनीति तय करेंगे।

चौधरी के मुताबिक मिर्च में उत्पन्न जलन का कारण है, प्रश्न के विकल्प लाइकोपिन को सही माना है, जबकि यह टमाटर में होता है। मिर्च में केप्सीसिन होता है। आयोग ने इस प्रश्न के उत्तर को गलत होते हुए भी सही मान लिया है।

राजस्थान पाठ्य पुस्तक मंडल के गठन से संबंधित प्रश्न पर आयोग के निर्णय पर भी अभ्यर्थियों ने सवाल खड़े किए हैं। चौधरी का कहना है कि दोनों पेपरों में 300 प्रश्न पूछे गए। इनमें से 60 से अधिक प्रश्न अब भी विवादित हैं।

अभ्यर्थी रियाजुद्दीन के मुताबिक आंसर-की पर लगभग डेढ़ हजार आपत्तियां आ चुकी हैं। जबकि आयोग ने ट्रिपल रिफाइंड कर इस आंसर की को जारी किया था।

आयोग ने जिन सही सवालों को गलत करार दे दिया है उससे अनेक अभ्यर्थियों के भविष्य अंधकार में हो गए हैं। पाली के अभ्यर्थी सुनील उदावत का आरोप है कि आयोग द्वारा डिलीट किए गए सवालों में से उसके 18 सही है। अब उसके भविष्य का क्या होगा।