• Hindi News
  • RTET: Duty Of An Hour Before The Lottery System Wi

RTET : एक घंटे पहले लॉटरी सिस्टम से लगेगी वीक्षकों की ड्यूटी

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सीकर.नौ सितंबर को हो रही RTET में नकल और सेंटर से पेपर बाहर आकर फोटोकॉपी होने के डर के आगे माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने नया हथियार बनाया है। परीक्षा के दिन परीक्षा सेंटर के बाहर की फोटो स्टेट व साइबर कैफे पर पुलिसकर्मियों की कड़ी निगाहें रहेगी। जरूरत पड़ने पर इनकी भी वीडियोग्राफी कराई जाएगी। वहीं कोचिंग सेंटर व हॉस्टलों पर निगरानी रहेगी, इनमें अन्य लोगों को आने-जाने नहीं दिया जाएगा। वहीं जिन स्कूलों की कोचिंग चल रही है, उन्हें उस दिन बंद रखा जाएगा। वहीं स्कूलों के इंटरनेट कनेक्शन, फैक्स मशीन, फोटो स्टेट मशीन को परीक्षा से दो घंटे पहले माइक्रो ऑब्जर्वर की ओर से सीलबंद करने के निर्देश दिए गए हैं। बोर्ड परीक्षा प्रणाली पर कोई सवाल नहीं उठने देना चाहता। बोर्ड से मिली जानकारी के अनुसार, परीक्षा के ठीक एक दिन पहले निजी स्कूलों के छात्रावासों, कोचिंग सेंटरों पर निगरानी रहेगी। इसके लिए पुलिस की मदद भी ली जाएगी। गौरतलब है कि अधिकांश निजी स्कूलों में छात्रावास संचालित हैं। परीक्षा में कड़ी निगाहें > हर चार परीक्षा केंद्र पर एक फ्लाइंग टीम गठित होगी, जिसमें आरएएस, पुलिस अधिकारी, डीईओ स्तर का अधिकारी शामिल होगा। > हर केंद्र पर माइक्रो ऑब्जर्वर तैनात किया जाएगा। > वीक्षकों को पहचान पत्र दिए जाएंगे। इनके बगैर वे परीक्षा केंद्र में प्रवेश नहीं कर पाएंगे। > हर परीक्षा केंद्र की मिनट टू मिनट की वीडियोग्राफी होगी। प्रश्न-पत्र खोलते वक्त भी कैमरे की नजर रखी जाएगी। > हर केंद्र पर दो पुलिसकर्मी व दो होम गार्ड की नियुक्त किए जाएंगे। परीक्षा से एक घंटे पहले लॉटरी से लगेंगे वीक्षक वीक्षकों की ड्यूटी परीक्षा से एक घंटे पहले लॉटरी सिस्टम के जरिए लगाई जाएगी। अभी सिर्फ वीक्षकों की नियुक्ति की जा रही है। वे कौनसी रूम में होंगे, इसका फैसला एक घंटे पहले लॉटरी सिस्टम से किया जाएगा। निजी स्कूल संचालक और प्रिंसिपल भी टेट की दौड़ में RTET एग्जाम में जिले के कई निजी स्कूलों के शिक्षक, निदेशक व प्रिंसिपल भी भाग्य आजमा रहे हैं। अगले साल 20 हजार पदों के लिए होनी वाली ग्रेड थर्ड शिक्षक भर्ती परीक्षा की दौड़ में लगे हैं। कुछ ने तो केंद्राधीक्षक की नियुक्ति ही कटवा ली है। खास बात यह है कि बड़ी निजी शिक्षण संस्थाओं के प्रिंसिपल भी टेट की तैयारी में जुटे हैं। फतेहपुर, रींगस, तासरबड़ी, सीकर और नीमकाथाना के कई स्कूलों के प्रिंसिपल और कुछ स्कूलों के निदेशक परीक्षा की तैयारियों में व्यस्त है। इन्होंने स्कूलों से छुट्टी भी ले रखी है। हर एग्जाम रूम में दो वीक्षकों की रहेगी ड्यूटी : टेट परीक्षा में किसी भी गड़बड़ी को रोकने के लिए कड़े कदम उठाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है। हर परीक्षा केंद्र के प्रत्येक एग्जाम रूम में दो वीक्षकों की ड्यूटी लगाई जाएगी। शिक्षा विभाग के अनुसार, 24 विद्यार्थियों से कम संख्या पर भी दो वीक्षक लगाए जाएंगे। इसके अलावा निजी स्कूलों में केंद्राधीक्षक, ऑब्जर्वर के साथ एक अतिरिक्त केंद्राधीक्षक और लगाया जाएगा। जबकि सरकारी स्कूलों में बनाए गए सेंटर पर केंद्राधीक्षक व ऑब्जर्वर ही लगाया जाएगा।