• Hindi News
  • Teachers Recruited 74 Women At The Office

शिक्षक भर्ती में कम हुए महिलाओं के 74 पद

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अजमेर. प्रदेश के स्कूलों में विज्ञान विषय के द्वितीय श्रेणी शिक्षक भर्ती में 74 शिक्षिकाएं कम भर्ती होंगे। ये सभी अभ्यर्थी सामान्य महिला वर्ग के हैं। यह खुलासा सूचना के अधिकार के तहत राजस्थान लोक सेवा आयोग से मांगी गई जानकारी में हुआ। माध्यमिक शिक्षा विभाग के वर्गीकरण को इसका जिम्मेदार बताया जा रहा है। विभाग ने आयोग के माध्यम से द्वितीय श्रेणी शिक्षक भर्ती परीक्षा में विज्ञान विषय के करीब 2 हजार पदों पर भर्ती के लिए आवेदन मांगे। इनमें सामान्य महिलाओं के पदों की संख्या 299 थी। लेकिन आयोग ने इस विषय का परिणाम घोषित किया तो सामान्य महिला वर्ग के 225 पदों के लिए अभ्यर्थियों को पात्र घोषित किया गया। आयोग ने इनकी नियुक्ति की सिफारिश भी विभाग को भेज दी है। आयोग सूत्रों का कहना है कि विभाग की ओर से विज्ञान विषय में वर्गीकरण सही नहीं किए जाने का खामियाजा 74 शिक्षिकाओं की कम भर्ती के रूप में सामने आया। इस परिणाम से खफा एक अभ्यर्थी ने आयोग से सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत जानकारी मांगी कि सामान्य महिला वर्ग के कितने पद थे। इस पर आयोग ने जानकारी दी कि विभाग की ओर से पहले 299 पदों पर भर्ती के लिए कहा गया। इसके बाद विभाग ने आयोग को जानकारी दी कि सामान्य महिला वर्ग के लिए 225 पद ही आरक्षित रहे हैं। आयोग ने इसी हिसाब से परीक्षा ली और परिणाम घोषित कर दिया। कॉमर्स में भी गड़बड़ाया था संतुलन ग्रेड सेकंड अध्यापक भर्ती परीक्षा (कॉमर्स) विषय में भी वर्गीकरण संतुलन गड़बड़ाया था। शिक्षा विभाग की लापरवाही के चलते ही 134 पदों पर अभ्यर्थियों की नियुक्ति नहीं हो पाई थी। आयोग ने इस विषय में भी वर्गीकरण में लापरवाही की थी। आयोग ने कॉमर्स के भी 268 पदों का ही परिणाम घोषित किया था। हमारा भी नंबर आ जाता आयोग की ओर से घोषित विज्ञान विषय के परिणाम में विभिन्न वर्ग के अभ्यर्थी वेटिंग लिस्ट में हैं। इमनें सामान्य महिला वर्ग की वेटिंग लिस्ट में शामिल कई अभ्यर्थी इस आशा में हैं कि अगर पद 299 ही रहते तो उनका नंबर भी नौकरी में आ सकता है।
Related Articles:
ग्रेड सेकण्ड शिक्षक भर्ती: RPSC ने शिक्षा विभाग को नियुक्ति सिफारिश भेजी