• Hindi News
  • Gudia Rape Case : Rape Victim Is Recovering Fast

गुड़िया से दरिंदगी: आरोपी ने माना, बड़ी गलती हुई, भाई बोला- सरेआम फांसी पर लटका दो

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली। राजधानी में पांच साल की 'गुडिया' के साथ रेप की वारदात में सनसनीखेज खुलासा हुआ है। जांच टीम को इस वारदात में तीसरे व्यक्ति के शामिल होने की बात बताकर दूसरे आरोपी प्रदीप ने पुलिस की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। जांच टीम अब तीसरे व्यक्ति की भी तलाश कर रही है। इस बारे में पुलिस का कहना है कि प्रदीप बार-बार अपना बयान बदल रहा है इसलिए उसने अब प्रदीप के बयान का वीडियोग्राफी करने का निर्णय लिया है। जांच टीम कह रही है कि प्रदीप झूठ कह रहा है या सच यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा। लेकिन पुलिस अधिकारियों को उसकी बातों पर भरोसा कम ही हो रहा है। दिल्‍ली पुलिस के डीसीपी (ईस्‍ट) ने बताया कि मनोज और प्रदीप के खिलाफ गैंग रेप का केस दर्ज कर लिया है। प्रदीप को 4 मई तक की न्‍यायिक हिरासत में ले लिया गया है। (सड़कों पर घूम रहे हैं एक लाख बलात्कारी)
सूत्रों के अनुसार, प्रदीप ने गुड़िया के साथ हुई दरिंदगी में अपना जुर्म कबूल कर लिया है। उसने यह भी कहा है कि उससे बहुत बड़ी गलती हुई है। प्रदीप का मेडिकल चेक अप हुआ है। पुलिस ने प्रदीप को आज कड़कड़डूमा कोर्ट में पेश किया। अदालत ने प्रदीप को चार दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया। (मनोज को भी रिमांड में लेगी दिल्‍ली पुलिस, दोनों उगलेंगे गुड़िया से दरिंदगी के सारे राज)
गुडिय़ा रेप केस की जांच कर रहे एक जांच अधिकारी ने बताया‍ कि घटना की शाम मनोज और प्रदीप ने पोर्न फिल्‍में देखीं थी और शराब पी थी। इसके बाद प्रदीप वेश्‍या को लाना चाहता था लेकिन पैसे की कमी के कारण वह ऐसा कर नहीं सका। वह किसी भी कीमत पर सेक्‍स करना चाहता था। उसने कहा कि किसी भी कीमत पर लड़की का इंतजाम होना चाहिए। मध्य प्रदेश की 'गुड़िया' का दुष्कर्मी विदेश फरार!
बिहार के शेखपुरा का रहने वाला प्रदीप पहली बार 2009 में सात महीने के लिए दिल्‍ली आया था। इसके बाद वह फरवरी 2013 में फिर दिल्‍ली आया और गाजियाबाद के लोनी में राजमिस्‍त्री का काम करने लगा।
गुडिय़ा के साथ दुष्कर्म करने वाले मनोज और प्रदीप की मुलाकात एक यात्रा के दौरान हुई थी। दोनों बहुत अच्‍छे दोस्‍त बन गए थे। अक्‍सर दोनों एक साथ शराब पीते थे। 15 अप्रैल को प्रदीप मनोज के घर आया और दोनों ने जमकर शराब पी। दोनों कमरे से बाहर निकले तो पांच साल की बच्‍ची खेल रही थी। दोनों ने चॉकलेट का लालच देकर बच्‍ची को उठा लिया। हालांकि, मनोज का कहना है कि बच्‍ची के साथ बलात्‍कार प्रदीप (कौन है प्रदीप और कैसा रहा है उसका इतिहास?) ने ही किया था। वह सिर्फ वहां खड़ा था।
बच्‍ची को दोनों ने मारने की भी कोशिश की थी। क्‍योंकि उन्‍हें डर था कि बच्‍ची कहीं उनकी करतूत के बारे में अपने परिवार को न बता दे। इसलिए दोनों ने बच्‍ची का गला घोटकर मारने की कोशिश की। इसके बाद दोनों एक साथ बिहार के लिए रवाना हो गए। दोनों एक साथ छपरा पहुंचे। वहां से मनोज अपने गांव चला गया और प्रदीप अपने मौसा के यहां। प्रदीप की साली का कहना है कि यदि वह दोषी है तो उसे मौत की सजा होनी चाहिए। कोर्ट में पेश करने के दौरान उग्र लोगों ने आरोपी को भीड़ के हवाले करने की मांग की और कहा कि इसे हम मौत की सजा देंगे। उधर प्रदीप के भाई और भाभी ने कहा कि प्रदीप को जनता के सामने फांसी पर लटका दिया जाए। शॉपिंग के बहाने होटल में ले जाकर टीचर ने दोस्त संग लूटी छात्रा की आबरू
संबंधित खबरें
23 अप्रैल की खास खबरें