'सेव डीयू' मुहिम के तहत प्राध्यापकों और छात्रों ने किया प्रदर्शन

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली. चार साल के स्नातक कोर्स के विरोध में डीयू प्राध्यापकों और छात्रों ने शुक्रवार को केंद्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशन पर हस्ताक्षर अभियान चला पीएम के नाम लिखे संदेश पर लोगों का समर्थन लिया। इसमें अपील की गई है कि इस कोर्स को लागू करने पर वह हस्तक्षेप कर रोक लगाएं।

अब रविवार को प्राध्यापक और छात्र यही मुहिम शाम चार से छह बजे दिल्ली हाट में चलाएंगे। उधर शुक्रवार को डीयू में उत्तर-पूर्वी राज्यों से आकर अध्ययन कर रहे छात्रों ने भी मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय के बाहर चार वर्षीय स्नातक कोर्स में हिंदी या मॉडर्न इंडियन लैंग्वेज को पढऩा अनिवार्य करने पर अपना विरोध जताया।

प्रदर्शनकारी छात्रों का कहना था कि नए कोर्स स्ट्रक्चर में यह प्रावधान किया जा रहा है, जो गलत है। अभी छात्र विकल्प के रूप में कोई भी विषय पढ़ सकते हैं। हमारी मांग है कि उत्तर-पूर्वी राज्यों की सभी भाषाओं के प्राध्यापक विश्वविद्यालय में उपलब्ध कराएं जाएं क्योंकि डीयू में मणिपुरी पढ़ाने वाले शिक्षक एक हैं और असमिया पढ़ाने वाले 2 जबकि डीयू में उत्तरपूर्वी राज्यों से आकर पढ़ रहे छात्रों की संख्या हजारों में है। प्रदर्शनकारी छात्रों ने अपनी मांग पर एक ज्ञापन भी सौंपा।