• Hindi News
  • दूल्हा करता रहा इंतजार, आठ लाख लेकर परिवार सहित गायब हुई दुल्हन

दूल्हा करता रहा इंतजार, आठ लाख लेकर परिवार सहित गायब हुई दुल्हन

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक


उदयपुर। सागवाड़ा (डूंगरपुर) के ओबरी कस्बे से रविवार को उदयपुर के सेक्टर 14 पहुंची बारात में एकबारगी हंगामा हो गया जब पता चला कि दुल्हन पक्ष से वहां कोई आया ही नहीं। दूल्हे के पिता कुबेर कांत पुरोहित ने थाने में दुल्हन के पिता जयदेव शर्मा के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है।


कुबेर कांत ने बताया कि उनके बेटे मिलन की शादी जयदेव की बेटी पल्लवी से 12 मई को तय हुई थी। छह महीने पहले सगाई हुई थी।


पिछले सप्ताह लड़की वालों को दस्तूर के आठ तोला वजनी सोने के जेवर और 40 हजार रुपए के कपड़े दिए थे। शनिवार रात बातचीत में लड़की के पिता ने तीतरड़ी स्थित भट्ट मेवाड़ा ब्राह्मण समाज के छात्रावास में बारातियों के स्वागत और नाश्ते की व्यवस्था होना बताया। इसके बाद जयदेव और परिवार के लोगों के मोबाइल स्विच ऑफ हो गए। सुबह बारात छात्रावास पहुंची। जलपान के बाद लड़की के घर सूचना कराई तो वहां ताला मिला। वधू पक्ष का कुछ पता नहीं चलने पर कुबेर कांत शाम चार बजे बारात लेकर लौट गए।

आठ लाख रुपए लेकर फरार हुआ दुल्हन का परिवार


बारात को घर बुलाकर फ रार होने वाले परिवार ने पुत्री के विवाह के लिए वर पक्ष से 4.25 लाख की नकदी, आभूषण सहित कुल आठ लाख रुपए का सामान लिया। इतना खर्चा करने के बावजूद बारात बैरंग लौटने से दूल्हे का परिवार गहरे सदमे में है। उसके बीमार पिता की अभी संभल नहीं पाए हैं। घर पर ताला लगाकर दुल्हन के साथ भागे पूरे परिवार का अभी पता नहीं चल पाया है।


इधर,परिवार के साथ भागी दुल्हन की शादीशुदा बहन के पति ने भी सागवाड़ा थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया है। उससे भी दुल्हन का पिता डेढ़ लाख रुपए नकद उधार ले गया, वहीं उसकी पत्नी करीब आठ तोला सोना साथ ले गई।

उल्लेखनीय है कि दुल्हन का पिता जयदेव शर्मा दुल्हन व अपनी तीन शादीशुदा पुत्रियों व परिवार के साथ शादी से ठीक पहले गायब हो गया। इस परिवार की मोबाइल के अनुसार लोकेशन जयपुर में होने की जानकारी पर पुलिस ने वहां दबिश दी, लेकिन उनका कोई पता नहीं लगा।