--Advertisement--

अलविदा / बंद होगा फॉक्सवैगन बीटल का प्रोडक्शन, 80 साल में बिकी 3 करोड़ से ज्यादा कारें



Danik Bhaskar | Sep 16, 2018, 06:27 PM IST

ऑटो डेस्क। जर्मनी की ऑटोमोबाइल कंपनी फॉक्सवैगन ने जल्द ही अपनी 70 साल पुरानी आईकॉनिक कार बीटल के प्रोडक्शन को बंद करने का फैसला कर लिया है। हालांकि अभी कंपनी का अंतिम फैसला आना बाकी है।

 

ओरिजनल बीटल का प्रोडक्शन 1938 से 2003 तक हुआ। जिसके बाद इसका सेकंड जनरेशन बाजार में आया जिसका प्रोडक्शन अब तक हो रहा है 

 

इस कार के बारे में कहा जाता है कि यह जर्मनी के तानाशाह रहे हिटलर की पसंदीदा कार थी। एक समय इस कार ने पीपुल्स कार यानी आम आदनी की कार के रुप में खास पहचान बनाई थी।

कंपनी अब तक इस कार के 3.30 करोड़ यूनिट्स बेच चुकी है

  1. फाइनल एडिशन आने के बाद होगी बंद

    • इस कार को बंद करने की पीछे इसकी घटती सेल्स को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। 
    • कंपनी का कहना है कि इस कार को इसके फाइलन एडिशन को लॉन्च करने के बाद इसकी मैन्युफैक्चरिंग के बाद बंद कर दिया जाएगा। 

  2. क्या खास है इसके फाइनल एडिशन में

    • इसके फाइनल एडिशन में एक्वेरिस ब्लू कलर फिनिश किया गया है। इसमें ब्लैक हार्ड रूफ और सॉफ्ट टॉप का ऑप्शन भी दिया गया है। 
    • इसमें स्पोर्टी सस्पेंशन, एक्सटीरियर और इंटीरियर में स्पेशल बैज भी दिए गए हैं। इसकी खास बात यह है कि इसमें 17 इंच अलॉय व्हील भी दिए गए हैं।
    • 2019 बीटल में 2.0 लीटर 4 सिलेंडर इंजन लगा है जो 174 hp की पावर और 249 Nm का टॉर्क जनरेट करता है। इसमें 6-स्पीड ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन दिया गया है। 
    • मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी बीटल की रेट्रो थीम के साथ 4-डोर मॉडल भी ला सकती है। हालांकि, इस बारे में अभी तक अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है।

  3. मांग में आई कमी है बंद का कारण

    • इस कार को अमेरिका में 1950 के दशक में लॉन्च किया गया था। तब इस कार की बिक्री काफी कम थी लेकिन 1959 में इस कार को नए सिरे से पेश लकरने के बाद इसके छोटे आकार को कस्टमर्स के लिए फायदा बताकर इसे प्रचारित किया गया।
    • कार को लोकप्रियता मिली डिज्नी की 1968 में बनीं फिल्म 'दी लव बग' से मिली। इस फिल्म में एक ऐसी फॉक्सवैगन कार की कहानी थी जो खुद सोच सकती थी। 
    • 1979 में इसकी बिक्री को अमेरका में बंद कर दिया गया। हालांकि मैक्सिको और ब्राजील में इसका उत्पादन जारी रहा। 
    • 1938 ले लेकर अबतक इस कार के 3.30 करोड़ यूनिट्स बिक चुकी है।