विधानसभा सीट

  • कॉपी लिंक

जहानाबाद, जहानाबाद

मतदान की तारीख:

28 अक्टूबर, बुधवार

प्रमंडलः मगध

जिलाः जहानाबाद

मौजूदा विधायकः कुमार कृष्ण मोहन उर्फ सुदय यादव, राजद

कुल वोटरः 2.92 लाख

  • पुरुष वोटरः 1.52 लाख (52.12%)
  • महिला वोटरः 1.38 लाख (47.40%)
  • ट्रांसजेंडर वोटरः 7 (0.002%)

सीट का इतिहास

  • 2018 में यहां उप-चुनाव हुए थे, जिसमें राजद के कुमार कृष्ण मोहन ने जदयू के अभिराम शर्मा को 35,343 वोटों से हराया था। अभिराम शर्मा 2010 में यहां से जीते थे।
  • 2015 में यहां से राजद के मुंद्रिका सिंह यादव दूसरी बार जीते थे। मुंद्रिका सिंह पहली बार 1995 में जनता दल से जीतकर आए थे।
  • फरवरी 2005 और अक्टूबर 2005 में लगातार दो बार यहां से राजद के सचिता नंद यादव जीते। 2000 में राजद के मुनिलाल यादव जीते।
  • 1990 में यहां से हरिलाल प्रसाद सिन्हा निर्दलीय जीते। 1985 में कांग्रेस के सैयद असगर हुसैन और 1980 में कांग्रेस (यू) की तारा गुप्ता जीतीं।
  • 1977 के चुनाव में यहां से जनता पार्टी के रामचंद्र सिंह यादव जीतकर आए। 1962 में कांग्रेस के महाबीर यादव और 1951 में सोशलिस्ट पार्टी के शिवभजन सिंह ने जीत दर्ज की।

पार्टी लिहाज से क्षेत्र

  • इस सीट पर 2018 के उपचुनाव समेत 13 चुनाव हुए हैं। इनमें 5 बार राजद, दो बार कांग्रेस और एक-एक बार जदयू, जनता दल, निर्दलीय, कांग्रेस (यू), जनता पार्टी और सोशलिस्ट पार्टी जीती है।
  • कांग्रेस आखिरी बार इस सीट पर 1985 में जीती थी। जबकि, भाजपा यहां एक बार भी नहीं जीती है।

जातीय समीकरण

  • इस सीट पर यादव, भूमिहार, रविदास, कोइरी और कुर्मी वोटर अहम है।

वोटिंग पैटर्न

  • 2000 में यहां सबसे ज्यादा 79.19% वोटिंग हुई। तब 93.2%पुरुषों और 64.60% महिलाओं ने वोट डाला।

साल

वोट%

पुरुष%

महिला%

2015

55.22

55.1

54.91

2010

49.79

51.4

47.87

2005 (अक्टूबर)

35.86

40.4

30.75

2005 (फरवरी)

44.35

51.5

36.26

2000

79.19

93.2

64.60

1995

75.33

78.2

72.32

1990

71.14

93.6

41.32

1985

74.06

73.9

74.16

1980

78.99

81.8

75.38

1977

63.17

73.7

49.56

1962

48.24

--

1951

45.58

--

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें