पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चमत्कार!:नमो के आने के पहले भी कुम्हरार विधायक को नहीं था कोरोना, उसी दिन आए पॉजिटिव, दो दिन में निगेटिव रिपोर्ट लेकर उतरे

पटनाएक महीने पहलेलेखक: मनीष मिश्रा
  • कॉपी लिंक
कुम्हरार विधायक अरुण सिन्हा के पुत्र द्वारा फेसबुक पर की गई पोस्ट।
  • सुशील मोदी के रोड शो के बाद अब अरुण सिन्हा भी प्रचार में उतरे
  • पहले मना करते रहे, अब भास्कर के सवाल पर कहा- पहले रहा होगा

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के बाद अब कुम्हरार के विधायक अरुण सिन्हा कोरोना को लेकर सवालों के घेरे में हैं। दो दिन पहले पॉजिटिव हुए और दो दिन में ही निगेटिव हो गए। यह बड़ा चमत्कार है, जो नेताओं में ही हो सकता है। सुशील मोदी की तरह अरुण सिन्हा भी निगेटिव होते ही चुनाव प्रचार में कूद पड़े हैं। नियम से दोनों नेताओं को 7 दिनों तक होम क्वारंटाइन में रहना था, लेकिन खुद के साथ वह दूसरों के लिए भी खतरा बन गए हैं। चुनाव प्रचार की कमान संभालने वाले दोनों नेताओं के
पॉजिटिव निगेटिव में संक्रमण का बड़ा खतरा है।

कोरोना का संक्रमण लेकर घूम रहे थे अरुण सिन्हा

कुम्हरार विधायक अरुण सिन्हा नामांकन के दौरान ही बीमार चल रहे थे। कोरोना संक्रमण को लेकर हमेशा वह सवालों के घेरे में रहे। लाव-लश्कर के साथ नामांकन भी किया था और कोरोना के संक्रमण के सवाल पर खुद को निगेटिव बता रहे थे। तबियत खराब होने के बाद भी वह चुनाव प्रचार में लगे रहे और लोगों से मिलना जुलना जारी रहा। 28 अक्टूबर को पटना में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कार्यक्रम था और मंच पर अरुण सिन्हा को भी जाना था। इसके लिए कोरोना की जांच कराई गई, लेकिन रिपोर्ट तब आई जब वह कार्यक्रम में पहुंच गए। वह मंच पर जाते इसके पहले उन्हें बता दिया गया, वह कोरोना पॉजिटिव हैं। अरुण सिन्हा रिपोर्ट आने के बाद घर में ही होम क्वारैंटाइन हो गए। लेकिन दो दिन में ही चमत्कार हुआ, 30 अक्टूबर की जांच में निगेटिव हो गए।

हो सकता है पहले से रहा हो कोरोना

दो दिन पहले पॉजिटिव आए और दो दिन में ही निगेटिव हो गए विधायक अरुण सिन्हा से दैनिक भास्कर ने बात की। उनका भी मानना था कि हो सकता है, पहले से ही उन्हें कोरोना रहा हो, कोई परेशानी थी नहीं थी, इसलिए जांच नहीं कराया। चुनाव आयोग को जब कोरोना की रिपोर्ट देने के लिए वह शुक्रवार को जय प्रभा अस्पताल में जांच कराए, तो निगेटिव हो गए। विधायक का कहना है कि निगेटिव हो गए तो बड़ी खुशी हुई और अब जनता के बीच प्रचार में हैं।

बिहार में कोरोना: कुम्हरार से भाजपा प्रत्याशी अरुण सिन्हा भी कोरोना पॉजिटिव, नामांकन दाखिल करने के पहले से ही था बुखार

9 दिन तक होता है संक्रमण फैलने का बड़ा खतरा

कोरोना मरीजों के इलाज में लगे डॉक्टरों का कहना है कि संक्रमण 9 दिनों तक काफी खतरनाक स्थिति में होता है। इस दौरान वह एक दूसरे में तेजी से फैलता है। यही कारण है कि मरीज को 10 दिन अस्पताल में रहने के बाद भी 7 दिनों तक होम क्वारैंटाइन में रहने की सलाह दी जाती है। आईसीएमआर की गाइडलाइन है कि कोरोना संक्रमितों की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी 7 दिन होम क्वारैंटाइन करना है, इस दौरान उन्हें किसी के संपर्क में नहीं आना है। लेकिन बिहार के डिप्टी सीएम और कुम्हरार के विधायक निगेटिव आने के बाद 48 घंटे का भी होम क्वारैंटाइन नहीं कर चुनाव प्रचार में उतर गए। शुक्रवार को सुशील मोदी भी चुनाव प्रचार में रहे और अरुण सिन्हा भी पूरी तैयारी में। नेताओं की यह मनमानी कोरोना काल में चुनाव पर भारी पड़ सकती है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले रुके हुए और अटके हुए काम पूरा करने का उत्तम समय है। चतुराई और विवेक से काम लेना स्थितियों को आपके पक्ष में करेगा। साथ ही संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी चिंता का भी निवारण होगा...

और पढ़ें