विधानसभा सीट

  • कॉपी लिंक

कसबा, पूर्णिया

मतदान की तारीख:

7 नवंबर, शनिवार

प्रमंडल: पूर्णिया

जिला: पूर्णिया

मौजूदा विधायक: अफाक आलम, कांग्रेस

कुल वोटर: 2.82 लाख

  • पुरुष वोटर: 1.46 लाख (51.79%)
  • महिला वोटर: 1.35 लाख (48.17%)
  • ट्रांसजेंडर वोटर: 12 (0.003%)

सीट का इतिहास

  • 2015 में यहां से कांग्रेस के मोहम्मद अफाक आलम तीसरी बार जीते थे। उन्होंने भाजपा के प्रदीप कुमार दास को 1,794 वोटों से हराया था।
  • मोहम्मद अफाक इससे पहले फरवरी 2005 और 2010 में भी जीत चुके हैं. पहली बार सपा के टिकट पर और दूसरी बार कांग्रेस के टिकट पर।
  • उनसे पहले इस सीट पर प्रदीप कुमार दास विधायक थे। प्रदीप कुमार 1995, 2000 और अक्टूबर 2005 का चुनाव जीता था। 1990 में यहां से जनता दल के शिव चरम मेहरता जीतकर आए थे।
  • 1985 का चुनाव कांग्रेस के सैयद गुलाम हुसैन और 1980 का चुनाव कांग्रेस के ही मोहम्मद यासीन ने जीता था। 1977 में भी कांग्रेस के ही जय नारायण मेहता यहां से जीते।
  • 1967, 1969 और 1972 में इस सीट से लगातार तीन बार कांग्रेस के राम नारायण मंडल जीतकर आए थे।

पार्टी के लिहाज से ये क्षेत्र

  • इस सीट पर अब तक 13 चुनाव हुए हैं। इनमें 8 बार कांग्रेस, 3 बार भाजपा, एक-एक बार सपा और जनता दल ने चुनाव जीता है।
  • इस सीट पर भाजपा ने आखिरी बार अक्टूबर 2005 में चुनाव जीता था। जबकि, राजद और जदयू को अब तक यहां जीत नहीं मिली है।

जातीय समीकरण

  • इस सीट पर मुस्लिम अहम भूमिका में हैं। कोइरी, रविदास, पासवान, यादव भी अच्छी संख्या में हैं।

वोटिंग पैटर्न

  • इस सीट पर पहली बार 1951 में हुए चुनाव में 50% मतदान हुआ था। 2015 में हुए चुनाव में यहां 69% वोटिंग हुई थी। ये इस सीट पर अब तक की सबसे ज्यादा वोटिंग थी। सबसे कम 48% वोटिंग 1977 के चुनाव में हुई थी।

साल

वोट%

पुरुष%

महिला%

2015

69.06

64.3

73.5

2010

67.34

65.9

68.7

2005 (अक्टूबर)

55.80

56.1

55.41

2005 (फरवरी)

55.22

60.1

50.05

2000

66.70

75.7

56.91

1995

64.70

70.9

58.00

1990

68.54

70.9

65.86

1985

59.62

74.2

43.95

1980

59.70

60.2

58.97

1977

48.08

39.6

62.62

1972

53.59

69.2

37.29

1969

51.91

67.0

35.97

1967

50.31

-

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें