पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Varanasi
  • The Oncologist Called The Brother in law Impotent, Then Killed Him With A Hammer, Surrendered To The Police Station, The Search For The Accused Servant Continues

वाराणसी में देवर ने महिला डॉक्टर की हत्या की:घर में घुसकर कांग्रेस के पूर्व विधायक के बेटे ने हथौड़े से पीटकर जान ले ली, थाने पहुंचकर बोला- नपुंसक बोल रही थी इसलिए भाभी को मार डाला

वाराणसी12 दिन पहले
डॉ. सपना गुप्ता दत्ता (फाइल फोटो) और दूसरी फोटो में घटनास्थल की जांच करते पुलिस अफसर।

वाराणसी के महमूरगंज में संत रघुवर नगर कॉलोनी में बुधवार की दोपहर कैंसर स्पेशलिस्ट डॉ. सपना गुप्ता दत्ता की उनके देवर ने हत्या कर दी। आरोपी देवर अनिल कुमार दत्ता कांग्रेस के पूर्व विधायक डॉ. रजनीकांत दत्ता का बेटा है। अनिल ने डॉ. सपना के सिर पर हथौड़े और कैंची से वार किया। इसमें उसके नौकर ने भी मदद की।

घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी देवर ने सिगरा थाने पहुंचकर सरेंडर कर दिया। पुलिस को उसने बताया कि उसकी भाभी उसे नपुंसक बोल रही थी, इसलिए उसने मार दिया। पुलिस ने हथौड़े और कैंची को बरामद कर लिया है। हत्या में मदद करने वाले नौकर की तलाश जारी है।

डॉ. सपना की हत्या की सूचना पाकर उनके घर पहुंची पुलिस।
डॉ. सपना की हत्या की सूचना पाकर उनके घर पहुंची पुलिस।

डॉक्टर से उनके 3 देवरों का चल रहा था विवाद
संत रघुवर नगर कॉलोनी के रहने वाले डॉ. रजनीकांत दत्ता 1985 में कांग्रेस से विधायक थे। उनके पांच बेटे थे। इसी साल अप्रैल में एक बेटे की कोरोना से मौत हो गई थी। इसके बाद से डॉ. रजनीकांत के 4 बेटों के बीच संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा है। एक तरफ डॉ. सपना दत्ता व उनके पति डॉ. अंजनी दत्ता, जबकि 3 बेटे एक दूसरी तरफ हैं। डॉ. सपना और उनके पति का क्लीनिक उनके पैतृक घर के ग्राउंड फ्लोर पर है। डॉ. सपना के पति भी फिजिशियन हैं। यहीं उनकी हत्या हुई।

आरोपी देवर अनिल कुमार दत्ता
आरोपी देवर अनिल कुमार दत्ता

बूढ़े मां-बाप से मिलने गया था अनिल
पुलिस के मुताबिक, आरोपी देवर अनिल दशाश्वमेध की शकरकंद गली का रहने वाला है। उसके तीन मेडिकल स्टोर हैं। उसने बताया कि वह अपने बूढ़े मां-बाप से मिलने के लिए गया था। इस दौरान उसकी भाभी डॉ. सपना से किसी बात को लेकर बहस हो गई। उसकी भाभी ने उसे नपुंसक कहा तो उसे गुस्सा आ गया। इसके बाद उसने पास पड़ा हथौड़ा और कैंची उठाकर भाभी के सिर पर वार कर दिया। घटना के वक्त डॉ. सपना का परिवार भी वहीं था। सब महिला डॉक्टर को अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उनको मृत घोषित कर दिया। इसके बाद अनिल ने सिगरा थाने में जाकर समर्पण कर दिया। उसका नौकर रौशन कहीं भाग निकला है।

डॉ. सपना गुप्ता दत्ता की दोनों बेटियां और पति।
डॉ. सपना गुप्ता दत्ता की दोनों बेटियां और पति।

एक दिन पहले भी हुआ था विवाद
आरोपी अनिल ने पुलिस को बताया कि पिता की 6 करोड़ की संपत्ति और करीब 80 लाख की एफडी को लेकर एक दिन पहले भी उसके और उसकी भाभी के बीच विवाद और मारपीट हुई थी। इसे लेकर दोनों ने एक-दूसरे के खिलाफ सिगरा थाने में तहरीर दी थी। पिता के द्वारा बैंक में जमा किए गए पैसे को भाभी अपना बताती हैं। जबकि उसमें हम सभी भाइयों का बराबर का हक है। उधर, वारदात के बाद डॉ. सपना के पति और उनकी दोनों बेटियों का रो-रोकर बुरा हाल था।

डीसीपी वरुणा जोन विक्रांत वीर ने बताया कि आरोपी ने स्वीकार किया है कि वारदात को किसी के उकसाने पर उसने अंजाम नहीं दिया है। उसकी भाभी ने उसके लिए अपशब्द का प्रयोग किया तो अपने नौकर के साथ उसने उनकी हत्या कर दी। आरोपी नौकर की तलाश में पुलिस की एक टीम लगाई गई है। डॉ. सपना का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

खबरें और भी हैं...