पंचायत चुनाव में गड़बड़ी करने वाले 286 लोग पकड़े गए:मतदान के दौरान सभी जिलों में पुलिस ने की कार्रवाई, हथियार, गोली और बम बरामद

पटना12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सांकेतिक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
सांकेतिक तस्वीर।

बिहार में सोमवार को पंचायत चुनाव के 7वें चरण का मतदान सोमवार को पूरा हो गया। बिहार पुलिस मुख्यालय ने सभी 38 जिलों में शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न कराने का दावा किया है। हालांकि, सोमवार को कई जिलों में कुछ लोगों ने मतदान को प्रभावित करने की साजिश भी रची थी।

मुख्यालय का दावा है कि इस मामले में जिलों की पुलिस टीम ने तेजी से कार्रवाई की। पूरे राज्य में कुल 286 लोगों को पुलिस हिरासत में लिया गया है। 35 गाड़ियों को जब्त किया गया। इस कार्रवाई के दौरान एक पिस्टल, एक गोली और 2 बम बरामद कर जब्त किए गए।

गोपालगंज और नालंदा में पकड़े गए सबसे अधिक लोग
चुनाव के दौरान सोमवार को जिन जिलों में पुलिस ने कार्रवाई की और लोगों को अपने हिरासत में लिया, उसमें सबसे उपर राज्य का गोपालगंज जिला है। इस जिले की पुलिस ने 48 लोगों को पकड़ा।

वहीं, नालंदा ने 43, सीतामढ़ी ने 38, बांका ने 34, पटना ने 2, गया ने 8, बक्सर 20, रोहतास 15, वैशाली 1, शिवहर 5, सारण 16, सिवान 5, दरभंगा 14, सुपौल 1, मधेपुरा 10, नवगछिया 8, मुंगेर 10 और बेगूसराय जिले की पुलिस ने 8 लोगों को पकड़ा।

तैनात थे 45 हजार पुलिस अफसर और जवान
सातवें चरण का चुनाव 38 जिलों के 63 ब्लॉक के 916 पंचायतों में था। 8232 मतदान भवनों में कुल 12822 मतदान केंद्र बनाए गए थे। निष्पक्ष, भयमुक्त और शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए बड़े पैमाने पर सुरक्षा के इंतजाम किए गए थे।

पुलिस मुख्यालय के मुताबिक जिला पुलिस, होमगार्ड, बिहार स्पेशल सिक्योरिटी फोर्स और सैप के 45 हजार अफसर व जवानों की तैनाती की गई थी। पुलिस मुख्यालय के अधिकारी भी हर पल पैनी नजर रख रहे थे। लॉ एंड ऑर्डर को लेकर लगातार मॉनिटरिंग की जा रही थी ।