पीरो। कभी नक्सली हिंसा के क्षेत्र के लिए कुख्यात पीरो अब शांत

Ara News - कभी पीरो पुलिस अनुमंडल क्षेत्र नक्सली क्षेत्र था। अब चारो ओर शांति है। यहां 1974 तक लोग आरा से सासाराम तक मार्टिन...

Nov 11, 2019, 06:15 AM IST
कभी पीरो पुलिस अनुमंडल क्षेत्र नक्सली क्षेत्र था। अब चारो ओर शांति है। यहां 1974 तक लोग आरा से सासाराम तक मार्टिन रेलवे के छोटी लाईन से आवागमन करते थे। 2005 में यहां बड़ी लाईन के साथ अब बिजली से चलने वाले ट्रेन दौड़ी। पीरो पहले आरा अनुमंडल का अंग था, तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद ने 1994 में पीरो को अनुमंडल का दर्जा दिया। पीरो, तरारी और चरपोखरी प्रखंड आता है। अनुमंडल में 6 थाना और 1 ओपी, 1 फायर सब-स्टेशन है। पीरो में अनुमंडल स्तरीय पुलिस कार्यालय, बिजली, सब-रजिस्ट्री कार्यालय और कोर्ट है। अनुमंडल जेल और न्यायालय का भवन प्रस्तावित है।इपीरो वर्ष 1974 में अधिसूचित क्षेत्र था। पीरो नगर पंचायत होने पर वर्ष 2002 में यहां पहला चुनाव कराया गया। कुल 17 वार्ड व आबादी 2011 की जनगणना के अनुसार 43785 है। जहां 5033 घरों में लोग निवास करते हैं। साक्षरता की दर 72 प्रतिशत है। यहां के किसानों द्वारा जमीन देने के बाद भी जिले में प्रस्तावित मेडिकल काॅलेज इस क्षेत्र में नहीं बन पाया अनुमंडलीय अस्पताल व उच्च शिक्षा के लिए कोई सरकारी काॅलेज नहीं है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना