पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुत्र के हत्यारे नहीं पकड़े गए तो माता-पिता ने शुरू किया अनशन

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अमित पांडेय की हत्या के एक साल तीन माह बाद भी हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं होने पर उसके माता-पिता का विश्वास पुलिस-प्रशासन से उठने लगा है। अधिकारियों के पास लगातार गुहार लगाने के बाद भी जब कारगर कार्रवाई नहीं की गई तो इसके बाद उनका धैर्य जबाव टूट गया। उनके सामने सत्याग्रह ही विकल्प बचा। मंगलवार अमित की मां रति देवी और पिता बैजनाथ पाण्डेय अपने घर के सामने टेंट लगाकर तीन दिवसीय भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं। अगिआंव बाजार थाना क्षेत्र के डोमन डिहरा गांव में 4 मई 2018 को अमित पाण्डेय के हत्या कर दी गई थी। आंदोलन कर रहे दंपती का कहना है कि उनके पुत्र अमित पाण्डेय को भूमि विवाद में पहले धमकी दी गई थी। इसकी सूचना अगिआंव बाजार थाना के थानाध्यक्ष को दी गई थी। इसके बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद दबंगों ने अमित की हत्या कर दी। इस मामले में प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई, लेकिन इसके बाद भी अपराधियों पर कार्रवाई नहीं की गई। हत्या के बाद दोषी लोगों पर कार्रवाई की मांग को लेकर वरीय पुलिस पदाधिकारियों को कई बार आवेदन दिया, बावजूद कार्रवाई नहीं की गई। जिससे इस व्यवस्था के खिलाफ और हत्यारों को सजा दिलाने की मांग को लेकर तीन दिनों का भूख हड़ताल शुरू किया गया है। इस पर भी मांग पूरी नहीं होने पर अगली बार मुख्यमंत्री आवास के समक्ष अनिश्चितकालीन आमरण अनशन होगा।

खबरें और भी हैं...