पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Siktti News 4 Panchayats In Sikti Divided Only Flood Victims Wandering For 2 Years

सिकटी के 4 पंचायतों में ही बंटी राशि, 2 साल से भटक रहे बाढ़ पीड़ित

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिला प्रशासन चाहे कितने ही दावे कर लें। लेकिन हकीकत कुछ अाैर ही बयां करती है। बाढ़ पीड़ितों के बीच राशि बांटने के लिए राज्य से सरकार ने भेज दी है। लेकिन प्रशासन स्तर से कुछ बाढ़ आपदा की सहायता राशि चार पंचायतों में भेज दिया गया है।

शेष बचे पंचायतों में राशि कब दिया जाएगा, यह भविष्य के गर्त में है। ऐसे दर्जनों बाढ़ प्रभावित परिवार हैं, जिनके खाते में बाढ़ आपदा की सहायता अब तक नहीं पहंुंची है। ऐसे में लोगों को ये डर सताने लगा है कि कहीं पिछले साल की इस तरह भी इस साल न हो जाए। 2017 के बाढ़ पीड़ित परिवारों की संख्या सैकड़ों में है। जिन्हें अभी भी पैसा नहीं मिल पाया है। बाढ़ से प्रभावित परिवार मो. मुस्लिम, प्रभु नरायण, कल्पनाथ ठाकुर, सहित आदि लोगों ने बताया कि हमलोगों को वर्ष 2017 में जो बाढ़ आया था, उसका भी अभी तक बाढ़ आपदा का सहायता राशि नहीं मिला है। कई बार अंचल कार्यालय का चक्कर लगा लगाकर थक गए। लेकिन अभी तक बाढ़ आपदा की सहायता राशि नहीं मिल पाया है। इन लोगों ने बताया कि अंचल कार्यालय में अधिकारियों द्वारा यही कहा जाता है कि एक सप्ताह के अंदर कैश बुक का संधारण हो जायेगा। सवाल यह उठता है कि वर्ष 2017 से अंचल कार्यालय का कैश बुक का संधारण अभी तक क्यों नहीं हुआ है। कहीं कैश बुक के संधारण नहीं होने का कारण कहीं बहुत बड़ा वित्तीय घोटाला तो उजागर नहीं होने वाला है। जबकि इस मामले को लेकर डीसीएलआर व जिलाधिकारी तक को भी अवगत कराया गया है। अधिकारियों द्वारा कहा जाता है कि सीओ द्वारा एक सप्ताह का समय लिया गया है। एक सप्ताह के अंदर कैश बुक का संधारण कर लिया जायेगा। सूत्रों की मानें तो अंचल कार्यालय में नया कैश बुक खोलकर काम किया जा रहा है। अब सवाल उठता है कि वरीय अधिकारियों द्वारा भी इस पर क्यों ध्यान नहीं देते हैं। इस संबंध में सीओ रवि प्रसाद पासवान ने बताया कि वर्ष 2017 का चार पांच सौ लाभुक बचा हुआ है। इस बार सभी का खाता सही हो रहा है। सभी के खाते में पैसा भेज दिया जायेगा।

खबरें और भी हैं...