पिता की कर्मभूमि पर शिक्षा का दीप जला रहे एचएम रंजेश, बदली लोगों की सोच

Araria News - जिले के फारबिसगंज प्रखंड अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय छुरछुरिया के प्रभारी प्रधानाध्यापक रंजेश कुमार और वहां के...

Bhaskar News Network

Jul 01, 2019, 06:20 AM IST
Araria News - hm ranjesh the light of education on the father39s workplace changed people39s thinking
जिले के फारबिसगंज प्रखंड अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय छुरछुरिया के प्रभारी प्रधानाध्यापक रंजेश कुमार और वहां के अनुशासित छात्रों एवं छात्राओं ने विपरीत परिस्थितियों में भी बेहतर शिक्षा के साथ व व्यवस्था के एक नए आयाम को हासिल किया है।

विद्यालय के हर दीवार पर ज्ञान की बातें, मिड-डे-मील व्यवस्था व अनुशासन अन्य विद्यालयों के लिए अनुकरणीय है। एचएम रंजेश बताते हैं कि उनके पिता पद्मानंद सिंह की कर्मभूमि यही गांव है। इसलिए इस गांव में बेहतर करने की उनकी इच्छा है। दरअसल यह स्कूल जिस परिवेश में स्थापित है, वहां शराबबंदी कानून लागू होने से पहले किसी भी एचएम के लिए स्कूल चलाना परेशानी का सबब था। स्कूल के प्रभारी एचएम रंजेश कुमार यूं तो 2010 में ही इस स्कूल में आए हैं पर एचएम का प्रभार उन्हें 2012 में मिला। यहां वर्तमान में 218 बच्चे नामांकित हैं। लेकिन शिक्षा विभाग की उदासीनता की वजह से एचएम समेत मात्र दो शिक्षक ही पदस्थापित हैं। बावजूद रंजेश कुमार अपने एक शिक्षक के सहयोग से और छात्रों का सहयोग लेकर स्कूल को सजाने में जुटे हुए हैं। शराबबंदी कानून लागू होने से पहले उस समाज में लोग शराब पीकर स्कूल में हंगामा करते थे और बेवजह शिक्षक को तंग भी करते थे। इन सारी परिस्थितियों में भी एचएम ने अपने कार्यकुशलता और धैर्य का परिचय देते हुए स्कूल को चलाया और सामाजिक मानसिकता में भी बदलाव लाया।

शराबी को भी अपने कार्यकुशलता व धैर्य से बदल दिया

फारबिसगंज के प्राथमिक विद्यालय छुरछुरिया में एमडीएम व्यवस्था की जिले ही नहीं राज्य भर में चर्चा

फारबिसगंज प्रखंड के छुरछुरिया विद्यालय में कतारबद्ध होकर एमडीएम खाने के लिए बैठे बच्चे।

टीचर्स ऑफ बिहार फेसबुक पेज पर छुरछुरिया विद्यालय के चर्चे

प्राथमिक विद्यालय छुरछुरिया मैं बच्चे जब मध्याह्न भोजन करते हैं तो वह सजी हुई तस्वीर की हर तरफ चर्चा होती है। टीचर्स ऑफ बिहार फेसबुक पेज पर लोग इसे काफी पसंद करते हैं। इस विद्यालय में एमडीएम खिलाते समय एचएम और शिक्षक मॉनिटरिंग करते हैं। मेनू के अनुसार बच्चे को भोजन मिले इसका खास ख्याल भी रखते हैं।

स्कूल की दीवारों पर ज्ञानवर्द्धक बातें बना रहा शिक्षा का माहौल

जनमानस तक स्कूल के बारे में जो खबरें पहुंची हुई हैं, उससे यह साबित होता है कि जिले के अन्य स्कूलों में भी शिक्षक और अधिकारी अगर ठान लें तो विद्यालय में बदलाव हो सकता है। इससे लोगों की सोच सरकारी विद्यालय के प्रति बदलती नजर आ रही है। जो की हमारे और हमारे देश की लिए अच्छा साबित हो रही है। स्कूल के दीवारों पर सप्ताह का प्रत्येक दिन का नाम हर महीने के अलावा गिनती और अन्य चीजें दरसाई हुई है। इससे बच्चे के दिमाग में पढ़ाई के प्रति एक बेहतर माहौल बन जाता है।

हर जगह हों ऐसे एचएम और समाज


Araria News - hm ranjesh the light of education on the father39s workplace changed people39s thinking
X
Araria News - hm ranjesh the light of education on the father39s workplace changed people39s thinking
Araria News - hm ranjesh the light of education on the father39s workplace changed people39s thinking
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना