महर्षि मंेहीं परमहंस की 135वीं जयंती पर निकाली प्रभातफेरी

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 09:30 AM IST

Araria News - महर्षि मेहीं परमहंस की प्रभात फेरी में शामिल सत्संगी। नाना के घर मधेपुरा में 17 मई 1884 ई० में हुआ था जन्म, पूर्णिया...

Siktti News - in the maharishi on the 135th birth anniversary of paramhans
महर्षि मेहीं परमहंस की प्रभात फेरी में शामिल सत्संगी।

नाना के घर मधेपुरा में 17 मई 1884 ई० में हुआ था जन्म, पूर्णिया के बनमनखी प्रखंड के सिकलीगढ़ धरहरा में पैतृक घर

भास्कर न्यूज | सिकटी, रेणुग्राम

सिकटी प्रखंड क्षेत्र के तीरा खारदह गांव में महर्षि मेहीं आश्रम में शुक्रवार को महर्षि मेहीं का 135वां जन्म दिवस मनाया गया। इस अवसर पर लोगों ने प्रभात फेरी निकाली। यह प्रभातफेरी आश्रम से शुरू होकर मजरख सीमा तक मजरख सीमा होते हुए खारदह पड़रिया से तीरा मेहीं आश्रम गई।

प्रभात फेरी सम्पन्न होने के बाद सत्संग का आयोजन किया गया। सत्संग में रामसेवक दास ने कहा कि सत्य के संग बिना इश्वर की प्राप्ति नहीं हो सकती है। मनुष्य आज के भागदौड़ की जिंदगी में लोग दूराचार व व्यभिचार करने से बाज नहीं आते हैं, लेकिन सत्स से ही मनुष्य मोक्ष की प्राप्ति कर सकता है। द्वारिका प्रसाद ने सत्संग में कहा कि बहुत ही कठिन से मनुष्य का तन मिलता है, लेकिन मनुष्य अपने कर्मो को छोड़कर मोह माया में भटक रहे हैं। इस अवसर पर रामसेवक सरदार, द्वारिका मंडल, सुखदेव दास, देवेश्वर, मंटू यादव, पुनीत सरदार, प्रदीप, गणेश, सुमन झा, देवेन्द्र दास, बटेश्वर पंडित, बेचन मंडल व अन्य रहे।

महर्षि मेहीं परमहंस की जयंती पर अनुयायियों ने किया याद

बीसवीं सदी के महान संत ब्रम्हलीन पूज्यपाद महर्षि मेहीं परमहंस जी महाराज के 135वें जन्मदिवस के अवसर पर शुक्रवार को प्रखंड के विभिन्न सतसंग मंदिरों से उनके अनुयायियों ने प्रभात फेरी निकली। इस मौके पर महर्षि जी के तैल्यचित्र पर पुष्प चढ़ाते हुए श्रद्धा सुमन अर्पित की। मानिकपुर सतसंग मंदिर से लेकर ठीलामोहन, हलहलिया, खाशहलहलिया लहसनगंज, तिरसकुंड, अम्हारा, खवाशपुर, गुरम्ही, देवपुरा आदि जगहों पर दिन भर सत्संग, भजन कीर्तन के साथ भंडारा का भी आयोजन किया गया। कार्यक्रम में वक्ताओं ने कहा ब्रह्मीलन महर्षि में ही बाबा का जन्म हुआ है। 17 मई 1884 ई० को अपने नाना के घर मधेपुरा जिला के खोखशी श्याम मझुआ नामक गांव में हुआ था। जबकी उनका पैत्रिक घर पूर्णिया जिले के बनमनखी प्रखंड अन्तर्गत सिकलीगढ़ धरहरा गांव में है।

X
Siktti News - in the maharishi on the 135th birth anniversary of paramhans
COMMENT