रानी पुल पर वाहनों के अावागमन से सिकटी के लोगाें को राहत

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 09:10 AM IST

Araria News - वर्षों के इंतजार के बाद सिकटीवासियों का सपना हुआ साकार। गुरुवार से रानी पुल पर छोटी वाहनों का परिचालन चालू हो गया।...

Siktti News - relief to the people of sikkim by the use of vehicles on the queen bridge
वर्षों के इंतजार के बाद सिकटीवासियों का सपना हुआ साकार। गुरुवार से रानी पुल पर छोटी वाहनों का परिचालन चालू हो गया। अब सिकटी के लोग एवीएम सिकटी सड़क से चार चक्का से जिला मुख्यालय का सफर कर सकेंगे। इससे सिकटीवासियों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है। बुजुर्गों की मानें तो रानी पुल कई बार ध्वस्त हुआ है तथा कई बार बनाया गया है। रानी पुल सन 1987 के भीषण बाढ़ से ध्वस्त हो गया था। उसके बाद तत्कालीन विधायक शीतल प्रसाद गुप्ता की पहल पर पलासी प्रखंड के धपडी घाट पर बेकार पड़े पुल को उखाड़ कर रानी पुल का निर्माण किया गया था। वर्ष 2012 के बाढ़ से रानी पुल का मध्य भाग धंस गया था। इसके बाद वर्ष 2014 के भीषण बाढ़ में रानी पुल पूरी तरह से ध्वस्त हो गया। पुल के ध्वस्त होने के बाद अवागमन का सहारा नाव व बांस की चचरी पुल बना। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव से पूर्व सांसद प्रदीप कुमार सिंह ने चार करोड़ की लागत से रानी पुल का शिलान्यास किया था। वहीं 14 के चुनाव जीतने के बाद तत्कालीन सांसद तस्लीमउद्दीन ने भी चार करोड़ की लागत से रानी पुल का शिलान्यास किया। तीन पाया बनकर तैयार होने के बाद चौथा पाया के निर्माण में सन 87 में ध्वस्त हुये पुल का अवशेष 25 फीट अंदर रहने के कारण चौथा पाया का निर्माण नहीं हो पा रहा था। जिसके कारण ठेकेदार काम भी छोड़कर भाग निकला। बाद में सांसद के दबाव के कारण दूसरे ठेकेदार को काम दिया गया।

रानीपुल का एप्रोच।

लोगों में काफी खुशी की लहर दौड़ गई है

भारी मशक्कत के बाद भी जब पुल का अवशेष नहीं निकला तब बीच वाले पाया को डबल कर दिया। तब पुल का निर्माण संभव हो सका। इधर पुल का निर्माण होकर अवागमन शुरू हो जाने से लोगों में काफी खुशी की लहर दौड़ गई है। लोगों का कहना है कि नाव पर रानी पुल पर पार करने के डेढ़ से दो घंटा लग जाता था अब लोगों का चार चक्का पर बैठकर एवीएम सिकटी सड़क से जिला मुख्यालय जाने का सपना साकार होगा।

वहीं सामजिक कार्यकर्ता मनोहर मिश्र, डेढुआ पंचायत के मुखिया वैद्यनाथ मंडल, बेंगा पंचायत के मुखिया नरसिंह विश्वास, छठी पासवान, धनंजय कुमार, महावीर पासवान के सहयोग से एप्रोच में मिट्टी भरकर छोटे वाहनों का अवागमन शुरू कर दिया गया है, दो से तीन दिनों के अंदर बडी़ गाड़ी का भी परिचालन शुरू हो जायेगा।

X
Siktti News - relief to the people of sikkim by the use of vehicles on the queen bridge
COMMENT