• Hindi News
  • Bihar
  • Araria
  • Raniganj News we should try to get rid of the cycle of life39s traffic swami satyanand maharaj

जीवन के आवागमन के चक्र से छूट जाने का हमें प्रयास करना चाहिए : स्वामी सत्यानंद महाराज

Araria News - मुख्यालय के हसनपुर सत्संग भवन में आयोजित दो दिवसीय संतमत सत्संग के अंतिम दिन हरिद्वार से आए संतमत के...

Feb 15, 2020, 09:36 AM IST
Raniganj News - we should try to get rid of the cycle of life39s traffic swami satyanand maharaj

मुख्यालय के हसनपुर सत्संग भवन में आयोजित दो दिवसीय संतमत सत्संग के अंतिम दिन हरिद्वार से आए संतमत के अंतर्राष्ट्रीय प्रवक्ता आचार्य स्वामी सत्यानंद महाराज के प्रवचन से लोगों का मन मुग्ध कर दिया। स्वामी सत्यानंद ने कहा कि दो दिनों से यह संतमत का सत्संग हो रहा है। यह सत्संग का अंतिम दिन है। इतना कहने की क्या आवश्यकता है। यह बहुत आवश्यक है, क्योंकि लोग समझ जाए कि ईश्वर क्या है, जीव क्या है, माया क्या है और दुख-सुख क्या है। इसकी निवृत्ति कैसे हो, इसको ठीक-ठीक से समझाकर कह दिया जाए। जो लोग सत्संग कराए हैं, उनको बहुत लाभ होगा, क्योंकि सत्संग से ज्ञान की प्राप्ति होती है, जिससे सारे दुख मिट जाते हैं, इसलिए इस संतमत सत्संग की उपयोगिता है। जीवन के आवागमन के चक्र से छूटने का प्रयास करना चाहिए। संसार में जैसे दिन के बाद रात और रात के बाद दिन आते ही रहते हैं, उसी तरह सुख के बाद दुख, दुख के बाद सुख आते ही रहते हैं, लेकिन ऐसा होना चाहिए कि सब दुख मिट जाए और ऐसा सुख हो, जिसमें पूरी संतुष्टि हो जाए। जो ईश्वर परमात्मा है उसे कुछ नहीं चाहिए। उस परमात्मा को पाकर लोग सुखी होते हैं। जिस तरह एक बूंद पानी समुद्र में मिलकर एक हो जाता है उसी तरह यह जीव ईश्वर में मिलकर एकमेक हो जाता है। इसके लिए साधना करने की आवश्यकता है। ईश्वर सबके अंदर में भी मौजूद हैं उसे कहाँ जाकर खोजेंगे। बता दें कि स्वामी शुद्धानंद बाबा, विमलानंद बाबा, मुक्तानंद बाबा, जयकुमार बाबा, धीरेंद्र बाबा आदि साधु संतों ने अपने अपने प्रवचन किये। मंच संचालन शिक्षक हलेश्वर प्रसाद यादव व दिनेश यादव ने किया। संतमत सत्संग ध्यान अधिवेशन को सफल बनाने के लिए समस्त हसनपुरवासी लगे रहे।

सत्संग में प्रवचन देते संत।

X
Raniganj News - we should try to get rid of the cycle of life39s traffic swami satyanand maharaj
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना