10 हजार लाभुकों को मिलेगा मातृत्व वंदना का लाभ : डीएम

Aurangabad News - सिटी रिपोर्टर | औरंगाबाद सदर जिले के 10 हजार लाभुकों को पीएम मातृत्व वंदना योजना का लाभ दिलाने का लक्ष्य रखा गया...

Dec 05, 2019, 06:17 AM IST
सिटी रिपोर्टर | औरंगाबाद सदर

जिले के 10 हजार लाभुकों को पीएम मातृत्व वंदना योजना का लाभ दिलाने का लक्ष्य रखा गया है। अगर इससे अधिक लाभुक आवेदन जमा करेंगे तो उन्हें भी इस योजना का लाभ दिलाया जाएगा। एक भी लाभुक छूटे नहीं, इसको लक्ष्य बनाकर कार्य किया जा रहा है। उक्त बातें डीएम राहुल रंजन महिवाल ने पीएम मातृत्व वंदना योजना के जागरूकता के लिए आंगनबाड़ी सेविकाओं द्वारा आयोजित रैली को हरी झंडी दिखाने के दौरान कही। उन्होंने कहा कि जानकारी के अभाव में लोग महिलाओं की डिलीवरी घर पर ही करवाते हैं। जिसके चलते जच्चा व बच्चा दोनों को परेशानी होती है। इसलिए लोगों से अनुरोध है कि वे महिलाओं की डिलीवरी किसी न किसी सरकारी अस्पताल में कराए। ताकि जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ्य हो। इस मौके पर डीडीसी अंशुल कुमार, डीपीओ आइसीडीएस रीना कुमार, मदनपुर बीडीओ कनिष्क कुमार, पीएमवीवीवाई मिथलेश कुमार समेत अन्य मौजूद रहे।

कलेक्ट्रेट परिसर से डीएम ने हरी झंडी दिखाकर जागरूकता रैली को किया रवाना

कलेक्ट्रेट से रमेश चौक तक निकाली जागरुकता रैली

आंगनबाड़ी सेविकाओं द्वारा कलेक्ट्रेट परिसर से रमेश चौक तक रैली निकाली गई। रैली के माध्यम से प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की जानकारी लोगों को दी गयी। इस दौरान आंगनबाड़ी सेविकाओं ने सुरक्षित जननी, विकसित जननी के नारे भी लगाए। कार्यक्रम में पहली बार मां बनने वाली महिलाएं भी लाभार्थी के रूप में मौजूद थीं। एक सेल्फी प्वांइट भी बनाया गया था, जहां पदाधिकारियों ने पहली बार मां बनने वाली महिलाओं के साथ सेल्फी लिया और उसे व्हाट्सएप, ट्विटर व फेसबुक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर भी किया गया।

आठ दिसंबर तक चलेगा पीएम मातृत्व वंदना योजना सप्ताह

आइसीडीएस डीपीओ रीना कुमारी ने कहा आठ दिसंबर तक प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना सप्ताह मनाया जाएगा। अभियान के दौरान अधिक से अधिक महिलाओं को योजना का लाभ देने की कोशिश है। तीन किस्तों में लाभुकों को योजना की राशि दिलाई जाएगी। प्रथम किस्त में एक हजार रुपये का भुगतान होगा। यह भुगतान अंतिम मासिक चक्र के 150 दिनों के अंदर गर्भावस्था का पंजीकरण कराने के बाद किया जायेगा। दूसरी किस्त में 2000 रुपये का भुगतान होना है। यह भुगतान गर्भावस्था के छह माह पूरा होने पर कम से कम एक बार प्रसव पूर्व जांच के वादे किया जाना है। वहीं तीसरी किस्त में 2000 रुपये का भुगतान किया जायेगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना