• Hindi News
  • Bihar
  • Aurangabad
  • Aurangabad(Bihar) News a procession was taken out for peace and peace on the birthday of prophet hazrat mohammad

पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब के जन्मदिन पर अमन व शांति के लिए निकाला जुलूस

Aurangabad News - सिटी रिपोर्टर | औरंगाबाद ग्रामीण/अम्बा/मदनपुर पैगंबर इस्लाम हजरत मोहम्मद साहब के जन्मदिन पर रविवार को मदरसा...

Nov 11, 2019, 06:21 AM IST
सिटी रिपोर्टर | औरंगाबाद ग्रामीण/अम्बा/मदनपुर

पैगंबर इस्लाम हजरत मोहम्मद साहब के जन्मदिन पर रविवार को मदरसा फैजाने सैयदना से शहर में अमन व शांति के साथ एक भव्य जुलूस निकाला गया। जिसका नेतृत्व काजी शहर इमाम ए मिल्लत हजरत मुफ्ती सैयद असगर इमाम कादरी साहब ने किया। यह जुलूस टिकरी रोड, पठान टोली, कुरैशी मुहल्ला, जामा मस्जिद व नावाडीह मोहल्ला होते हुए वापस मदरसा पहुंचा। जामा मस्जिद के पास संबोधित करते हुए हजरत इमाम ए मिल्लत ने कहा कि हजरत मोहम्मद पूरी दुनिया के लिए रहमत बनकर आए थे। कहा कि इस्लाम धर्म में आतंक व मासूमों के कत्ल की बिल्कुल इजाजत नहीं है। इमाम ए मिल्लत ने कहा कि जिस धर्म में एक बूंद पानी भी फिजूलखर्च करने पर मनाही है, वहां बेगुनाह लोगों का खून बहाना कैसे जायज हो सकता है। जुलूस में दारुल उलूम फैजाने सैयदना के उत्तराधिकारी हजरत मौलाना सैयद अहमद कादरी अजहरी ने धारा प्रवाह तकरीर की। इस मौके पर प्रधानाचार्य मौलाना असरार, मौलाना अब्दुल कुद्दुस कादरी, हाफिज गुलाम रसूल कादरी, सचिव खान इमरोज, मोहम्मद आजाद, जियाउल मुस्तफा, अब्दुल्लाह राजा, दरे आलम कादरी, मुमताज कादरी उर्फ बब्बन, सैयद कलीम मौजूद थे।

ईद-ए-मिलाद के नाम से भी जाना जाता है यह त्योहार, जगह-जगह जुलूस का स्वागत

शहर के निकाला गया मोहम्मद साहब का भव्य जुलूस।

हजरत मोहम्मद साहब का मनाया गया पौने पैदाईश एक-दूसरे से गले मिले और खिलाई मिठाइयां

मुस्लिम धर्म के संस्थापक सल्लाहो अलैहे वसल्लम पैगम्बर हजरत मोहम्मद की 571वां जयंति रविवार को मदनपुर के दर्जी बिगहा और मोमिनपुर के मुस्लिम समुदाय के लोगों ने शांतिपूर्वक मनाई। इस दौरान मो सर्फुद्दीन आलम के नेतृत्व में एक शांति जुलूस निकाल लोगों को संदेश देने का प्रयास किया गया। मोहम्मद मोबिन ने कहा कि हजरत मोहम्मद साहब के पैगामों पर चल कर ही समाज में अमन और चैन ला सकते हैं। किसी अन्य धर्म संप्रदाय के लोगों के साथ मुहब्बत करें। सैकड़ों युवा, बुजुर्गों, बच्चें धार्मिक झंडे व बैनर लेकर जुलूस में दर्जी बिगहा मोड़ से गांव में भ्रमण कर मस्जिद तक गए। इसके बाद एक-दूसरे से गले मिले और मिठाइयां खिलाई। इस मौके पर मुमताज आलम, मौलाना सईद आदि मौजूद थे।

अम्बा में निकाले गए जुलूस में शामिल मुस्लिम समुदाय के लोग।

पैगंबर मोहम्मद के द्वारा दी गई शिक्षा को समर्पित है यह दिन

इस्लाम धर्म के आखिरी पैगम्बर मोहम्मद साहब के जन्मदिन के अवसर पर अम्बा उदयगंज मुडिला दसौती और बजरही के द्वारा भव्य जुलूस निकाला गया। इस त्योहार को ईद-ए-मिलाद के नाम से भी जाना जाता है। इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार तीसरे महीने यानी रबी-अल-अव्वल की 12वीं तारीख को 571 ई में पैगंबर हजरत मोहम्मद का जन्म हुआ था। पैगंबर मोहम्मद और उनके द्वारा दी गई शिक्षा को ये दिन समर्पित किया जाता है। इस मौके पर मो रौनक, शाहिद सैम, मो बबलू, मो वकील, मो रेहान, मो समीर, मो फहीम, अरशद, छोटू आदि मौजूद थे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना