आयुष्मान गोल्डन कार्ड से गरीबों के जीवन में आ रहा बदलाव, गंभीर बीमारियों के इलाज में राहत

Aurangabad News - आयुष्मान भारत योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक अत्यंत महत्वाकांक्षी योजना है। जिसके अंतर्गत गोल्डन कार्ड...

Nov 26, 2019, 07:36 AM IST
आयुष्मान भारत योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक अत्यंत महत्वाकांक्षी योजना है। जिसके अंतर्गत गोल्डन कार्ड धारी व्यक्ति का 1 वर्ष में 5 लाख तक के निःशुल्क इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है। अब इसका लाभ सुदूर इलाके के बसे लोगों तक पहुंचने लगा है।

इससे आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के बीमार जीवन में खुशियां वापस लौटने लगी हैं। उनकी रुग्ण काया को चिकित्सा लाभ से स्वस्थ किया जाने लगा है, और इसके लिए उनको न भाग-दौड़ करनी पड़ रही है, न अपनी जमीन-जायदाद बेचनी पड़ रही है, न जमीन गिरवी रखनी पड़ रही, न ब्याज पर पैसे लेकर मजबूर होना पड़ रहा है। यह सब आयुष्मान योजना या प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के कारण हो रहा है। इससे गरीबों के जीवन में एक बदलाव दिखने लगा है। इस योजना के बारे में नारायण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पीटल के जन संपर्क अधिकारी भूपेंद्र नारायण सिंह ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना अंतर्गत प्राप्त गोल्डन कार्ड उन गरीबों के लिए गंभीर बीमारी एवं स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों में वरदान साबित हो रहा है।

जमीने बेचने, गिरवी रखने, ब्याज पर पैसे लेने से लोगों को मिली मुक्ति, गरीब तबके को फायदा

सिटी रिपाेर्टर|डेहरी

आयुष्मान भारत योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक अत्यंत महत्वाकांक्षी योजना है। जिसके अंतर्गत गोल्डन कार्ड धारी व्यक्ति का 1 वर्ष में 5 लाख तक के निःशुल्क इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है। अब इसका लाभ सुदूर इलाके के बसे लोगों तक पहुंचने लगा है।

इससे आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के बीमार जीवन में खुशियां वापस लौटने लगी हैं। उनकी रुग्ण काया को चिकित्सा लाभ से स्वस्थ किया जाने लगा है, और इसके लिए उनको न भाग-दौड़ करनी पड़ रही है, न अपनी जमीन-जायदाद बेचनी पड़ रही है, न जमीन गिरवी रखनी पड़ रही, न ब्याज पर पैसे लेकर मजबूर होना पड़ रहा है। यह सब आयुष्मान योजना या प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के कारण हो रहा है। इससे गरीबों के जीवन में एक बदलाव दिखने लगा है। इस योजना के बारे में नारायण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पीटल के जन संपर्क अधिकारी भूपेंद्र नारायण सिंह ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना अंतर्गत प्राप्त गोल्डन कार्ड उन गरीबों के लिए गंभीर बीमारी एवं स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों में वरदान साबित हो रहा है।

अनुशंसा पर भी इलाज संभव

मुख्यमंत्री चिकित्सा अनुदान के तहत भी लोगों को इलाज की सुविधा उपलब्ध हो रही है। विधायक यदि इसके लिए स्वास्थ्य मंत्री को अनुशंषा पत्र दें तो महंगा इलाज संभव है। ऐसे कई उदाहरण हैं। विधायक सत्यनारायण सिंह की अनुशंसा के बाद यहां की शबाना खातून का इलाज संजय गांधी स्नातकोत्तर ई.ऑफ़ मेडिकल साइंस राय बरेली लखनऊ में करने के लिए बिहार सरकार से एक लाख रुपए मिले। इसी तरह पुष्कर राज को नई दिल्ली स्थित ईएमएस के पेशेंट ट्रीटमेंट एकाउंट को एक लाख रुपये दिए गए।

इस तरह ले सकते हैं योजना का लाभ

इस योजना से लाभ लेने के लिए सरकार द्वारा सूचीबद्ध किए गए अस्पतालों में मरीज को जाना पड़ता है जहां प्रारंभिक जांच अपने स्तर से करानी पड़ती है। बीमारी चिन्हित हो जाने के बाद आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत प्राप्त गोल्डन कार्ड से बीमारी का पैकेज ब्लॉक किया जाता है। तब उनका निशुल्क उपचार शुरू हो जाता है। इसके लिए संबंधित विभाग के चिकित्सक एवं मरीज के फोटो आयुष्मान के साइट पर लोड करना होता है तथा बीमारी की पूरी जानकारी मेल द्वारा विभाग को भेजी जाती है।

आयुष्मान ने दी आंखों को रौशनी

राम कृत पासवान, इटवां, थाना-परैया, जिला- गया के निवासी हैं। इनकी आंख में समस्या है। एकदम सूझता नहीं नहीं था। पेपर पढ़ सकेंगे कि नहीं यह टेंशन था। ऑपरेशन हुआ। अब सही है। आँख में लेंस लगा। खेती करते हैं। बताया कि आयुष्मान कार्ड से नारायण मेडिकल कॉलेज में इलाज कराया। स्वस्थ हूँ, और उम्मीद भी कि देख सकूंगा। अन्यथा कमाई के बूते इलाज कराना तो संभव नहीं हो पाता।

आयुष्मान योजना की वजह से हुआ डायलिसिस

गंगोली दास डेहरी के निवासी हैं। जमुहार स्थित एनएमसीएच में इनका इलाज हुआ। बोले-डायलेसिस हुआ। आयुष्मान कार्ड नहीं रहने पर इलाज कराना मुश्किल होता। आर्थिक रूप से काफी कमजोर हैं। बीड़ी बनाते-बेचते हैं। किसी तरह अपना अव परिवार का गुजर-बसर करते हैं। इसी अस्पताल में तिलौथू के चोरकप की बेबी देवी मिली। इनकी किडनी में पथरी है। तीन माह पूर्व एक ऑपरेशन हुआ था।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना