न ट्रैफिक लाइट, न ही ट्रैफिक पुलिस यहां अपने हिसाब से चलती हैं गाड़ियां

Aurangabad News - न ट्रैफिक लाइट है और न ही ट्रैफिक पुलिस की व्यवस्था। दाउदनगर शहर में अपने हिसाब से चलती है गाड़ियां। इस वजह से हर रोज...

Sep 14, 2019, 06:21 AM IST
Aurangabad(Bihar) News - neither the traffic lights nor the traffic police operate on their own
न ट्रैफिक लाइट है और न ही ट्रैफिक पुलिस की व्यवस्था। दाउदनगर शहर में अपने हिसाब से चलती है गाड़ियां। इस वजह से हर रोज सड़क जाम होना नियती सी बन गई है। भखरूआ चौक के आसपास प्रशासन के द्वारा दो चार सिपाही तो लगा दिए गए हैं। लेकिन वे कभी भी ट्रैफिक नियंत्रित करते नहीं दिखते हैं। जिससे लोग परेशान हैं। यह हाल सिर्फ भखरूआ चौक पर नहीं है। बल्कि शहर के मुख्य बाजार वाली सड़क की भी स्थिति कुछ वैसी ही है। अतिक्रमण व कुव्यवस्था से इस क्षेत्र के लोग बेहाल हैं। लेकिन प्रशासन को इससे कोई मतलब नहीं है। भखरूआ चौक के पास तो कभी-कभी स्थिति ऐसी हो जाती है कि सड़क के चारों ओर वाहन बेतरतीब तरीके से फंस जाते हैं। जिससे घंटों जाम लगा रहता है। खासकर शादी विवाह व पर्व त्योहार के मौके पर तो यह स्थिति सबसे ज्यादा उत्पन्न होती है। औरंगाबाद से पटना को जोड़ने वाली एनएच 139 पर स्थित भखरूआ मोड़ पर छोटा सा भी जाम कई किलोमीटर की लंबी दूरी तक पहुंच जाता है। एक तरह से कहा जाए तो दाउदनगर की ट्रैफिक व्यवस्था को भगवान भराेसे छोड़ दिया गया है।

अतिक्रमण व जाम से लोग परेशान, एनएच 139 को ही बना रखा है बस पड़ाव

दाउदनगर-गया मुख्य मार्ग में लगा जाम।

सभी सड़कों व चौक -चौराहों पर ऑटो चालक व ठेला वालों ने कर रखा है कब्जा, नहीं ले रहा कोई सुधि

शहर के सबसे प्रमुख भखरूआं चौक के दोनों तरफ ऑटो चालकों ने कब्जा जमा रखा है, तो दो तरफ फल बेचने वालों ने अतिक्रमण कर रखा है। इस चौक से दो कदम आगे बढ़ने पर सब्जी वालों ने अपनी दुकानें लगा रखी है। ऐसे में यहां जाम का लगना लाजमी ही है। भखरूआ चौक के पास एनएच 139 को चालकों ने बस पड़ाव बनाकर रख दिया है। एनएच पर ही बसें खड़ी रहती है। जिससे यात्री उतरते व बैठते हैं। इतना व्यस्त सड़क हाेने के कारण भी प्रशासन के द्वारा ध्यान नहीं दिए जाने से चालकों का मन बढ़ा हुआ है। कई बार तो वाहन लगाने को लेकर एक दूसरे के बीच आपस में लोग भीड़ भी जाते हैं। सड़क पर ही बस के ठहराव होने से जाम की समस्या बनी हुई है तो वहीं कई दुर्घटनाएं भी अब तक हो चुकी है। प्रशासनिक अधिकारियों के वाहन भी जाम में फंस ही जाते हैं, लेकिन इसका कोई स्थायी निदान निकालने की कोई कवायद आज तक नहीं की गई।


नगर परिषद क्षेत्र के अंदर भारी वाहनों का हो रहा परिचालन नगर परिषद क्षेत्र के अंदर भारी वाहनों के परिचालन पर रोक के लिए नो एंट्री की व्यवस्था नहीं होने से भी सड़क जाम हो जाती है। वाहन चालक ट्रैफिक व्यवस्था को अपने हाथ में लेकर वाहन चलाते हैं। इस वजह से जिसको जिधर से इच्छा होती है, उधर से चौक पार करने का प्रयास करता है। ऐसे में चौक के चारों तरफ वाहनों की लंबी लाइनें लग जाती हैं। टेंपो चालक एवं चौक के चारों तरफ ही नहीं बल्कि सड़क के मुख्य मार्ग पर अतिक्रमणकारी कब्जा कर सड़क को संकीर्ण बनाए हुए हैं।

Aurangabad(Bihar) News - neither the traffic lights nor the traffic police operate on their own
X
Aurangabad(Bihar) News - neither the traffic lights nor the traffic police operate on their own
Aurangabad(Bihar) News - neither the traffic lights nor the traffic police operate on their own
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना