पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Dev News Road Built With The Amount Of 15 Crore Is Already Debris Before Construction Is Complete

डेढ़ करोड़ की राशि से बन रही सड़क निर्माण पूरा होने से पहले ही उखड़ी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नवीनगर प्रखंड के परसा गणेश से करमडीह गांव जाने वाली सड़क का निर्माण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) के तहत पूर्ण होने से पहले ही बिखर गई। घटिया सामग्री का इस्तेमाल होने के कारण निर्माण के कुछ ही दिनों बाद सड़क कई जगहों पर टूट गई है, जिसके कारण ग्रामीण आक्रोशित हैं। लगभग एक करोड़ 63 लाख की लागत से तीन किलोमीटर दूरी तक इस सड़क का निर्माण किया जाना था। जिसका शिलान्यास केन्द्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा, स्थानीय विधायक वीरेंद्र कुमार सिंह व एमएलसी राजन सिंह ने किया था। जब उक्त सड़क की शिलान्यास हुआ तो ग्रामीणों को एक उम्मीद जगी थी। लेकिन सड़क निर्माण का कार्य पूरा होने से पहले ही टूट जाने से ग्रामीणों की उम्मीदों पर पानी फिर गया। ग्रामीण रामप्रवेश सिंह, मनोज सिंह, उमेश चंद्रवंशी आदि ने बताया कि सड़क निर्माण कर रहे शांति कंस्ट्रक्शन के द्वारा कार्य में भारी अनियमितता बरती गई है।

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत हो रहा निर्माण
परसा गणेश से करमडीह जाने वाली सड़क को दिखाते ग्रामीण।

एलाइनमेंट से हटकर किया गया है सड़क का निर्माण
ग्रामीणों की मानें तो सड़क निर्माण कार्य में खुलकर अनियमितता बरती गई है। परसा गणेश से करमडीह गांव तक लगभग तीन किलोमीटर पक्की सड़क का निर्माण किया जाना था। जिसमें 500 मीटर पीसीसी का निर्माण करना था। ठेकेदार व विभागीय अधिकारियों के साथ मिलकर कुछ जनप्रतिनिधियों ने अपने लोभ में आकर उक्त सड़क को अनुशंसित एलाइनमेंट से हटाकर 500 मीटर देवगना गांव की ओर करा दिया गया है। वहीं एस्टीमेट के अनुसार न तो मेटेरियल दिया गया है न ही रोलिंग किया गया है। सड़क कालीकरण के नाम पर सिर्फ डामर का लेप लगाकर सड़क को काला कर दिया गया है।

आठ महीने में भी नहीं पूरा हुआ सड़क का निर्माण कार्य

8 माह पूर्व उक्त सड़क का निर्माण कार्य शुरू हुआ था लेकिन संवेदक की लापरवाही के कारण अब तक पूरा नहीं हो सका है। तकरीबन 3 किलोमीटर सड़क में 500 मीटर पीसीसी किया जाना था जो अबतक नहीं हो सका। सड़क निर्माण कार्य में अनियमितता को लेकर ग्रामीणों ने अधिकारियों को आवेदन भी दिया है। लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी। यह सड़क करमडीह, बक्तोआ, देवगना, कोयलाडीह, सिमरी गांव का मुख्य मार्ग है।

सड़क निर्माण में लापरवाही बरतने वाले दोषियों के खिलाफ जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। उमेश कुमार सिंह, कार्यपालक अभियंता, ग्रामीण कार्य विभाग

खबरें और भी हैं...