पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Barahat News Barahat Phc Is Going Through Unpredictable Situation Patients Are Not Being Able To Get Electricity From 27 Hours

अापातकाल की स्थिति से गुजर रहा है बाराहाट पीएचसी 27 घंटे से बिजली नहीं मिलने से बेहाल हो रहे हैं मरीज

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
Advertisement
Advertisement
बाराहाट अस्पताल पिछले 24 घंटे से बिजली आपातकाल से गुजर रहा है। रविवार दस बजे बिजली तार में शॉट सर्किट होने से अब तक आपूर्ति जहां बहाल नहीं हो पाई है, वहीं जनरेटर के क्वायल जल जाने व ऑटोकट खराब हो जाने से बिजली की आपूर्ति पूरी तरह से बाधित है। यहां तक कि अस्पताल में लगाए गए इन्वर्टर से भी मरीज वार्ड के पंखे नहीं चलाए जा रहे हैं। जिस वजह से इस भीषण गर्मी में अस्पताल में भर्ती मरीज बेहाल हो रहे हैं। पंखा तक नहीं चलने से मरीज के परिजन किसी प्रकार भर्ती मरीज को हैंड फैन के सहारे राहत दिलाने की कोशिश में जुटे हैं लेकिन अस्पताल प्रबंधन इस कदर लापरवाह है कि रविवार को दस बजे से बिजली व जनरेटर में आई खराबी के बावजूद अब तक बिजली आपूर्ति बहाल कराने में विफल है। रविवार दस बजे जो तार शॉट सर्किट से जल गए उसे सोमवार बीतने के बाद भी बदला नहीं जा सका। जनरेटर के क्वायल व ऑटोकट में आई खराबी की वजह से जनरेटर भी डेड हो गया था। जनरेटर को दुरुस्त कराने के लिए अस्पताल प्रबंधन की नींद करीब 16 घंटे बाद टूटी और फिर सोमवार की दोपहर 3 बजे मिस्त्री को ठीक कराने के लिए लगाया गया। सोमवार की रात एक जनरेटर चालू हो पाया।

अस्पताल में भर्ती हैं 10 प्रसव व फैमिली प्लानिंग के मरीज तीन नवजात का भी हुआ है जन्म, गर्मी से सभी हो रहे बेदम
लापरवाह अस्पताल प्रबंधन की व्यवस्था इतनी बदतर है कि एक ओर अस्पताल में बिजली की समस्या है और दूसरी तरफ अस्पताल में भर्ती फैमिली प्लानिंग का ऑपरेशन तक कर दिया जा रहा है। बिजली नहीं रहने की वजह से जहां अस्पताल में भर्ती मरीज जूझ रहे थे, वहीं दूसरी ओर अस्पताल में फैमिली प्लानिंग के मरीजों को भी इस समस्या से जूझने के लिए झोंक दिया गया। 11 बेड के बाराहाट पीएचसी में अभी दस मरीज भर्ती है, जिसमें से 6 मरीज प्रसव पीड़ित हैं तो 4 मरीज फैमिली प्लानिंग के हैं। साथ ही अस्पताल में तीन महिलाओं ने तीन नवजात को भी जन्म दिया है, जिन्हें इस भीषण गर्मी में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

वार्ड के पंखे नहीं चलाए जा रहे, जिस कारण इस भीषण गर्मी में अस्पताल में भर्ती मरीज हाे रहे हैं परेशान
हैंड फेन के सहारे मरीज को राहत पहुंचाने की कोशिश करते परिजन।

अस्पताल में बिजली के साधन पर्याप्त, पर प्रबंधन है लचर
बाराहाट अस्पताल में बिजली आपूर्ति करने के लिए साधन तो पर्याप्त मात्रा में है लेकिन लचर प्रबंधन के कारण आज ऐसी स्थिति उत्पन्न हुई है। पिछले 27 घंटे से अस्पताल में पावर कट है। अस्पताल में बिजली के अलावा अपातकाल स्थिति में तीन-तीन जनरेटर के सहारे बिजली आपूर्ति करने के लिए व्यवस्था की गई है। इसके बावजूद इसे दुरुस्त नहीं रखा गया। तत्कालीक तौर पर दो बैट्रा व इन्वर्टर की व्यवस्था की गई है ताकि किसी भी सूरत में अस्पताल में अंधकार न छाए। जब अस्पताल में पूरी तरह से बिजली आपूर्ति बाधित हो गई तब जाकर अस्पताल प्रबंधन की नींद खुली है। जबकि पिछले 12 जून को ही रोगी कल्याण समिति की बैठक में अस्पताल में बेहतर बिजली पानी की व्यवस्था को लेकर चर्चा हुई थी, बावजूद इसके इस ओर ध्यान नहीं दिया गया, जिसका परिणाम आज सामने देखने को मिल रहा है।

कहते हैं मरीज, बिजली के नाम पर जल रहे हैं सिर्फ बल्व, गर्मी से हो रहे हैं परेशान
बाराहाट अस्पताल में भर्ती फैमिली प्लानिंग का ऑपरेशन कराए मरीज बीबी रसमा, सुनीता कुमारी व गर्भवती महिला उषा देवी, सुनीता देवी, सुषमा देवी आदि ने बताया कि सोमवार 10 बजे से पूरी तरह से बिजली नहीं है। पंखे तक नहीं चल पा रहे हैं, जिससे वे लोग इस भीषण गर्मी में काफी परेशान हैं। बिजली के नाम पर सिर्फ वार्ड में वल्ब जल रहे हैं लेकिन पंखे नहीं चलने के कारण उन्हें काफी लकलीफ हो रही है। बार-बार नवजात चीखने लगता है जिसे परिजन हैंड फैन के सहारे राहत पहुंचा रहे हैं।

बाराहाट पीएचसी का खराब पड़ा जनरेटर।

एएनएम की लापरवाही से हुई नवजात की मौत मामले में अब तक नहीं हुई है कार्रवाई
भास्कर न्यूज| बाराहाट

बाराहाट अस्पताल में एएनएम की लापरवाही से मंगलवार को हुए एक नवजात की मौत मामले में अबतक कोई कार्रवाई नहीं की गयी है। घटना के बाद टीम गठित कर मामले की जांच कर दोषी एएनएम पर कार्रवाई किये जाने का आश्वासन दिया गया था, लेकिन टीम गठित होने के बाद भी अबतक किसी प्रकार की जांच प्रक्रिया तक शुरू नहीं हो सकी है। जिससे परिजन भी काफी आहत है। घटना को लेकर प्रबंधक अवध किशोर श्यामला एवं प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर नीलांबर नीले के द्वारा मामले की जांच करने की बात की गई थी, लेकिन एक सप्ताह के करीब बीत जाने के बाद भी कोई जांच नहीं शुरू हुई है। मालूम हो कि मंगलवार को बाराहाट अस्पताल में प्रसव पीड़ा शुरू होने पर आरती कुमारी को भर्ती कराया गया था, जहां एएनएम इंदु देवी व सुभद्रा देवी ने लापरवाही करते हुए पहले तो दो हजार रुपये की मांग परिजनों से की, नहीं देने पर प्रसव पीड़िता को देखा तक नहीं। जब सुबह प्रसव पीड़िता ने नवजात को जन्म दे दिया, फिर भी एएएनएम ने एक घंटे तक बच्चे को नहीं देखा, उसके बाद जब देखा तो बच्चे की हालत गंभीर बताकर बांका रेफर कर दिया।

जहां बांका आने के क्रम में रास्ते में ही बच्चे की मौत हो गयी थी। इस घटना के बाद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने मामले की जांच पड़ताल कर दोषी एएनएम के विरुद्ध कार्रवाई का आश्वासन दिया था, लेकिन अबतक कोई कार्रवाई तो दूर की बात जांच प्रक्रिया तक शुरू नहीं हो सकी है। जांच शुरू नहीं होने के कारण पीड़ित परिजनों में रोष है।

इस मामले में बीडीओ शशि भूषण साहू ने कहा कि जांच टीम गठित होने के बावजूद भी जांच नहीं हो पाई है। ये युक्ति संगत बात नहीं है। वही प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ नीलांबर नीले के द्वारा बताया गया कि प्रतिनियुक्त एनम को स्पष्टीकरण पूछा गया है संतोषजनक स्पष्टीकरण नहीं आने पर उनके ऊपर उचित कार्रवाई की जाएगी।

बार-बार तार जल जाने की हो रही है समस्या
30-30 एम्पीयर का तार भी बिजली आपूर्ति के लिए लगाया गया, वह भी जल गया। बार-बार तार जल जाने की ही समस्या उत्पन्न हो रही है। वहीं जनरेटर में भी तकनीकी खराबी के कारण आपूर्ति बाधित है। मिस्त्री को जनरेटर व तार बदलने के लिए लगाया गया है। जल्द ही बिजली की आपूर्ति अस्पताल में हो जाएगी और सभी पंखे भी चलने लगेंगे। अवध किशोर श्यामला, अस्पताल प्रबंधक, बाराहाट

Advertisement

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज वित्तीय स्थिति में सुधार आएगा। कुछ नया शुरू करने के लिए समय बहुत अनुकूल है। आपकी मेहनत व प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। विवाह योग्य लोगों के लिए किसी अच्छे रिश्ते संबंधित बातचीत शुर...

और पढ़ें

Advertisement