विज्ञापन

घूरा से घर में लग गई आग, 15 महादलितों का घर हुआ राख

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 02:50 AM IST

Begusarai News - बखरी अंचल क्षेत्र के मोहनपुर पंचायत अंतर्गत तरछुआ मुशहरी गांव में आग लगने से 15 महादलित का घर जलकर राख हो गया। घटना...

Bkhri News - fire broke out in the house 15 houses of mahadalitsa were burnt
  • comment
बखरी अंचल क्षेत्र के मोहनपुर पंचायत अंतर्गत तरछुआ मुशहरी गांव में आग लगने से 15 महादलित का घर जलकर राख हो गया। घटना दोपहर करीब बारह बजे की है। आगलगी कारण घूरा से लगने को बताया जा रहा है। स्थानीय लोगों की तत्परता से आग पर काबू पाया जा सका। घटना में अनाज, कपड़ा, फर्नीचर, नगदी सहित लाखों रुपए मूल्य की संपत्ति जलने का अनुमान लगाया जा रहा है। इसके अलावा तीन बकरी भी आग की भेंट चढ़ गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार, शनिवार की दोपहर तरछुआ मुशहरी निवासी दामोदर सदा के फूस घर में लगे घूरे से अचानक घर में आग लग गई और देखते ही देखते आसपास के 15 घरों को अपने आगोश में ले लिया। घटना के समय अधिकांश लोग खेत पर काम करने के लिए निकले हुए थे।

सूचना पाकर जबतक घरवाले अपने सामानों को बचाने के लिए पहुंचे तबतक सबकुछ आग की भेंट चढ़ चुका था। आग पर काफी हद तक काबू पा लिए जाने के बाद दमकल की गाड़ी घटनास्थल पर पहुंची। पूर्व जिला पार्षद जवाहर सिंह, मुखिया रेणुका देवी, पूर्व मुखिया उमेश राम आदि ने मौके पर पहुंचकर राहत कार्य का जायजा लिया। मुखिया रेणुका देवी ने बताया कि सभी अग्नी पीड़ित परिवारों को फिलहाल पंचायत के तरफ से तीन तीन हजार रुपए नगदी दी जा रही है। इधर सीओ नवीन कुमार ने बताया कि सभी पीड़ित परिवारों को प्लास्टिक सीट उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके अलावा प्रति परिवार 98 सौ राशि मुआवजा के तौर पर मुहैया कराया जाएगा।

सबकुछ जलकर हुआ खाक।

इन लोगों के जले घर

आगलगी की घटना में दामोदर सदा, देवनारायण सदा, अर्जुन सदा, महेश्वर सदा,अजय सदा, कृष्णा सदा, अमरजीत सदा,नागो सदा, अरविंद सदा, गोविंद सदा, मुन्ना सदा, बहादुर सदा, अनिल सदा के अलावे दामोदर सदा के पुत्र अरविंद सदा व अर्जुन सदा का घर जलकर राख हो गया।

अगलगी में लोगों के घर ही नहीं अरमान भी हुए राख

तरछुआ मुशहरी में लगी भीषण आग में लोगों के घर ही नहीं अरमान भी जलकर राख हो गए। लोगों के घर में रखे सामान आग में धू-धू कर जल रहे थे तो वे थोड़ा सब्र कर थे। लेकिन जबतक आग पर काबू पाया जाता तबतक सबकुछ राख की ढेर में तब्दील हो चुका था। ऐसा लग रहा था मानो इनका कलेजा मुंह को आ गया। इनमें से कई लोग नगदी व जेवर अपनी बेटी की शादी के लिए जमा कर रखा था। कोई इलाज के लिए बैंक से रुपए निकाला ही था। सबसे ज्यादा क्षति देवनारायण सदा के किराना दुकान को पहुंचा। उक्त दुकान में रखा सारा समान तथा बीस हजार रुपए नगदी भी जलकर राख हो गया। यह दुकान देवनारायण व उसके परिवार के आजीविका का एकमात्र साधन था। वहीं अमरजीत सदा की प|ी बेटी की शादी के लिए तीस हजार रुपए रखी हुई थी। जो आगे की भेंट चढ़ गया। इसके अलावा अर्जुन सदा के घर में रखे गहने, गोविंद सदा का 5 हजार, महेश्वर सदा, अरविंद सदा, अजय सदा का तीस हजार तथा दामोदर सदा के पुत्र अरविंद सदा का दस हजार रुपए व साइकिल जलकर राख हो गया।

X
Bkhri News - fire broke out in the house 15 houses of mahadalitsa were burnt
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन