• Hindi News
  • Bihar
  • Begusarai
  • Begusarai News four people of same family drowned while choosing snail in sahara chaura of harakpura village of garhpura family members created chaos

गढ़पुरा के हरखपुरा गांव के सहरा चौर में घोंघा चुनने के दौरान एक ही परिवार के चार लोगों की डूबने से मौत, परिजनों में मचा कोहराम

Begusarai News - सिर्फ वही नकारात्मक खबर जो अापको जानना जरूरी है। जान पर खेलकर महिला को बचाया, लेकिन हालत गंभीर भास्कर टीम|...

Nov 11, 2019, 06:36 AM IST
सिर्फ वही नकारात्मक खबर जो अापको जानना जरूरी है।

जान पर खेलकर महिला को बचाया, लेकिन हालत गंभीर

भास्कर टीम| भगवानपुर/गढपुरा

गढ़पुरा के हरखपुरा गांव के सहरा चौर में घोंघा चुनने के दौरान एक ही परिवार के चार लोगों की डूबने से मौत हो गई, जबकि एक को बचाया गया। रविवार को स्नान के क्रम में जिले के अलग-अलग घटनाओं में आठ लोगों की डूब कर मौत हो गई। गढ़पुरा के हरखपुरा में हुई घटना में एक ही परिवार के चार लोगों की मौत हो गई, हालांकि इस घटना में एक को स्थानीय लोगों ने बचा लिया। वहीं भगवानपुर प्रखण्ड क्षेत्र के बलान नदी में रविवार को नहाने के क्रम में अलग-अलग जगहों पर 4 की मौत हो गयी व एक किशोरी को बचा लिया गया। नदी में डूबे 2 किशोरी एवं एक किशोर के शव को बरामद कर लिया गया। एक डूबे युवक की खोजबीन की जा रही है। शाम हो जाने के कारण शव के खोजने का काम बंद कर दिया गया। डीएम अरविंद कुमार वर्मा ने बताया कि प्रशिक्षित गोताखोरों के माध्यम से सोमवार को शव खोजने का काम फिर से शुरू किया जाएगा। यह घटना बलान नदी के पुरानी घाट दामोदरपुर, मुजाहिदपुर व मानोपुर घाट पर घटी। कोरैय पंचायत के हरखपुरा गांव के पूरब सहरा चौर में रविवार दोपहर में घोंघा चुनने के दौरान गहरी खाई में चले जाने से एक के बाद एक करके पांच लोग डूब गए। सभी एक ही परिवार के थे, जिसमें 4 की मौत हो गई तथा एक को बचा लिया गया। मरने वालों में वार्ड 3 निवासी दिनेश दास की शादीशुदा बेटी सोनी देवी (26), दूसरी पुत्री सुलेखा कुमारी (16), पुत्र सुमित कुमार (14) एवं भतीजी खुशबू कुमारी (12) शामिल है। खुशबू संजीत दास की बेटी थी। जबकि दिनेश दास की प|ी लालमुनी देवी (45) को बचा लिया गया। लालमुनी देवी को गंभीर स्थिति में इलाज के लिए पीएचसी भेजा गया। जहां से बेगूसराय सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया है, लालमुनी देवी की स्थित गंभीर बनी है। घटना की जानकारी होते ही पूरे गांव में कोहराम मच गया है। एक ही परिवार के 4 लोगों की मौत हो जाने से पूरा गांव स्तब्ध है। घटना की जानकारी होते ही बीडीओ संजीत कुमार, सीओ प्रेम कुमार शर्मा, थाना अध्यक्ष प्रतोष कुमार, मुखिया शंभू झा, पंचायत समिति सदस्य विपिन कुमार सिंह आदि लोग पहुंचकर परिजनों को सांत्वना दे रहे थे।

गढ़पुरा में जेसीबी से खोदे गड्ढे और भगवानपुर में बलान नदी में डूबने से 8 की मौत, दो को बचाया

सभी एक साथ गए थे चौर

घटना के संबंध में बताया गया है कि दिनेश दास की प|ी लालमुनी देवी, पुत्री सोनी देवी, सुलेखा कुमारी, पुत्र सुमित कुमार तथा भतीजी खुशबू कुमारी गांव से पूरब करीब आधा किलोमीटर दूर सहरा चौर घोंघा चुने गए, इसी दौरान सुलेखा कुमारी पानी से भरे गहरे खाई में चली गई और डूबने लगी। बेटी को डूबते देख लालमुनी देवी उसे बचाने गई तो वह भी गहरी खाई में डूबने लगी। इसके बाद बड़ी पुत्री सोनी देवी, पुत्र सुमित कुमार व भतीजी खुशबू कुमारी भी दोनों को बचाने के क्रम में डूबने लगी, इसी दौरान बचाने के लिए सभी शोर मचाने लगे। घटनास्थल से कुछ दूर हटकर एक व्यक्ति बांस की करची काट रहे थे जिन्होंने अपनी जान पर खेलकर लालमुनी देवी को पानी से बाहर निकाला तथा गांव आकर लोगों को घटना की जानकारी दी।

ग्रामीण संतोष दास ने लालमुनी देवी की बचाई जान

घटनास्थल से कुछ दूर हटकर बांस की करची काट रहे ग्रामीण संतोष दास ने बताया कि बांस पर चढ़कर करची काट रहे थे। इसी दौरान बचाओ-बचाओ की आवाज सुनने के बाद बांस से नीचे उतर कर जिधर से चीखने चिल्लाने की आवाज आ रही थी उधर गया। देखा पांच लोग पानी से भरे खाई में डूब रहे हैं, यह देखते ही तुरंत पानी में गया, सभी ने मुझे पकड़ लिया। जिसके बाद मै भी डूबने लगा। अपने आप को डूबते देख पानी में डुबकी लगाया तथा लालमुनी देवी की सारी पकड़कर किनारे की तरफ खींचा। किनारे पहुंचकर उसे पानी से बाहर निकाला, उसके बाद हम भी शोर मचाने लगे। कुछ दूर हट कर दो-तीन आदमी आलू रोप रहे थे, वे लोग भी पहुंचे। दोबारा जब तक पानी में गए सभी डूब गया। इसके बाद सभी मिलकर लालमुनी देवी को गांव लाया तथा ग्रामीणों को जानकारी दी। जानकारी होते ही ग्रामीण चौर की तरफ दौड़ पड़े, ग्रामीणों ने पानी से भरे गड्ढे में जाकर काफी मशक्कत के बाद एक-एक करके चारों शव को बाहर निकाला।

मानोपुर में नहाने के क्रम में किशोर की गई जान

भगवानपुर में नदी में डूबे 2 किशोरी और एक किशोर के शव को बरामद कर लिया गया है

हरखपुरा गांव मे चौर में डूबने से हुई मौत के बाद मृतक को देखने उमड़ी भीड़।

पांच संतान थे दिनेश दास को

बताया गया है कि दिनेश दास को पांच संतान थे, जिसमें दो बेटी सोनी व सुलेखा तथा तीन बेटा अमित, सुमित और नीतीश था। मेहनत मजदूरी कर वे परिवार का भरण-पोषण किया करते थे। किसी तरह बड़ी बेटी सोनी की शादी करीब 3 साल पहले कुमरटोल गांव में किया था। लेकिन भगवान को कुछ और ही मंजूर था। दो बेटी व एक बेटा की मौत गड्ढे में डूबने से हो गई। वहीं दिनेश के भाई संजीत दास को एक बेटा रौशन व एक बेटी खुशबू थी। जिसमें बेटी की मौत हो गई।

जेसीबी से खोदा गया था गड्ढा

बताया गया है कि चौर में कुछ दिन पहले जेसीबी से गड्ढा खोदा गया था। दुर्गा पूजा के समय लगातार हुई वर्षा से चौर में पानी भरा हुआ था। किसी को गड्ढे का पता नहीं था। गड्ढे की जानकारी नहीं रहने के कारण सभी उसमें डूब गए।

तीसरी घटना इसी नदी के मानोपुर घाट पर हुई। इसमें मानोपुर निवासी अनिल साह के 12 वर्षीय पुत्र लक्की कुमार की नदी में नहाने के क्रम में गरक जाने के कारण डूबने से मौत हो गई। ग्रामीणों के सहयोग से उसके शव को निकाला गया। घटना की सूचना पाकर सीओ कुमार नलिनीकांत, थानाध्यक्ष दीपक कुमार,एएसआई विनोद कुमार पाल घटनास्थल पर पहुंचकर मानोपुर में डूबे किशोर के शव को जब्त कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल बेगूसराय भेज दिया है। मुजाहिदपुर में डूब कर मरी दोनों किशोरी के परिजनों द्वारा शव का पोस्टमार्टम कराने से इनकार करने पर दोनों किशोरी के शव को परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया। दूसरी तरफ दामोदरपुर पुरानी घाट पर डूबे युवक की खोजबीन की जा रही है।

बच्चे की मौत के बाद शव को उठाकर ले जाते परिजन।

बलान नदी में डूबने से हुए मौत के बाद बिलखते परिजन।

तीन सहेलियों ने नदी में लगाया छलांग, दो डूबकर मरी

दूसरी घटना बलान नदी के मुजाहिदपुर घाट पर हुई। नदी में स्नान करने के क्रम में 3 किशोरी नदी में डूब गई जिसमें से 2 किशोरी की डूबने से मौत हो गई व एक किशोरी को बचा लिया गया। इस घटना में मुजाहिदपुर निवासी मो. अली हसन की 13 वर्षीया पुत्री गुड़िया खातून उर्फ रुदा खातून व तेघड़ा थाना क्षेत्र के अयोध्या निवासी मो. अनीस की 12 वर्षीया पुत्री हेना प्रवीण की मौत हो गई। जबकि नदी में डूब रही मो. अनीस की 13 वर्षीया पुत्री रोशनी खातून को ग्रामीणों ने बचा लिया।

सोनी देवी छठ पर्व में आई थी नैहर

जानकारी के अनुसार करीब 3 साल पहले सोनी देवी की शादी कुम्हारसों पंचायत के कुमरटोल गांव में सनोज दास से हुई थी। सोनी देवी को मात्र 1 साल का एक लड़का है। वह छठ पर्व में मां को मदद करने नैहर आई थी। मगर भगवान को कुछ और ही मंजूर था। वह वापस ससुराल लौट कर नहीं जा पाई और असमय काल के गाल में समा गई।

डूबने के दौरान हाथ से इशारा किया लोगों ने नदी में कूद कर बचाई जान

ग्रामीणों ने बताया कि 1 बजे दिन में तीनों स्नान करने बलान नदी गयी थी, किसी को तैरने नहीं आता था। उस घाट पर मिट्टी की कटाई हुई थी। घाट बहुत गहरा था। गहरे गड्ढे में सरक जाने के कारण डूब गई। परिजनों ने बताया कि डूबी लड़की मकई रोप कर घर आई व सहेलियों के साथ स्नान करने चली गयी। तीनों बच्ची डूबने लगी तो रोशनी ने इशारा कर गुहार की। तब लोगों ने उसे बचाया जबकि दो अन्य डूब गई।

गोताखोर आज खोजेंगे शव

पहली घटना दामोदरपुर के पुरानी घाट पर हुई। इसमें ससुराल आए दामोदरपुर निवासी दिलचन्द मल्लिक के 26 वर्षीय दामाद संतोष मल्लिक नहाने के दौरान नदी के गहरे पानी में सरक गया। सोमवार को गोताखोरों के माध्यम से शव खोजने का काम किया जायगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना