• Hindi News
  • Bihar
  • Begusarai
  • Mansurchak News vrinda karat said if we raise the voice of poor and laborer if we are anti national then we are anti national

वृन्दा करात ने कहा- गरीब, मजदूर की आवाज को उठाना अगर राष्ट्र विरोधी है तो हम राष्ट्र विरोधी हैं

Begusarai News - एनआरसी एक प्रकार का त्रिशूल है, धर्म का नहीं, ये सरकार की गैर संवैधानिक त्रिशूल है, जो हिन्दुस्तानियों के दिल पर...

Jan 24, 2020, 08:30 AM IST
Mansurchak News - vrinda karat said if we raise the voice of poor and laborer if we are anti national then we are anti national

एनआरसी एक प्रकार का त्रिशूल है, धर्म का नहीं, ये सरकार की गैर संवैधानिक त्रिशूल है, जो हिन्दुस्तानियों के दिल पर आघात है। उक्त बातें बछवाड़ा के रेलवे लोहिया मैदान में गुरुवार को शहीद पखवाड़ा के समापन समारोह को संबोधित करते हुए सीपीएम के राष्ट्रीय प्रवक्ता व पूर्व राज्य सभा सांसद वृन्दा करात ने कही। उन्होंने कहा कि केंद्र की सरकार इतनी घमंडी हो गई है कि हिन्दुस्तान की जनता को चुनौती दे रही है। उन्होंने कहा कि हम आज आजादी की बात करते हैं। पूंजीवाद, भ्रष्टाचार और मनुवाद से हमें आजादी चाहिए। गरीब मजदूरों की आवाज को उठाना अगर राष्ट्र विरोधी है तो हम राष्ट्र विरोधी हैं। लेकिन असली राष्ट्र विरोधी देश के मंत्री हैं जो आम जनता को लूटकर अंबानी और अदानी को जेब भरने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज सरकार वैसे कानून बनाने का काम कर रही है जो देश को जाति, धर्म के नाम पर बांटने का काम कर रही है। एनपीआर के तहत गरीब लोगों को परेशान करने की साजिश रची जा रही है। सीएए कानून संविधान पर हमला है जिसे हम कभी स्वीकार नहीं करेंगे। हम भारत के लोग गरीब हो सकते हैं लेकिन भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने व दिल्ली में बैठकर राजनीति करने वाली केंन्द्र सरकार को सबक सिखाने का काम करेंगे। उन्होंने कहा कि भारत में असमानता बढ़ रही है। मनरेगा में प्रतिवर्ष पांच हजार करोड़ खर्च की जाती है लेकिन मजदूरों को छह-छह माह तक मजदूरी नहीं दी जाती है। 40 वर्षों में सबसे ज्यादा बेरोजगारी मोदी सरकार में हुई है। उन्होंने कहा कि केरल सरकार द्वारा एनपीआर, सीएए, एनआरसी कानून को अपने राज्य में लागू नहीं करने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि जदयू जब भाजपा से अलग था तब नीतीश कुमार बोले थे कि हम कभी भाजपा के साथ नहीं जाएंगे लेकिन अपनी कुर्सी बचाने के लिए वर्तमान में जदयू ने भाजपा के साथ बिहार में सरकार बनाने काम किया। इस दल-बदलू सरकार को आगामी छह माह के बाद होने वाले विधान सभा के चुनाव में हम जनता सबक सिखाने का काम करेगे।

पूर्व विधायक ने कहा-शहीदों की धरती रही है बछवाड़ा

विभूतिपुर के पूर्व विधायक व सीपीएम नेता रामदेव वर्मा ने कहा कि बछवाड़ा हमेशा शहीदों की धरती रही है। यहां आम लोगों पर हो रहे अत्याचार, भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने वाले लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। सभा को पूर्व जिला परिषद् सदस्य रामोद कुंवर, महिला संघ के राज्य सचिव नीलम कुमारी, पूर्व विधायक सह राज्य सचिव मंडल सदस्य राजेन्द्र सिंह, जिला मंत्री सुरेश यादव, एसएफआई के राज्य महासचिव निशांत कुमार समेत अन्य कार्यकर्ताओं ने संबोधित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता रामोद कुंवर ने किया। मौके पर आदित्य नरायण चौधरी, दिनेश सिंह, उमेश कुंवर कवि, कैलाश झा, जगदीश पोद्दार, रामानंद साह, मो. काशीम, र|ेश ठाकुर, र|ेश झा,अजय यादव समेत हजारों की संख्या में महिला पुरुष कार्यकर्ता मौजूद थे। अंतिम दिन बछवाड़ा बाजार समेत इलाके में लाल झंडे से पूरी तरह पटा रहा। विभिन्न पंचायत से बैड बाजे हाथी घोड़े के साथ सैकड़ों की संख्या में सीपीएम कार्यकर्ता के हाथ में लाल झंडा लिए बछवाड़ा के शहीद भासो कुंवर समेत विभिन्न शहीद स्थल पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। बछवाड़ा, मंसूरचक, भगवानपुर समेत दियारे के विभिन्न इलाके से महिला पुरुष हाथ में तीर धनुष लेकर प्रदर्शन करते हुए सभा स्थल तक पहुंचा।

सभा को संबोधित करते सीपीएम नेत्री।

X
Mansurchak News - vrinda karat said if we raise the voice of poor and laborer if we are anti national then we are anti national

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना