24 घंटे उपलब्ध रहेंगे डाॅक्टर बनाया गया एक अलग वार्ड

Bettiah Bagha News - बच्चो में तेजी से फैल रहे चमकी बुखार के पीड़ितों को कोई विलंब किए बिना उचित इलाज उपलब्ध कराने के लिए अनुमंडलीय...

Bhaskar News Network

Jun 15, 2019, 06:25 AM IST
Bagha News - a 24 hour doctor will be available for a separate ward
बच्चो में तेजी से फैल रहे चमकी बुखार के पीड़ितों को कोई विलंब किए बिना उचित इलाज उपलब्ध कराने के लिए अनुमंडलीय अस्पताल में एक अलग वार्ड की व्यवस्था की गई है। इस वार्ड में चिकित्सक व कर्मी आवश्यक दवाओं के साथ 24 घंटे उपलब्ध रहेंगे। कुल मिलाकर बच्चों के बीच तेजी से संक्रमणशील इस रोग पर प्रभावी नियंत्रण के लिए अनुमंडलीय अस्पताल अब हाई अलर्ट मोड में है। अस्पताल उपाधीक्षक डा. एसपी अग्रवाल ने बताया कि वरीय विभागीय अधिकारियों से प्राप्त निर्देश के आलोक में चमकी बुखार से निपटने के पूरी तत्परता बरती जा रही है। चिकित्सकों व कर्मियों को कत्तई कोई लापरवाही नहीं बरतने की सख्त हिदायत दी गई है। अस्पताल में इस रोग से पीड़ित बच्चों के ससमय उचित इलाज के लिए अलग वार्ड का गठन कर दिया गया है। यहां उपलब्ध चिकित्सक व कर्मी किसी भी परिस्थिति से निबटने के लिए तैयार रहेंगे। इस वार्ड के लिए चिकित्सकों व कर्मियों का रोस्टर तैयार कर सभी लोगों को हाई अलर्ट कर दिया गया है।

बैठक में उपस्थित डॉक्टर व अन्य।

तेज बुखार आना, शरीर में दर्द व ऐंठन है प्रमुख लक्षण

अस्पताल उपाधीक्षक डाॅ. अग्रवाल ने चमकी बुखार के लक्षणों के बाबत बताया कि तेज बुखार आना, शरीर में दर्द व ऐंठन आदि नजर आए तो पीड़ित बच्चे व किशोर को फौरन अस्पताल पहुंचाने की जरूरत है। तनिक भी लापरवाही घातक हो सकती है। एक वर्ष से 13-14 वर्ष तक के बच्चों को यह रोग अपनी चपेट में ले रहा है।

दिन में दो बार नहाने, आसपास सफाई रखने काे कहा

डाॅ. अग्रवाल ने इस रोग से बचाव के लिए एहतियातों की जानकारी देते हुए बताया कि बच्चों को धूप में नहीं निकलने दें। दिन में कम से कम दो बार बच्चों को स्नान जरूर कराएं। घर व आसपास का माहौल हमेशा स्वच्छ रखें। सफाई पर पूरा ध्यान दें। घर में भूल से भी कोई गंदी चीज या कचरा आदि नहीं रहे, इसका ख्याल रखें। रात में सोते समय मच्छरजाली का इस्तेमाल जरूर करें। अगर किसी को बुखार या शरीर मे दर्द, बुखार की शिकायत मिले तो पहले पैरासिटामोल का टैबलेट उम्र के हिसाब से दें। ओआरएस का घोल अवश्य पिलाएं।

पीएचसी में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने कर्मियों के साथ की बैठक, दिए टास्क

पिपरासी |
प्रखंड स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के सभागार में शुक्रवार को प्रभारी चिकित्सा प्रभारी रविन्द्र कुमार मिश्रा की अध्यक्षता में सभी एएनएम, आशा, आशा फासिलेटर की एक विशेष बैठक संपन्न हुई। बैठक में उपस्थित सभी स्वास्थ कर्मियों को राज्य स्तर पर हुए जेई व एई बीमारी के संबंध में प्रशिक्षण प्राप्त डॉ महेंद्र कुमार सिंह प्रशिक्षण दिया। प्रभारी चिकित्सा प्रभारी ने बताया कि सभी आशा को एई से संबंधित सर्वे के लिए एक फार्मेट दिया गया और निर्देश दिया गया कि सभी लोग अपने अपने कार्य क्षेत्र में रोजाना डोर टू डोर जाकर सर्वे करना है साथ ही सर्वे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट को रोजाना शाम तक पीएचसी में जमा करे। वही जापानी बुखार से संबंधित किसी मे कोई लक्षण की सूचना मिलती हो तो तुरंत इसकी सूचना पीएचसी को दे। वही उन्होंने बताया कि इस जापानी इंसफ्लाइटिस के उपचार से संबंधित सभी प्रकार की दवा स्वास्थ केंद्र में मौजूद है। वहीं, उन्होंने बताया कि इसके इलाज के लिए एक अलग जेई वार्ड की स्थापना की गई है।

X
Bagha News - a 24 hour doctor will be available for a separate ward
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना