बाढ़ से प्रभावित इंडो-नेपाल बॉर्डर से सटे गांव का सीअाे ने किया निरीक्षण

Bettiah Bagha News - प्रखंड क्षेत्र में लगातार 5 दिनों से हो रही बारिश के बाद ओरिया नदी में उफान से इंडो-नेपाल बॉर्डर के सटे खम्हियां,...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:00 AM IST
Mainatand News - inspection by cea of village adjacent to flood hit indo nepal border
प्रखंड क्षेत्र में लगातार 5 दिनों से हो रही बारिश के बाद ओरिया नदी में उफान से इंडो-नेपाल बॉर्डर के सटे खम्हियां, इनरवा, इनरवा बाजार, नगरदेही तथा नेपाल के दसौता गांव खतरे के निशान पर है। इनरवा, खम्हियां व इनरवा बाजार में बाढ़ का पानी घुस जाने के कारण कुछ ग्रामीण सुरक्षित जगह पर जाने के लिए पलायन शुरू कर दिए। इसको लेकर अंचल प्रशासन पूरी तरह सक्रिय है। बाढ़ से प्रभावित इंडो-नेपाल बॉर्डर से सटे गांव का निरीक्षण कर शुक्रवार को सीओ अनिल भूषण, इनरवा थानाध्यक्ष उदय कुमार, इनरवा पंचायत के मुखिया अशोक कुमार कुशवाहा, उप मुखिया आनंद मिश्रा, जदयू के प्रखंड अध्यक्ष वीरेंद्र कुशवाहा आदी ने भ्रमण कर गावों का जायजा लिया। मौके पर सीओ ने अलर्ट जारी करते हुए ग्रामीणों से रात भर जागे रहने व सुरक्षित जगह पर रहने की अपील की तथा बाढ़ के पानी कि रफ्तार तेज होने के कारण नहर के पानी को बाढ का पानी रिवर्स कर रहा था। रिवर्स होने के कारण पांच दशक पूर्व बने पुल में कंपन हो रहा था। इसको लेकर ग्रामीणों से इस पुल से आवागमन नहीं करने की अपील की।

थानाध्यक्ष ने चौकीदारों को दिए निर्देश | वही इनरवा थानाध्यक्ष बाढ की भयावह स्थिति को देखते हुए पुल पर चौकीदारों की तैनाती कर दी तथा इस पुल के रास्ते को बांस लगाकर बंद करा दिया ताकि कोई व्यक्ति इस पुल के रास्ते से आवागमन न कर सके। थानाध्यक्ष ने बताया कि पुलिस बल के साथ रात भर बॉर्डर के सटे इलाकों में गस्त तेज कर बाढ प्रभावित गांवों का जायजा लिया गया ताकि किसी तरह का समस्या उतपन्न न हो। वहीं मौके पर उपस्थित इनरवा पंचायत के मुखिया अशोक कुमार कुशवाहा, उप मुखिया आनंद मिश्रा, जदयू के प्रखंड अध्यक्ष वीरेंद्र कुशवाहा सहित दर्जनोंधिक ग्रामीणों ने सीओ अनिल को इनरवा एसएसबी चेक पोस्ट के समीप 10 फीट चौड़ा और 10 फीट गहरा सायफन के बारे मे अवगत कराया। उन्होंने बताया की इसी सायफन से ओरिया नदी में उफान के बाद बाढ़ के पानी का निकासी होता था और सरेहो मे पानी बिखर जाता था और बॉर्डर के सटे इलाकों में बाढ़ को लेकर भयावह स्थिति नहीं होती थी।

X
Mainatand News - inspection by cea of village adjacent to flood hit indo nepal border
COMMENT