पुलिस मुखबिरी के संदेह में नक्सलियों ने गला रेत कर की भाजपा नेता की हत्या

Bettiah Bagha News - भास्कर न्यूज |धरहरा (मुंगेर) पुलिस मुखबिरी और संगठन के नाम पर लेवी वसूल कर अपने पास रख लेने का आरोप लगाते हुए...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 06:36 AM IST
Bairiya News - naxalites strangled bjp leader on suspicion of police informer
भास्कर न्यूज |धरहरा (मुंगेर)

पुलिस मुखबिरी और संगठन के नाम पर लेवी वसूल कर अपने पास रख लेने का आरोप लगाते हुए प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी ने गुरुवार देर रात भाजपा एससीएसटी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष दिनेश कोड़ा की गला रेतकर हत्या कर दी। घटना मुंगेर के लड़ैयाटांड थाना क्षेत्र के सतघरवा की है। भाजपा ज्वाइन करने से पहले दिनेश इसी संगठन से जुड़ा था। मौके पर पहुंची पुलिस ने लाल स्याही से लिखा एक पर्चा बरामद किया है। पर्चे में दिनेश की हत्या करने के तीन कारण बताए गए हैं। पर्चा के मुताबिक दिनेश पर लेवी वसूलने, पार्टी से गद्दारी कर पुलिस मुखबिरी करने और पार्टी के नाम पर जनता को धोखा देने का आरोप है।

दिनेश की प|ी शेखपुरा में है सरकारी शिक्षिका : शुक्रवार सुबह कुछ लोगों ने जंगल में भाजपा नेता दिनेश कोड़ा की लाश पड़ी देखी। तब ग्रामीणों ने इसकी जानकारी मृतक के परिजनों को दी। दिनेश की प|ी शेखपुरा में सरकारी स्कूल में टीचर है। उन्हें भी फोन कर घटना के बारे में जानकारी दी गई।

सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस जब शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने लगी तब लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। लोगों का कहना था कि जब तक उनकी प|ी नहीं आ जाती, शव को नहीं ले जाने देंगे। इधर, मृतक की बहन मूर्ति देवी ने पुलिस टीम के सामने टिल्लाटांड निवासी कुछ लोगों पर जमीन विवाद में दिनेश की हत्या करने का आरोप लगाया है। मूर्ति देवी ने कहा कि हत्यारों ने हत्या के बाद पुलिस को गुमराह करने के लिए नक्सली पर्चा फेंककर घटना काे नक्सली रूप देने का प्रयास किया है। इस घटना से ग्रामीणों में दहशत व्याप्त है।

पहले नक्सलियों के लिए काम करता था दिनेश

एसपी गौरव मंगला ने बताया कि यह जांच का विषय है। पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है। भाजपा नेता दिनेश कोड़ा पहले नक्सली संगठन के लिए काम करते थे। 2008 में नक्सलियों द्वारा दो लोग क्रमश: रामचंद्र यादव व पुलिस चौकीदार सुबुक पासवान की हत्या मामले में दिनेश नामजद आरोपी था। तब दिनेश जेल भी गया था। हालांकि 2010 में जेल से छूटने के बाद वह मुख्यधारा में लौटा और 014 में मुंगेर के भाजपा एससीएसटी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष बने।

गोलियों की तड़तड़ाहट से थर्राया शंकरपुर दियारा, तीन जख्मी

भागलपुर में दो गांवों के बीच तनाव

भास्कर न्यूज |भागलपुर

नाथनगर प्रखंड का शंकरपुर दियारा शुक्रवार को बम धमाका अौर गोलियों की तड़तड़ाहट से थर्रा उठा। नौ िसंतबर को शंकरपुर बिंद टोला अौर बैरिया के ग्रामीणों के बीच हुए अभद्र व्यवहार-मारपीट विवाद व केस को लेकर दोनों पक्षों के लोग शुक्रवार को मरने-मारने पर उतारू हो गए। दोनों पक्षों की अोर से जमकर मारपीट, गोलीबारी अौर बमबाजी हुई। दोनों पक्षों के ग्रामीणों का दावा है कि 100 राउंड गोली अौर सात बम चले हैं, लेकिन पुलिस को मौके पर से मात्र एक खोखा अौर एक कारतूस मिले हैं। गोलीबारी में एक पक्ष से शंकरपुर गांव निवासी सुनील महतो अांशिक रूप से जख्मी हुअा है। गोली उसके कान को छूते हुए निकल गई। जबकि उसकी भाभी नीलम देवी मारपीट में जख्मी हुई है। दूसरे पक्ष से बैरिया गांव निवासी अवधेश महतो मारपीट में जख्मी हुअा है।

X
Bairiya News - naxalites strangled bjp leader on suspicion of police informer
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना