मोहम्मद साहब के बताए रास्ते पर चलने की जरूरत

Bettiah Bagha News - पैगंबर मोहम्मद साहब का जन्मदिन मुस्लिम समुदायों के लोगों ने रविवार को धूम-धाम से मनाई। इस दौरान महोदीपुर, मीरटोला,...

Nov 11, 2019, 08:22 AM IST
पैगंबर मोहम्मद साहब का जन्मदिन मुस्लिम समुदायों के लोगों ने रविवार को धूम-धाम से मनाई। इस दौरान महोदीपुर, मीरटोला, हरी पकडी, मझौलिया आदि जगहों पर मुस्लिम समाज के लोगों ने जुलूस भी निकाला। विभिन्न मस्जिदों से निकलकर जुलूस चौक-चौराहे से होते हुए पुन: मस्जिदों पर पहुंचा जहां मुस्लिम समाज के लोगों ने विशेष नमाज अदा किया। मोहम्मद साहब के जन्मदिन को मुस्लिम समाज के लोग बारह अव्वल एवं मोहम्मदी के नाम से मनाते हैं। जुलूस के दौरान सभी हाथों में तिरंगे लहराते हुए वतन से वफादारी करो... का नारा लगा रहे थे। जुलूस में महिला, पुरुष व बच्चे शामिल रहे।

पैगंबर ने अमन व शांति का दिया था पैगाम : मौलाना मोहम्मद नूर आलम ने बताया कि इस्लाम धर्म के संस्थापक हजरत मोहम्मद साहब का जन्म आज के ही दिन मक्का में हुआ था। उन्होंने कहा कि जुलूस ने अमन व शांति का पैगाम दिया। मोहम्मद साहब ने गिरते को उठाना, रोते को हंसाना, टूटे हुए को जोड़ना व बिछड़े को मिलाने का संदेश दिया था। उन्होंने समाज के सभी लोगों को मोहम्मद साहब के आदर्शों पर चलने को कहा। मौके पर मोहम्मद मुस्तफा, अफसर आलम, अख्तर आलम, मुख्तार मीर, तबरेज़ आलम, हलीम आलम, रियाजुल हक, फिदा हुसैन, अमजद आलम, सैनुल्लाह आलम, नूर महम्मद मियां, मेराज आलम आदि मौजूद थे।

जुलूस में मौजूद लोग।

ईद ए मिलाद उन्न नबी पर पैगंबर को किया याद

बगहा|ईद ए मिलाद उन्न नबी के अवसर पर इस्लाम धर्म के प्रवर्तक हजरत मोहम्मद साहब को पूरी श्रद्धा के साथ याद किया गया। इस अवसर पर इंसानियत व सदभावना के प्रतीक मोहम्मद साहब को खेराज ए अकीदत पेश की गई। मदरसा शहीदिया कासिमुल उलूम, बोरवल व मंझरिया समेत रमवलिया में जलसा व नातिया कलाम का आयोजन किया गया। मौलाना समीउल्लाह कासमी व मौलवी अयूब ने संयुक्त रूप से यह आयोजन किया। बारह रबी अव्वल व बारह वफात के इस दिन का इस्लामिक शरियत में खास महत्व है। पैगम्बर हजरत मोहम्मद साहब को खेराज़् ए अकीदत पेश करने वालों में मदरसा इस्लामिया मंझरिया के सदर कामरान अजीज, वकील अहमद सचिव, इमरान अजीज व हेड मौलवी अयूब अंसारी के साथ मास्टर जाकिर, कारी साहब व तलबा मौजूद रहे। सभी ने मोहम्मद साहब के आदर्शों को अंगीकार करने के लिए प्रेरित किया।

अहिंसा और आपसी प्रेम का दिया था संदेश

बेतिया|सत्याग्रह रिसर्च फाउंडेशन के सभागार में हजरत मोहम्मद का जन्म दिवस मनाया गया। जन्म दिवस पर अधिवक्ता डॉ. एजाज अहमद ने कहा कि सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के आदर्शों एवं मूल्यों से ही विश्व में स्थाई शांति हो सकती है। उन्होंने कहा कि अरबी माह के पवित्र महीने रबी अव्वल में हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम का जन्म हुआ था। उनका सारा जीवन समाज के लिए समर्पित रहा। समाज में व्याप्त कुरीतियों को समाप्त करते हुए हजरत मोहम्मद साहब ने विश्व में अहिंसा एवं आपसी प्रेम का संदेश दिया था।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना