मसान नदी का जलस्तर बढ़ा, पुल का पाया दबा, खतरा

Bettiah Bagha News - रामनगर में बीते चार दिनों लगातार हो रहे बारिश के बाद मसान नदी के किनारे बसे आसपास के लोगों में डर का माहौल बन गया...

Jul 14, 2019, 08:55 AM IST
रामनगर में बीते चार दिनों लगातार हो रहे बारिश के बाद मसान नदी के किनारे बसे आसपास के लोगों में डर का माहौल बन गया है। प्रखंड की जोगिया पंचायत के शेरहवा बहुअरी गांव के समीप मसान नदी का जलस्तर बढ़ने लगा है। इससे शेरहवा से महुई गांव में आने जाने वाले लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ गया है। हालांकि इस गांव मसान नदी के पुल का पाया दबने के कारण वैसे ही बड़ी वाहनों पर रोक लगा दी है। मसान नदी में जलस्तर बढ़ने से हर वर्ष आसपास के गांव पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगता है। हालांकि इस बावत सीओ विनोद कुमार मिश्र ने बताया कि अभी स्थिति सामान्य है। उन्होंने बताया कि राजस्व कर्मचारी को निगरानी रखने के लिए निर्देश दिए गए हैं। इस बारिश के बाद नगर के थाना रोड में मुख्य सड़क पर नाली जाम होने से पानी बहने लगा जिसके बाद वार्ड नं 9 के पार्षद प्रतिनिधि राकेश गुप्ता ने अहले सुबह नगर पंचायत के सफाई कर्मियों के साथ ब्रह्मम स्थान के समीप से लेकर छठ घाट के समीप तक सफाई कराया। नगर में वार्ड नं 16,17 समेत अधिकतर वार्ड में इस बारिश के बाद कीचड़ होने से नगरवासियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

इधर, बगहा में बारिश की वजह से नहीं लगा केसीसी कैंप | बगहा एक प्रखंड कृषि कार्यालय में किसानो के सुविधा को देखते हुए विभागीय निर्देश के आलोक मे शनिवार को केसीसी कैम्प लगाकर सभी को ऋण देने का कार्य करना था। कृषि कार्यालय पूर्णतः बन्द मिला। दुरदराज से कुछ आए किसान छोटिल यादव, रामाशंकर यादव, रोहित राम, याकुब मिया ने बताया कि केसीसी कैम्प की सूचना पाकर जब प्रखंड स्थित कृषि कार्यालय आए है लेकिन कृषि कार्यालय बंद है। एक भी कर्मी दिखाई नहीं दे रहे है। कृषि पदाधिकारी ने बताया कि कृषि कार्यालय में जलजमाव हो गया है। एक भी बैक कर्मी नहीं पहुचे है जिसके कारण कैंप नहीं लगाया गया है।

अलर्ट : वार्ड नं 16, 17 समेत अधिकतर वार्ड में इस बारिश के बाद कीचड़ होने से नगरवासियों को परेशानियों का करना पड़ रहा है सामना

रामनगर शेरहवा बहुअरी गांव के समीप मसान नदी का जलस्तर बढ़ा। मझौवा गांव में ग्रामीणों के सहयोग से जल निकासी कराते बीडीओ।

भारी बारिश से स्कूल परिसर में भरा पानी, बच्चों का पठन-पाठन हो रहा बाधित

मधुबनी | एक सप्ताह से लगातार हो रहे झमाझम बारिश के कारण गंडक पार के मधुबनी प्रखंड के राजकीय प्राथमिक विद्यालय धनहा बालक के विद्यालय परिसर में बारिश का पानी जम गया है। जिससे बच्चों को विद्यालय भवन में जाने के लिए दो फिट पानी पार कर जाना पड़ रहा है। शुक्रवार को विद्यालय में पठन-पाठन करने के लिए बच्चे तो पहुंचे लेकिन लगातार हो रही बारिश के कारण बच्चे एवं विद्यालय के शिक्षक काफी परेशान रहे। बच्चों को विद्यालय परिसर में जमें पानी को पार कराने में शिक्षक जुटे रहे। इस दौरान विद्यालय के प्रधानाध्यापक केशव प्रसाद ने बताया कि विद्यालय परिसर की चारदीवारी व मिट्टी भराई का कार्य कराने के लिए विभाग को अनेकों बार अवगत कराया जा चुका है। लेकिन विभाग आज तक विद्यालय परिसर में मिटी भराई कार्य कराने का आश्वासन देता रहा है। विद्यालय परिसर में पानी जमा हो जाने के कारण बच्चों के पठन-पाठन सहित विद्यालय में पहुंचने के लिए काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। छोटे-छोटे बच्चे विद्यालय के क्लास रूम में जाने के लिए विद्यालय परिसर में जमें दो फीट पानी को पार करना पड़ रहा है। इस दौरान विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों ने बताया कि एकसप्ताह से हो रहे बारिश के कारण विद्यालय परिसर में पानी भर गया है। जिससे पठन-पाठन पूरी तरह से बाधित है। अगर विद्यालय परिसर में मिट्टी भराई का कार्य एवं चारदीवारी का कार्य नहीं कराया गया तो पूरे बरसात पठन-पाठन बाधित होता रहेगा ।

भारी बारिश से स्कूल में छात्रों की संख्या नगण्य

मैनाटांड़ | प्रखंड क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश से प्रखंड के सरकारी व गैर सरकारी विद्यालयों में छात्र-छात्राओं की संख्या नगण्य रही। प्रखंड के खमिहा, इनरवा भंगहा, बास्ठा रामपुर आदि जगहों के विद्यालयों में बारिश से बच्चे विद्यालय नहीं पहुंच सके। वही शिक्षक विद्यालय पहुंचकर छात्र का इंतजार करते रहे ।बारिश के कारण अभिभावकों में भय का माहौल है। जिससे अभिभावक बच्चों को विद्यालय अभी नहीं भेज रहे हैं।

यूपी-बिहार की सीमा बासी पुल

बारिश के कारण स्कूल परिसर में जमा पानी।

यूपी-बिहार की सीमा बासी पुल के पास ध्वस्त एप्रोच पथ का हुआ मरम्मत, आवागमन शुरू

मधुबनी | मधुबनी प्रखंड से सटे यूपी-बिहार की सीमा पर शुक्रवार को ध्वस्त हुए एप्रोच पथ को आनन- फानन में ठीक करा लिया गया। जिसके बाद बड़ी गाड़ियों का परिचालन शुरू हो गया। पांच दिनों से हो रहे भारी वर्षा के कारण यूपी बिहार को जोड़ने वाला बासी पुल के पास एप्रोच पथ का कुछ हिस्सा शुक्रवार को ध्वस्त हो गया था। इससे बड़ी गाड़ियों का परिचालन पूरी तरह से बंद हो गया था। ग्रामीणों द्वारा इसकी सूचना प्रखंड मुख्यालय को दी गई। प्रखंड मुख्यालय से इसकी सूचना पुल निर्माण निगम विभाग एवं अनुमण्डल कार्यालय को दिया गया। पुल निर्माण निगम विभाग के पदाधिकारियो द्वारा तुरंत संज्ञान लेते हुए ध्वस्थ पथ का मरम्मत कार्य किया गया। जिसके बाद बड़ी गाड़ियों का परिचालन शुरू हो गया। हालांकि शुक्रवार व शनिवार को बड़ी गाड़ियों का परिचालन पूरे दिन ठप रहा। जिससे बड़ी गाड़ियों की लंबी कतार लग गई थी। बीडीओ विनय कुमार सिंह ने बताया कि पथ ध्वस्त होने की सूचना मिलते ही डीएम, एसडीएम व पुल निर्माण निगम विभाग को दे दी गई। जिसकी असर हुई एवं इस मुख्य मार्ग से आवागमन चालू हो गया।

मझौवा गांव में बीडीओ ने कराई ग्रामीणों के सहयोग से जल निकासी

चौतरवा | बगहा एक प्रखंड के बीडीओ शशिभूषण सुमन ने विभिन्न पंचायतों का भ्रमण कर जलनिकासी कराया। इस क्रम में मझौआ पंचायत के बाबू परसौनी समेत कई गावों मे हुई बारिश की पानी की निकासी कराकर लोगों की आने जाने मे सहयता किया ताकि लोगों को किसी प्रकार की आवागमन में परेशानी नहीं हो सके। मझौआ पंचायत के बाबू परसौनी गांव में पंचायत के मुखिया श्रीकिशुन बैठा समेत समाजसेवियों ने हाथों में कुदाल लेकर मुख्य सड़क में हुई जलजमाव के मीटी काटकर जल निकासी कराने मे सहयोग प्रदान किया। उन्होंने बताया कि जल निकासी के क्रम में पुलिस पदाधिकारी के साथ ही समाजसेवी लालबाबु यादव, प्रमोद यादव, छोटेलाल बैठा, युनूस मियां, गम्हा साह, चान्दसी साह, सूर्य साह, मेहदी मियां समेत दर्जनों की संख्या में ग्रामीण शामिल थे। एक सप्ताह से हो रही लगातार बारिश से विभिन्न गावों में बाढ़ जैसी हालात उत्पन्न हो गई जिसको लेकर प्रशासनिक पहल शुरू हो गई।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना