नदियां लाल निशान के पार, मधुबनी में टूटा तटबंध

Bettiah Bagha News - सिटी रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर /मधुबनी नेपाल के तराई क्षेत्राें अाैर उत्तर बिहार में जारी बारिश से कमला, बागमती,...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 09:30 AM IST
Valmiki Nagar News - rivers cross the red mark broken embankment in madhubani
सिटी रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर /मधुबनी

नेपाल के तराई क्षेत्राें अाैर उत्तर बिहार में जारी बारिश से कमला, बागमती, गंडक, बूढ़ी गंडक अाैर काेसी नदियां उफान पर हैं। कमला के जलस्तर में भारी वृद्धि से मधुबनी के जयनगर में स्थिति भयावह हाे गई है। यहां कमला का तटबंध टूट गया। इसके कारण जयनगर बाजार की 90 प्रतिशत दुकानों में बाढ़ का पानी भर गया है। आधे शहर को प्रशासन ने खाली करा लिया है। वहीं, लालबकेया व बागमती नदी के पश्चिमी तटबंध पर कई जगहों पर पानी का अत्यधिक दबाव बना हुआ है।

शनिवार की सुबह से ही सपही, झिटकाही, महम्मदपुर व खोड़ीपाकड़ सहित कई जगहों पर बांध से मोटा रिसाव होने लगा। उधर, बागमती कटाैंझा में अाधा मीटर की वृद्धि के साथ लाल निशान से 2.67 मीटर ऊपर बह रही है। इस कारण अाैराई व कटरा प्रखंड में दहशत है। कटरा प्रखंड के एक दर्जन गांवाें में पानी घुस जाने से लाेग पलायन कर रहे हैं। कमला बलान और भूतही नदी भी अपना रौद्र रूप दिखा रही है। वाल्मीकिनगर बराज से गंडक में 1.89 लाख क्यूसेक पानी छाेड़े जाने से गंडक नदी के जलस्तर में 30 सेंटीमीटर की वृद्धि हुई है। बूढ़ी गंडक नदी के जलस्तर में सिकंदरपुर में 35 सेंटीमीटर की वृद्धि हुई है।

कमला ब्रिज के ऊपर से 3 फीट पानी बह रहा है। यह पुल 1957 में बना था। इस पर 1987 के बाद फिर पानी चढ़ा है। पुल से आवागमन बंद है। पानी के दबाव से कभी भी ढह सकता है। -फोटो|सुनील कुमार

कमला ब्रिज पर 32 साल में पहली बार चढ़ा पानी

कोसी बराज से 3.71 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा, वीरपुर में 56 में से 37 फाटक खोले गए

सुपौल : कोसी नदी का जलस्तर इस साल के सर्वाधिक स्तर पर है। निर्मली अनुमंडल में पांच हजार परिवारों के घरों में पानी घुस गया है। करीब 40 हजार लोग प्रभावित हैं।

अररिया : परमान, बकरा, नूना, भलुआ नदियां खतरे के निशान से ऊपर है। सिकटी और कुर्साकांटा का संपर्क टूट गया है। दो दिनों में डूबने से पांच की मौत हो गई है।

बागमती में जलस्तर बढ़ने से बकुची विद्युत सब-स्टेशन में पानी घुस गया है।

ट्रेनें बाधित : बाढ़ व वर्षा के कारण साेनपुर व समस्तीपुर रेल मंडल से गुजरने वाली कई ट्रेनाें का परिचालन बाधित है। मुजफ्फरपुर-सीतामढ़ी, सीतामढ़ी-रक्साैल, मुजफ्फरपुर-सुगाैली रेलखंड पर पटरी धंसने की वजह से ट्रेनाें का परिचालन प्रभावित है।

पूर्णिया-कटिहार: परमान, कनकई, महानंदा में बाढ़ से अमौर और बायसी के 20 हजार लोग घर छोड़ ऊंचे स्थानों पर गए। कटिहार में सैकड़ों एकड़ जमीन गंगा में विलीन।

X
Valmiki Nagar News - rivers cross the red mark broken embankment in madhubani
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना