जनजाति गौरव दिवस का हुआ आयोजन, सांस्कृतिक कार्यक्रम में देखते बनी बच्चों की कलात्मक दक्षता

Bettiah Bagha News - सिटी रिपोर्टर|बगहा / हरनाटांड़ वनवासी कल्याण आश्रम के तत्वावधान में बगहा- 2 प्रखंड के कुनई लक्ष्मीपुर गांव के खेल...

Nov 11, 2019, 06:26 AM IST
सिटी रिपोर्टर|बगहा / हरनाटांड़

वनवासी कल्याण आश्रम के तत्वावधान में बगहा- 2 प्रखंड के कुनई लक्ष्मीपुर गांव के खेल मैदान में जनजाति गौरव दिवस का आयोजन उत्साहपूर्ण माहौल में किया गया। इस जनजाति बहुल इलाके में भगवान बिरसा मुंडा के जयंती सप्ताह के अवसर पर हुए आयोजन के दौरान बच्चों ने सांस्कृतिक प्रस्तुति देकर लोगों को मुग्ध कर दिया। वहीं, खेलकूद प्रतियोगिता का भी आयोजन हुअा। कार्यक्रम का उद्घाटन वनवासी कल्याण आश्रम के शिक्षा प्रभाग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ब्रजमोहन मंडल व भारतीय थारू कल्याण महासंघ की केंद्रीय समिति के अध्यक्ष दीपनारायण प्रसाद समेत हेमराज पटवारी, डॉ. शारदा प्रसाद, संजय प्रसाद, वंशराज प्रसाद, पशुपति प्रसाद, ज्ञानेश्वर महतो, प्रमोद ठाकुर, विनोद उरांव आदि ने सामूहिक रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया। अध्यक्षता दीपनारायण प्रसाद ने की। संचालन प्रमोद उरांव व विनोद उरांव ने संयुक्त रूप से किया।

पुरुष वर्ग की कबड्डी प्रतियोगिता में दरूआबारी टीम तीन पॉइंट से जीती

जनजाति गौरव दिवस के आयोजन में बच्चियों की सांस्कृतिक प्रस्तुति।

दौड़ में राहुल कुमार को प्रथम, अभय कुमार को द्वितीय अाैर आलोक कुमार को तृतीय स्थान मिला

बैरिया कला गांव के बाल कलाकारों ने इस अवसर पर गीत, संगीत व नृत्य के कई मनोहारी कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। इन बच्चों की कलात्मक दक्षता देखकर लोग मुग्ध होते रहे। कलाकारों ने जमकर वाहवाही लूटी। वहीं, 20 वर्ष से 25 वर्ष तक के प्रतिभागियों की दौड़ प्रतियोगिता में राहुल कुमार को प्रथम, अभय कुमार को द्वितीय अाैर आलोक कुमार को तृतीय स्थान मिला। 10 से 14 वर्ष तक की दौड़ प्रतियोगिता में नीतीश उरांव को प्रथम, कमलेश कुमार को द्वितीय अाैर देवेंद्र कुमार को तृतीय घोषित किया गया। पुरुष वर्ग की कबड्डी प्रतियोगिता के दौरान दरूआबारी व बकवा चंदरौल की टीमों के बीच मुकाबला हुआ जिसमें दरूआबारी टीम ने तीन प्वाइंट से जीत हासिल की। बच्चियों की कबड्डी प्रतियोगिता गोबरहिया दोन व चंपापुर के बीच हुई जिसमें गोबरहिया दोन की टीम दो प्वाइंट से विजयी रही। इस अवसर पर राजकुमार महतो, दीपेंद्र साह, भोलेनाथ महतो, नीतीश सिंह, रामरूप प्रसाद, मनोहर पटवारी, राजेश्वर महतो, रामेश्वर महतो, गुमास्ता सुदामा उरांव, कमल प्रसाद समेत बड़ी संख्या में स्थानीय लोग, बुद्धिजीवी व सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ता थे।

भगवान बिरसा मुंडा को श्रद्धा सुमन अर्पित करते अतिथि।

शैक्षिक उत्थान से ही संवरेगी थरूहट की सूरत

उद्घाटन सत्र के दौरान मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित वनवासी कल्याण आश्रम के शिक्षा प्रभाग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ब्रजमोहन मंडल ने कहा कि भगवान बिरसा मुंडा ऐसे दीप स्तंभ हैं जो हमें देश व समाज के उत्थान के लिए सदैव संघर्ष करने की प्रेरणा देते हैं। थरूहट इलाके को बदहाली से उबारने के लिए शैक्षिक उत्थान सबसे जरूरी है। थारू कल्याण महासंघ की केंद्रीय समिति के अध्यक्ष दीपनारायण प्रसाद ने कहा कि थरूहट क्षेत्र में आज तक एक भी अंगीभूत कॉलेज नहीं है। इससे बच्चों को ऊंची शिक्षा ग्रहण करने में काफी परेशानी होती है। वनवासी कल्याण आश्रम ने जनजाति समुदायों के उत्थान के लिए सतत प्रयास किया है। इस क्षेत्र में शैक्षिक संस्थानों की स्थापना व उन्नयन में आश्रम के माध्यम से सहयोग की अपेक्षा है। थारू कल्याण महासंघ इस दिशा में तत्पर है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना