भागलपुर / मायागंज और सदर अस्पताल में 138 की जांच, दो को किया भर्ती

138 examined in Mayaganj and Sadar hospital, two admitted
X
138 examined in Mayaganj and Sadar hospital, two admitted

  • तीन संदिग्धों के सैंपल जांच के लिए भेजने के बाद 14 दिनों के लिए उन्हें होम क्वारेंटाइन में भेजा गया
  • मुंगेर में कोरोना मरीज की मौत के बाद उसके संपर्क में आए 55 के लिए सैंपल

दैनिक भास्कर

Mar 25, 2020, 10:50 AM IST

भागलपुर. मेडिकल कॉलेज अस्पताल (मायागंज) के आइसोलेशन वार्ड में मंगलवार को 88 लोग सर्दी-खांसी, बुखार का इलाज करवाने पहुंचे। सभी की जांच में दो कोरोना संदिग्ध होने की आशंका पर भर्ती किए गए। इसमें एक युवक खरीक व दूसरा भागलपुर का रहने वाला है। इसी के साथ आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीजों की संख्या बढ़कर 4 हो गई। 

इस बीच पहले से भर्ती तीन संदिग्धों के सैंपल जांच के लिए भेजने के बाद 14 दिनों के लिए उन्हें होम क्वारेंटाइन में भेजा गया। उन्हें किसी से न मिलने-जुलने की हिदायत भी दी गई। एक कमरे में बंद रहने को कहा गया। डॉ. राजीव सिन्हा और डॉ. यू फारूख ने सभी मरीजों की जांच के बाद बताया, अधिकांश लोग सर्दी-खांसी, बुखार की शिकायत लेकर आए थे। इनमें कई ने विदेश और देश के उन राज्यों की यात्रा की थी, जहां कोरोना पॉजिटिव केस मिले। दो भर्ती युवक भागलपुर के ही हैं। वे बाहर नहीं गए थे।

मुंगेर में कोरोना मरीज की मौत के बाद उसके संपर्क में आए 55 के लिए सैंपल
मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 55 लोगों के सैंपल लिए गए। मुंगेर में कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत के बाद उक्त सभी उसके संपर्क में आए थे। मेडिकल टीम मुंगेर के चुरंबा इलाके के पॉजिटिव मरीज की मौत के बाद इलाके में गई थी। यहां कोरोना की चेन बनने की आशंका पर स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने संदिग्धों के सैंपल लेने के निर्देश दिए थे। 

सैंपल लेने के बाद टीम पटना चली गई है, जहां लैब में जांच होगी। नोडल पदाधिकारी डॉ हेमशंकर शर्मा के अनुसार पटना स्थित लैब में सैंपल देने के बाद रात में ही टीम वापस आ जाएगी। मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती पांच संदिग्धों के भी सैंपल लिए गए। रिपोर्ट आने के बाद ही डॉक्टरों की सलाह पर भर्ती मरीजों पर फैसला होगा।

जर्मनी से लौटे युवक की हुई जांच, नहीं मिला कोई लक्षण
जर्मनी से लौटे एक युवक ने मेडिकल कॉलेज अस्पताल में जांच करवाई। उसमें कोरोना संबंधी लक्षण नहीं मिले। डॉक्टरों ने उसे रिजर्व रहने को कहा और घर भेज दिया है। ट्रैफिक डीएसपी ने भी कोलकाता और दिल्ली से लौटे दो युवकों को अस्पताल भेजा, हालांकि अभी तक यह साफ नहीं है कि उनमें कोरोना के लक्षण हैं या नहीं। जांच के बाद डॉक्टरों ने उन्हें आइसोलेट रहने को कहा है।

सदर अस्पताल में 50 की जांच, 12 होम क्वारेंटाइन
सदर अस्पताल के फ्लू कॉर्नर में मंगलवार को 50 लोगों की जांच की गई। जिसमें 12 को कोरोना की आशंका पर होम क्वारेंटाइन की सलाह दी गई। रेलवे के भी कुछ कर्मचारी जांच कराने पहुंचे, जो विदेश यात्रा से लौटे थे। उनमें किसी तरह के लक्षण कोरोना के नहीं दिखे। इस बीच सर्दी-खांसी के मरीजों की जांच के दौरान ही इंफ्रारेड मशीन खराब हो गई, लेकिन तत्काल दूसरी मशीन मंगवाकर जांच की गई।

सर्दी-खांसी से ग्रसित मरीजों के इलाज के लिए अब इमरजेंसी में भी अलग से फ्लू कॉर्नर चालू हो जाएगा। इसकी तैयारी कर रहे हैं, अनावश्यक भीड़ कम करने की कोशिश हो रही है।- डॉ. आरसी मंडल, अधीक्षक, जेएलएनएमसीएच

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना