कोरोना और स्वाइन फ्लू के बाद अब बर्ड फ्लू की भी पुष्टि, लॉकडाउन मेंे तीनों से बचाव

Bhagalpur News - आफत आती है तो कई विपत्तियां साथ लाती है। मौजूदा माहौल बिल्कुल ऐसा ही है। कोरोना महामारी के साथ ही स्वाइन फ्लू की...

Mar 27, 2020, 06:40 AM IST
Bhagalpur News - after corona and swine flu now also confirmed bird flu rescue from three in lockdown

आफत आती है तो कई विपत्तियां साथ लाती है। मौजूदा माहौल बिल्कुल ऐसा ही है। कोरोना महामारी के साथ ही स्वाइन फ्लू की चपेट में 11 लोग आ चुके हैं और अब बर्ड फ्लू की भी पुष्टि हो गई है। गनीमत है कि लॉकडाउन है। आम दिन होता तो स्थिति और भयावह होती क्योंकि तीन-तीन घातक बीमारियों ने एक साथ संक्रामक रूप अपनाया है। लोगों के घरों में रहने का फायदा है कि इनका फैलाव थमा हुआ है। स्वाइन फ्लू कोरोना से भी घातक है। रही बात बर्ड फ्लू की तो पटना के अशोकनगर और नालंदा के कतरीसराय में मुर्गियों में में बर्ड फ्लू की पॉजिटिव रिपोर्ट मिलने के बाद अब इन दोनों स्थानों के आसपास के एक किलोमीटर के दायरे में के सभी मुर्गे-मुर्गियों के साथ बत्तख की कलिंग होगी। उन्हें मिट्टी में दफनाया जाएगा। विशेषज्ञ पशु चिकित्सक सुरक्षित तरीके से मुर्गियों को मार कर 5 से 6 फीट गड्ढे में दफनाएंगे। इसे ब्लीचिंग पाउडर, चूना और सोडियम हाइपो क्लोराइट के डालकर ढकेंगे। साथ ही पूरे एरिया को सेनेटाइज करेंगे। दूसरे जिलों में बर्ड फ्लू पसरा है कि नहीं, लॉकडाउन के कारण मुर्गी फार्म से जांच के लिए सीरम सैंपल कलेक्ट कर आरडीडीएल कोलकाता और एनआईएचएसएडी भोपाल नहीं जा पा रहा है। पशु व मत्स्य संसाधन मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने कहा है कि जहां बर्ड फ्लू मामले प्रकाश में आए हैं वहां मुर्गी व बत्तख पालकों को मुआवजा देकर कलिंग होगी। प्रति वयस्क मुर्गी व बत्तख के लिए 90 से 130 रुपए तक मुआवजा दिया जाएगा।

अस्पताल पहुंचने से पहले ही चमकी बुखार से बच्चे की मौत

मुजफ्फरपुर | शिवहर से एसकेएमसीएच रेफर चमकी बुखार से पीड़ित बच्चे ने गुरुवार को रास्ते में ही एंबुलेंस में दम तोड़ दिया। मौत के सही कारणों का पता लगाने के लिए शव का पोस्टमार्टम के बाद विसरा सुरक्षित रख लिया गया।

डॉक्टर ने बताया कि रिपोर्ट आने के बाद सही कारण का पता चल सकेगा। बच्चा मोतिहारी के पकड़ीदयाल थाना क्षेत्र के फुलवार गांव के मनीष कुमार सिंह का बेटा अभिनव कुमार (4 वर्ष) था। फिलहाल वह अपने नाना के घर शिवहर जिले के लालगढ़ में रहता था। नाना बृज किशोर सिंह ने मेडिकल पुलिस को बयान दर्ज कराया है। उन्होंने पुलिस को बताया कि बुधवार की रात 8 बजे अभिनव को 103 डिग्री बुखार था। देर रात उसने तीन उल्टी की। उसे कुछ दवा दी गई। कोरोना वायरस के कहर को लेकर रात में शिवहर अस्पताल ले जाने की कोई व्यवस्था नहीं हो सकी। गुरुवार सुबह किसी तरह सदर अस्पताल लेकर पहुंचे। शिवहर के डॉक्टर हालत गंभीर बताते हुए एसकेएमसीएच रेफर कर दिए। कांटी के पास एंबुलेंस से पहुंचने के दौरान बच्चे ने दम तोड़ दिया। एसकेएमसीएच पहुंचने पर डाॅक्टर ने भी बच्चे को मृत घोषित कर दिया। उधर, स्वास्थ्य मंत्री के पर्सनल सेक्रेटरी ने अधीक्षक से बीमारी के बारे में जानकारी ली है।

सतर्कता के साथ सुरक्षा भी

अब तक कोरोना के 1456 संदिग्ध सर्विलांस पर हैं। 162 यात्रियों ने 14 दिनों की अवधि पूरी कर ली है। विभाग ने 7 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव होने की बात स्वीकार किया हैं। इनमें से 3 मुंगेर व 4 पटना के हैं। 1 की मौत हो चुकी है। जबकि तीन लोगों के नमूने को रिजेक्ट कर दिया गया है।

गोपालगंज 215

मुजफ्फरपुर 173

भागलपुर 109

सीवान 159

पटना 100

मधुबनी 94

समस्तीपुर 88

नालंदा 88

प.चंपारण 74

पूर्वी चंपारण 70

गया 66

रोहतास 57

सारण 57

भोजपुर 32

दरभंगा 28

जहानाबाद 19

किशनगंज 19

मुंगेर 18

कैमूर 12

नवादा 09

मधेपुरा 09

सीतामढ़ी 07

बेगूसराय 07

वैशाली 06

सहरसा 05

बक्सर 04

बांका 04

सुपौल 03

कटिहार 03

अररिया 02

शिवहर 02

पूर्णिया 01

अरवल 01

लखीसराय 01

पटना की सड़क पर छाती तान मौज में टहलते बत्तखों का यह झुंड आपस में जरूर यही बतियाया होगा। आश्चर्य और तलाश के इकट्ठे मनोभाव को जीते हुए। आश्चर्य, इंसान के सड़क से अचानक लापता हो जाने का और तलाश भी इंसान की ही। दरअसल, इंसान ने अपनी खातिर पूरी धरती को छेंकने की कोशिश में इन पक्षियों का हक मार लिया। जब लॉकडाउन ने आदमी को उसके दरबों (घरों) में कैद कर दिया, तो ये पक्षी सड़क पर झूमकर निकले। फोटो : जितेंद्र

X
Bhagalpur News - after corona and swine flu now also confirmed bird flu rescue from three in lockdown

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना