जैसे-जैसे बढ़ेगा पारा, होगी कटौती, 33 केवीए की नई लाइन जेल तक पहुंची, मिलेगी राहत

Bhagalpur News - सूरज के तेवर बढ़ते ही शहर में बिजली की आंखमिचौली शुरू हो गई है। पारा 38 डिग्री या इससे ऊपर पहुंचते ही बिजली संकट शुरू...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 06:51 AM IST
Bhagalpur News - as the mercury will increase cut the new line of 33 kva will reach the jail get relief
सूरज के तेवर बढ़ते ही शहर में बिजली की आंखमिचौली शुरू हो गई है। पारा 38 डिग्री या इससे ऊपर पहुंचते ही बिजली संकट शुरू हाे जाता है। शहरवासियों को राहत देने के लिए इंटीग्रेटेड पावर डेवलपमेंट स्कीम के तहत सरकार ने बिजली कंपनी को 220 करोड़ दे दिया है, लेकिन इस गर्मी इस पैसे से शहरवासियों को राहत नहीं मिलेगी। उन्हें सूरज के बढ़ते पारे के साथ ही बिजली कटौती का दंश झेलना होगा। हालांकि बिजली कंपनी का दावा है कि इस गर्मी शहर को थोड़ी राहत देने की कवायद चल रही है, लेकिन गर्मी तेज होने पर बिजली के पुराने तारों को बचाना जरूरी है। इसलिए कटौती होगी। लोड कम कर पूरे शहर में बिजली बहाल की जाती रहेगी। कंपनी का यह भी दावा है कि अगली गर्मी में शहर को ऐसा संकट नहीं झेलना होगा।

बिजली कंपनी का दावा-220 करोड़ की लागत से चल रहा है काम, पूरी राहत अगली गर्मी तक

ओवरलोड के कारण काेतवाली चौक पर जलता ट्रांसफार्मर।

क्यों हो रही है कटौती और कब तक मिलेगी राहत, बिजली कंपनी की तैयारियों से जानिए

इसलिए हो रही कटौती : सबौर पावर ग्रिड से रोजाना करीब 100 मेगावाट बिजली सप्लाई हो रही है। पिछले साल जहां 80 मेगावाट फुल लोड बिजली सप्लाई हो रही थी।, इस बार 20 मेगावाट तक जरूरतें बढ़ी तो बिजली कंपनी ने 100 मेगावाट बिजली सप्लाई शुरू कर दी। सबौर से पावर सब-स्टेशनों तक फुल लोड बिजली पहुंचना मुश्किल हो रहा है। इसलिए बिजली कटौती कर पुराने फीडर व तारों को राहत दिया जा रहा है।

पावर सब-स्टेशनों तक जाने वाली लाइनों में बढ़े फॉल्ट

पांच दिनों से बिजली की अघोषित कटौती शुरू हो गई है। इन दिनों मौसम के तीखे तेवर से पारा 38 से 40 डिग्री तक पहुंचा तो सबौर पावर ग्रिड से पावर सब-स्टेशनों तक पहुंचने वाली हाईटेंशन लाइन में फॉल्ट बढ़ गए। बिजली कंपनी ने लोड कम करना शुरू कर दिया। इससे रोजाना दिन में करीब 3 घंटे तो रात में 2 घंटे तक की कटौती शुरू हो गई है। इस कटौती ने शहरवासियों की परेशानी बढ़ा दी है। सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे के बीच हो रही कटौती ने गर्मी में उन्हें बेहाल कर दिया है। शुक्रवार सुबह 9 बजे तिलकामांझी, बरारी, लालबाग, सुरखीकल, आदमपुर और खलीफाबाग क्षेत्र में बिजली कटी तो घंटेभर आई। इसके बाद सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे के बीच डेढ़ घंटे के लिए बत्ती गुल हो गई। गुरुवार रात 11 बजे से 3 बजे तक दो घंटे तक अलग-अलग समय में बिजली गुल हो गई।

33 केवीए तार बदले, लेकिन अटका पेेच : बिजली कंपनी ने सबौर पावर ग्रिड से पावर सब स्टेशनों तक पहुंचने वाले जर्जर हाईटेंशन लाइन को बदलने की शुरुआत की। सेंट्रल जेल तक नई लाइन भी डाल दी। लेकिन गोपालपुर रेलवे ओवरब्रिज के पास वन विभाग और रेलवे की अनुमति न मिलने से पावर सब-स्टेशनों तक तार ही नहीं पहुंचा।

6 पावर सब-स्टेशन में दो ही बने : इंटीग्रेटेड पावर डेवलपमेंट स्कीम के तहत शहर में 6 नए पावर सब-स्टेशन भी बनने हैं। 20 मेगावाट क्षमता वाले इन सब-स्टेशनों में महज दो स्टेशन बन सके। भीखनपुर और इंजीनियरिंग कॉलेज के पास दोनों पावर सब-स्टेशन बनकर तैयार हैं, लेकिन बाकी चार के लिए जगह भी चिह्नित नहीं हुई। ऐसा न होने से शहर में बिजली का लोड बांटा नहीं जा सका, नतीजा, तारों के गर्म होते ही फॉल्ट हो रहे हैं।

सीधी बात

श्रीराम सिंह, सुपरीटेंडिंग इंजीनियर, बिजली कंपनी


- गर्मी बढ़ते ही तारों में फॉल्ट हो रहे हैं। इसे रोकने के लिए तारों का लोड कम किया जा रहा है, इसलिए कटौती हो रही है।


- हमने 33केवीए की लाइन जेल तक पहुंचाई है। रेलवे की अनुमति के बाद बाकी काम पूरा होगा। यह चालू हो जाएगा। इस गर्मी इससे शहर को थोड़ी राहत मिलेगी।


- इस गर्मी बड़ी राहत तो नहीं मिलेगी। हम 220 करोड़ के प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं। 33केवीए के बाद 11 हजार वोल्ट के तार बदले जाएंगे। अगली गर्मी में ऐसी परेशानी नहीं होगी।

X
Bhagalpur News - as the mercury will increase cut the new line of 33 kva will reach the jail get relief
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना