तफ्तीश / मुखिया चुनाव की रंजिश और पिता की हत्या का बदला लेने को बुचन पर हुआ था हमला



एफएसएल की टीम नमूना लेते हुए। एफएसएल की टीम नमूना लेते हुए।
X
एफएसएल की टीम नमूना लेते हुए।एफएसएल की टीम नमूना लेते हुए।

  • एफएसएल टीम ने 13 पैकेटों में नमूना लिया और 6 घंटे तक बारीकी से जांच की

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 10:34 AM IST

पूर्णिया.  बीकोठी के मोजमपट्टी गांव के सरस्वती पूजा के जागरण के दौरान हुई गोलीबारी और बमबारी मामले में पुलिस ने घटना के कारणों का पता लगा लिया है। 2016 में हुए पंचायत चुनाव की रंजिश और अपने पिता की हत्या का बदला लेने के लिए 11 फरवरी की रात जागरण का उद्‌घाटन कर लौट रहे कुख्यात बुचन यादव पर जानलेवा हमला हुआ था। उधर, एफएसएल टीम ने 13 पैकेटों में नमूना लिया और 6 घंटे तक जांच की।

 

धमदाहा एसडीपीओ प्रेमसागर ने बताया कि बुचन यादव की पत्नी नीलम देवी और अखिलेश यादव की पत्नी गौरीपुर पंचायत से मुखिया का चुनाव लड़ रही थी। चुनाव में गौरीपुर पंचायत की मुखिया नीलम देवी चुनी गई। चुनाव के दौरान ही बुचन यादव और अखिलेश यादव के लोगों के बीच कई बार झड़पें भी हुईं। इसके बाद दोनों के बीच आपसी रंजिश चलती रही। इस बीच बालो यादव हत्याकांड मामले में बुचन यादव जमानत पर रिहा हो गया। 

बताया जाता है कि पांच नवम्बर 2009 को मोजमपट्‌टी के ही बालो यादव की हत्या हुई थी, जिसमें बुचन यादव अप्राथमिक अभियुक्त था। इसके बाद बालो के बेटे भूषण यादव भी अपने पिता की हत्या का बदला लेने में जुट गया। 2016 में जेल से बाहर निकलने के बाद फिर बुचन यादव की सक्रियता इलाके में बढ़ने लगी, जो अखिलेश यादव और भूषण यादव को खटकने लगी। इसके बाद इन दोनों ने अपने अन्य सहयोगियों के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया है। डीएसपी ने बताया कि पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

 

नौ जगहों पर गिरे हुए खून से नमूने किए कलेक्ट
एफएसएल भागलपुर की टीम के सहायक निदेशक एके त्रिवेदी व उनके साथ छह सदस्यीय टीम ने घटनास्थल पर पहुंचकर नौ जगहों से जमीन पर गिरे खून का नमूना लिया। इसके बाद स्कार्पियो के अंदर तौलिया में लगे खून और स्कार्पियो के अंदर जमे खून के धब्बों का भी नमूना लिया गया। टीम के सदस्यों ने तीन ऐसे जगहों से भी नमूना प्राप्त किया, जहां बमबारी हुई थी। इसके बाद टीम गोली लगने से जिस जगह सुनीता देवी की मौत हुई थी, वहां भी जाकर खून के धब्बों का नमूना इकठ्ठा किया। भागलपुर के सहायक निदेशक एके त्रिवेदी की टीम ने करीब 13 पैकेटों में नमूना कलेक्ट किया। धमदाहा अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी प्रेम सागर ने बताया कि सभी नमूने लिए गए हैं। वहीं, टीम के सदस्य एके त्रिवेदी ने बताया कि जल्द ही जांच रिपोर्ट पूर्णिया भेज दी जाएगी।

 

मेरे खिलाफ केस राजनीतिक साजिश : दिलीप
मेरे खिलाफ राजनीतिक साजिश के तहत केस दर्ज कराया गया है। मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। मैं पार्लियामेंट चुनाव लड़ने वाला था। मुझे कानून पर पूरा भरोसा है। इसमें दूध का दूध और पानी का पानी होना चाहिए। मैंने पिछले आठ साल से उस इलाके में इंट्री नहीं की है।

 

एफएसएल की टीम नमूना लेते हुए

पूर्व विधायक दिलीप समेत 13 नामजद 20- 25 अज्ञात पर केस दर्ज
बमबारी मामले में बुचन यादव के बेटे सौरभ साहिल ने पूर्व विधायक दिलीप यादव समेत 13 नामजद व 20- 25 अज्ञात पर केस दर्ज कराया है। पुलिस को दिए आवेदन में साहिल सौरभ ने लिखा है कि गौरीपुर पंचायत के पूर्व मुखिया ब्रजकिशोर यादव उर्फ बुच्चन यादव अपने सभी अंगरक्षक और परिवार के लोगों के साथ विशेष आमंत्रण पर कार्यक्रम का उदघाटन करने आया था।

 

फीता काटकर कार्यक्रम का उद्‌घाटन करने के बाद अपने घर आने के क्रम में मंच से चंद दूरी पर बुचन यादव पर धमदाहा के पूर्व विधायक दिलीप यादव के निर्देश पर एक दर्जन से अधिक हथियारबंद अपराधियों द्वारा अंधाधुध फायरिंग की गई। इस दौरान अपराधी तीन बम और फायरिंग करते हुए भाग रहे थे कि उसी क्रम में पूर्व विधायक दिलीप यादव ने कहा कि जल्दी चलो, इस बुचन यादव का पूरा परिवार खत्म हो गया है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार सभी चर्चित चेहरे थे, जिसकी निगरानी में घटना को अंजाम दिया गया।

COMMENT