बिल्डिंग तैयार, सीएस नहीं ले रहे हैंडओवर, दिव्यांगों के इलाज को नहीं खुला विंग

Bhagalpur News - जिला व प्रखंड अस्पतालाें में मूक-बधिर व दिव्यांग बच्चाें व मरीजाें की पहचान हाेने के बाद मेडिकल काॅलेज अस्पताल के...

Oct 15, 2019, 08:41 AM IST
जिला व प्रखंड अस्पतालाें में मूक-बधिर व दिव्यांग बच्चाें व मरीजाें की पहचान हाेने के बाद मेडिकल काॅलेज अस्पताल के स्पेशल विंग में भर्ती कर इलाज करने की याेजना कागजाें से ऊपर नहीं अा पा रही है।

स्थिति यह है कि मेडिकल काॅलेज अस्पताल के शिशु विभाग के पिछले हिस्से में बिल्डिंग छह महीने से बनकर तैयार है। लेकिन, सिविल सर्जन के स्तर से अबतक इसमें किसी तरह की पहल ही नहीं की जा रही है। जबकि, सीएस पहल कर दें ताे एेसे मरीजाें का प्राॅपर इलाज व परिजनाें काे सुविधाएं उपलब्ध कराई जा सकती है।

हाेना यह है

प्रखंडाें व जिला अस्पताल में दिव्यांग एवं मूक-बधिर बच्चाें के प्राॅपर इलाज के लिए सरकार ने एक स्पेशल विंग बनाया। इसके तहत जेएलएनएमसीएच में बिल्डिंग तैयार हुई। बिहार सर्विस मेडिकल काॅरपाेरेशन ने बिल्डिंग तैयार कर दिया है। अब सीएस काे बिल्डिंग हैंडअाेवर लेना है। इसके बाद मरीजाें की जांच हाे सकेगी। मरीजाें काे रेफर करने के बाद स्पेशल विंग से अलग टीम मरीजाें का इलाज करेगी।

हुअा यह

अब तक जेएलएनएमसीएच अधीक्षक डाॅ. अारसी मंडल ने बिल्डिंग का जायजा लिया। अपने कर्मियाें काे निर्देश दिया कि सीएस काे सूचना देकर बिल्डिंग हैंडअाेवर कराएं। लेकिन अबतक कुछ हुअा नहीं, अब लिखित ताैर पर प्रबंधन सीएस काे पत्र देकर हैंडअाेवर लेने काे कहेंगे।

शिशु विभाग के पीछे दिव्यांगाें के इलाज के लिए बना बिल्डिंग।

अभी ऐसे हाे रहा इलाज

अस्पतालाें में दिव्यांग मरीजाें के अाने पर प्रखंडाें व जिला अस्पताल से रेफर हाेकर मायागंज अाते हैं। यहां अपने स्तर से अलग-अलग विभागाें में जांच कराने के बाद मरीजाें का इलाज यहां के डाॅक्टर करते हैं। दिव्यांगाें के सर्टिफिकेट सीएस के यहां मेडिकल बाेर्ड के बाद जारी किए जाते हैं।

विभाग से मांगेंगे निर्देश


सीएस को लिखेंगे पत्र


X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना